1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत में आम जनता के लिए अप्रैल-2021 तक उपलब्‍ध होगा COVID-19 vaccine, SBI चेयरमैन ने किया दावा

भारत में आम जनता के लिए अप्रैल-2021 तक उपलब्‍ध होगा COVID-19 vaccine, SBI चेयरमैन ने किया दावा

COVID-19 vaccine ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका सहित तमाम फार्मा कंपनियों के ट्रायल अपने अंतिम चरण में हैं।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 27, 2020 8:35 IST
effective COVID-19 vaccine for general public in India to be available by Apr 2021- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

effective COVID-19 vaccine for general public in India to be available by Apr 2021

नई दिल्‍ली। देश के सबसे बड़े सार्वजनिक बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक के चेयरमैन दिनेश कुमार खारा ने गुरुवार को कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि कोविड-19 से बचने के लिए एक प्रभावाी वैक्‍सीन अगले साल अप्रैल तक आम जनता के लिए उपलब्‍ध हो सकता है। खारा ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि भारत में आम जनता के लिए अप्रैल-2021 तक प्रभावी कोविड-19 वैक्‍सीन उपलब्‍ध हो सकती है।  

फॉरेन एक्‍सचेंज डीलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के वार्षिक कार्यक्रम में बोलते हुए खारा ने सलाह देते हुए कहा कि व्‍यवसायों के लिए केवल विवेकपूर्ण बात यह सुनिश्चित करना है कि वे अस्थिरता को संभालने के लिए तैयार हैं।

उन्‍होंने कहा कि केंद्र और राज्‍य दोनों सरकारों द्वारा वैक्‍सीन डिस्‍ट्रीब्‍यूशन को सुनिश्चित करने के लिए तमाम योजनाओं पर काम किया जा रहा है। ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्‍ट्राजेनेका सहित तमाम फार्मा कंपनियों के ट्रायल अपने अंतिम चरण में हैं।

ऑक्‍सफोर्ड वैक्‍सीन का निर्माण सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) में किया जा रहा है, ताकि जैसे ही नियामक द्वारा इसे मंजूरी मिलती है तो इसे बड़ी संख्‍या में लोगों को उपलब्‍ध कराया जा सके। उल्‍लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शनिवार को पुणे स्थित सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया का दौरा कर वहां निर्माणाधीन वैक्‍सीन की प्रगति देखने जा रहे हैं।

सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया ने गुरुवार को कहा था कि एस्‍ट्राजेनेका और ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित की गई कोविड-19 वैक्‍सीन सुरक्षित और प्रभावी है और इसका भारतीय ट्रायल सभी प्रोटोकॉल के तहत तेजी से आगे बढ़ रहा है।

खारा ने कहा कि कोविड-19 के प्रसार से भारतीय रुपये को बहुत अधिक फायदा हुआ है, विशेषकर मार्च 2020 में आए अवमूल्‍यन के बाद। उतार-चढ़ाव को रोकने के लिए इस दौरान भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किए गए प्रयासों की भी खारा ने खूब सराहना की। उन्‍होंने कहा कि अगर आरबीआई समय पर कदम नहीं उठाता तो भारतीय फॉरेक्‍स बाजार में हमें बड़ी उथलपुथल देखने को मिलती।  

Write a comment
X