1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. गूगल के दबाव की वजह से भारत में वैध कैशबैक स्कीम को वापस लिया गया: Paytm

गूगल के दबाव की वजह से भारत में वैध कैशबैक स्कीम को वापस लिया गया: Paytm

पेटीएम के मुताबिक उन्होने कोई भी नियम नहीं तोड़ा है, और गूगल पे ऐसी ही क्रिकेट स्कीम चला रही है। पेटीएम ने आरोप लगाया कि प्ले स्टोर से हटाने के पहले उन्हें अपना पक्ष रखने का भी मौका नहीं मिला

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: September 20, 2020 19:56 IST
पेटीएम - India TV Paisa
Photo:GOOGLE

पेटीएम 

नई दिल्ली। डिजिटल भुगतान कंपनी पेटीएम ने रविवार को कहा कि उस पर गूगल के प्ले स्टोर के नियमों की वजह से यूपीआई कैशबैक स्कीम को वापस लेने का दबाव बना। पेटीएम के मुताबिक ये कैश बैक स्कीम भारत में कानूनी है। कंपनी ने एक ब्लॉग के जरिए गूगल पर आरोप लगाया है कि उसके कैंपेन को दबाव बनाकर हटाया गया है जबकि गूगल पे इसी तरह के क्रिकेट आधारित स्कीम चला रही है।

गूगल ने पेटीएम को प्ले स्टोर से 18 सितंबर को ये कहते हुए हटा दिया था कि उसकी ये स्कीम गूगल प्ले स्टोर के नियमों के खिलाफ है। नियमों के मुताबिक प्लेटफॉर्म पर ऐसे एप को अनुमति नहीं है जो यूजर को सट्टेबाजी के अवसर देते हैं। हालांकि कुछ घंटों में पेटीएम द्वारा अपनी कैश बैक स्कीम को वापस लेने के बाद पेटीएम एप को एक बाऱ फिर से गूगल प्ले स्टोर में जगह मिल गई। घरेलू वित्तीय सेवा फर्म पेटीएम ने कहा कि उसे प्ले स्टोर पर वापस लिस्ट होने के लिए गूगल के नियमों के अनुसार यूपीआई कैश बैक और स्क्रैच कार्ड योजना को वापस लेने को लिए मजबूर किया गया। पेटीएम ने कहा कि भारत में कैशबैक और स्क्रैच कार्ड ऑफर करना वैध है और वो सरकार द्वारा निर्धारित सभी नियमों और कानूनों का पालन करते हुए कैशबैक दे रहे है। पेटीएम ने आरोप लगाया कि गूगल का ये कदम कृत्रिम तरीके से गूगल की मार्केट में स्थिति मजबूत करने के लिए था। गूगल की तरफ से इस बारे में कोई जवाब नहीं मिला है।  

पेटीएम ने साथ ही लिखा कि शायद उसकी कैशबैक स्कीम गूगल की प्ले स्टोर पॉलिसी का उल्लंघन नहीं करती । हालांकि गूगल के अपने एप के लिए दूसरे नियम लागू होते हैं। कंपनी ने कहा कि एप को हटाने से पहले उसे एक बार भी अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया। कंपनी ने साफ कहा कि वो गूगल के आरोपों को खारिज करते हैं और वो पूरी तरह से नियमों के मुताबिक ही काम कर रहे हैं।      

Write a comment
X