Navratri 2022: माता रानी के नाम पर रखा गया है इन बड़े शहरों का नाम, यहां देखें लिस्ट

नवरात्र के दिनों में दुर्गा मां के नौं अलग-अलग स्वरूपों की उपासना की जाती है। देवी के कुल 51 शक्तिपीठ मंदिर है। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, मां सती के शरीर के अलग-अलग अंग जिन जगहों पर गिरे वहां एक शक्तिपीठ की स्थापना हुई।

Vineeta Mandal Written By: Vineeta Mandal
Updated on: September 29, 2022 11:35 IST
Navratri 2022, Shaktipeeth- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK नवरात्रि 2022

Highlights

  • देवी के कुल 51 शक्तिपीठ मंदिर है।
  • सती के शरीर के अलग-अलग अंग जिन जगहों पर गिरे वहां एक शक्तिपीठ की स्थापना हुई।
  • मैंगलोर शहर का नाम मां मंगला देवी के नाम पर रखा गया है।

Shardiya Navratri 2022 Maa Durga Famous Temple: देश में इन दिनों शारदीय नवरात्रि का पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। हर देवी में मंदिर में माता रानी की जयकारे लगाए जा रहे हैं। मां भगवती को प्रसन्न करने के लिए भक्तगण विशेष पूजा और प्रार्थना कर रहे हैं। कहते हैं नवरात्रि के दिनों में माता दुर्गा देवलोक से प्रथ्वी पर आती हैं। इस दौरान जो भी भक्त सच्चे दिल से देवी मां की पूजा अर्चना करता है उसकी हर मनोकामना पूर्ण होती है। नवरात्र के दिनों में दुर्गा मां के नौं अलग-अलग स्वरूपों की उपासना की जाती है। वहीं आपको बता दें कि इन पावन दिनों में जो भी कि भक्त शक्तिपीठ मंदिरों में जाकर माथा टेकता है उसकी माता रानी हर मुराद पूरी करती हैं। देवी के कुल 51 शक्तिपीठ मंदिर है। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक, मां सती के शरीर के अलग-अलग अंग जिन जगहों पर गिरे वहां एक शक्तिपीठ की स्थापना हुई। नवरात्रि के पावन पर्व के मौके पर आज हम आपको उन शहरों के नाम बताएंगे जो माता दुर्गा के नामों पर रखा गया है।

ये भी पढ़ें: October Festival List 2022 : जानिए कब है दिवाली, दशहरा, धनतेरस, करवा चौथ? एक क्लिक में देखें अक्टूबर के सारे त्योहार

नैनीताल (नैना देवी)

खूबसूरत झील, ताल और पहाड़ों से घिरा उत्तराखंड का शहर नैनीताल एक सुकून वाली जगह है। यहां पर हमेशा पर्यटकों की भीड़ होती है। नैना देवी के नाम पर इस शहर का नाम नैनीताल पड़ा है। मान्यताओं के मुताबिक, यहां मां सती की आंख गिरी थी। 

त्रिपुरा (त्रिपुर सुंदरी)

माता त्रिपुरा सुंदरी के नाम पर इस शहर का नामकरण त्रिपुरा किया गया है। अगरतला से करीब 55 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक पहाड़ पर मां त्रिपुरा सुंदरी का मंदिर स्थापित है। 

श्रीनगर (श्रीनगर देवी )

कश्मीर के इस खूबसूरत का नाम श्रीनगर देवी दुर्गा के नाम पर रखा गया है। यह शहर मां लक्ष्मी का घर माना जाता है। यहां शारिका देवी मंदिर स्थित है, जहां स्वयंभू श्री चक्र के रूप में माता लक्ष्मी विराजमान हैं।

और पढ़ें: Shardiya Navratri 2022: क्या है 51 शक्तिपीठों की कथा, माता के इन मंदिरों में दर्शन मात्र से पूरी होती है हर मुराद

दिल्ली (योगमाया मंदिर)

आपको बता दें कि दिल्ली के एक हिस्से को योगिनीपुर के नाम से भी जाना जाता था। दरअसल, महरौली क्षेत्र में स्थित योगमाया मंदिर होने के कारण इसे योगिनीपुर नाम से पुकारा जाने लगा था। कहा जाता है कि यह मंदिर 5 हजार साल से भी ज्यादा प्राचीन है।

मैंगलोर (मंगला देवी मंदिर) 

मैंगलोर शहर का नाम मां मंगला देवी के नाम पर रखा गया है। मंगला देवी मंदिर को अलुपा राजवंश के राजा कुंदवर्मन ने बनवाया था।

पटना (पाटन देवी) 

बिहार की राजधानी पटना का नाम शक्तिपीठ मंदिर के नाम पर रखा गया है। पटना में देवी सती का दाहिना जांघ गिरा था। इसलिए यह स्थान शक्तिपीठ कहलाया। पटना में देवी पाटन शक्तिपीठ स्थित है।

और पढ़ें: Vastu Tips: इस दिशा में पूजा पाठ और जाप करने से मां लक्ष्मी होती हैं नाराज, जानें सही दिशा

चंडीगढ़ (चंडी देवी)

देवी दुर्गा के चंडी स्वरूप के नाम इस शहर का नाम चंडीगढ़ पड़ा। यहां स्थित मां चंडी मंदिर में भक्तों की भीड़ लगी रहती है। इस मंदिर का धार्मिक महत्व काफी अधिक है।

मुंबई (मुंबा देवी) 

मुंबई का नाम मुंबा देवी का नाम पर रखा  गया है। मुंबा देवी मंदिर जावेरी बाजार में स्थित है। जो लोग भी मुंबई जाते हैं वो सिद्धिविनायक मंदिर के साथ ही मुंबा देवी के दर्शन भी जरूर करते हैं।

दुर्गापुर, पश्चिम बंगाल (देवी दुर्गा)

बंगाल में स्थित दुर्गापुर शहर का नाम देवी के नाम पर पड़ा है। बता दें कि बंगाल में दुर्गा पूजा काफी धूमधाम से मनाया जा रहा है।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। INDIA TV इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Festivals News in Hindi के लिए क्लिक करें धर्म सेक्‍शन