1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. Mutual Fund में निवेश को लेकर दीवानगी बढ़ी, छोटे निवेशकों ने किया 28 हजार करोड़ का इन्वेस्टमेंट

Mutual Fund में निवेश को लेकर दीवानगी बढ़ी, छोटे निवेशकों ने किया 28 हजार करोड़ का इन्वेस्टमेंट

इक्विटी म्यूचुअल फंड में मार्च महीने में शुद्ध रूप से 28,463 करोड़ रुपये का निवेश आया।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Published on: April 08, 2022 16:37 IST
Mutual funds- India TV Paisa
Photo:FILE

Mutual funds

Highlights

  • इक्विटी योजनाओं में शुद्ध रूप से निवेश मार्च, 2021 से ही बढ़ रहा है
  • इन योजनाओं से जुलाई, 2020 से लेकर फरवरी, 2021 तक पैसे निकाले गये थे
  • परंपरागत निवेश माध्यम पर ब्याज घटने और महंगाई बढ़ने से ज्यादा रिटर्न की चाह बढ़ी

नई दिल्ली। इक्विटी म्यूचुअल फंड को लेकर निवेशकों में आकर्षण बना हुआ है। शेयर बाजार में उतार-चढ़ाव और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) की बिकवाली के बीच इक्विटी म्यूचुअल फंड में मार्च महीने में शुद्ध रूप से 28,463 करोड़ रुपये का निवेश आया। यह लगातार 13वां महीना है जब शुद्ध प्रवाह बढ़ा है। उद्योग संगठन एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) के शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, फरवरी में इक्विटी म्यूचुअल फंड में शुद्ध रूप से 19,705 करोड़ रुपये लगाये गये थे जबकि जनवरी में यह आंकड़ा 14,888 करोड़ रुपये और दिसंबर, 2021 में 25,077 करोड़ रुपये था। 

शेयरों से जुड़ी योजना में निवेश बढ़ा 

इक्विटी यानी शेयर में निवेश से जुड़ी योजनाओं में शुद्ध रूप से निवेश मार्च, 2021 से ही बढ़ रहा है। यह निवेशकों के बीच ऐसी योजनाओं को लेकर सकारात्मक धारणा को बताता है। इससे पहले, इन योजनाओं से जुलाई, 2020 से लेकर फरवरी, 2021 तक लगातार पैसे निकाले गये थे। आंकड़ों के अनुसार, वहीं बांड और प्रतिभूतियों के मामले में पिछले महीने शुद्ध रूप से 1.15 लाख करोड़ रुपये निकाले गये। जबकि फरवरी में इसमें शुद्ध रूप से 8,274 करोड़ रुपये लगाये गये थे। कुल मिलाकर, म्यूचुअल फंड उद्योग से मार्च महीने में शुद्ध रूप से 69,883 करोड़ रुपये निकाले गये, जबकि इससे पिछले महीने में 31,533 करोड़ रुपये लगाये गये थे। निकासी की वजह से उद्योग की प्रबंधन अधीन परिसंपत्तियां मार्च के अंत में घटकर 37.7 लाख करोड़ रुपये रहीं, जो फरवरी के अंत में 38.56 लाख करोड़ रुपये थीं। 

क्यों बढ़ रहा निवेश 

आर्थिक जानकारों का कहना है कि परंपरागत निवेश माध्यम पर ब्याज घटने और महंगाई बढ़ने से निवेशकों को ज्यादा रिटर्न की चाह बढ़ी है। इसके चलते वो शेयर बाजार से लेकर म्यूचुअल फंड का रुख कर रहे हैं। इसके चलते इन माध्यमों में निवेश बढ़ रहा है। इसके साथ निवेशकों में जागरुकता बढ़ाना भी एक वजह है। छोटे शहरों और गांवों के लोग अब म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहे हैं। इसके चलते निवेश बढ़ा है। 

Write a comment