Thursday, July 25, 2024
Advertisement

राजस्थान का यह इलाका बना नया 'जामताड़ा', साइबर ठगों ने खाली किए कई लोगों के खाते, आप भी न करें ये गलती

साइबर फ्रॉड और ऑनलाइन ठगी के लिए झारखंड का जामताड़ा शहर मशहूर है। हालांकि, अब देश के कई और राज्यों में नए 'जामताड़ा' बन गए हैं। राजस्थान का एक ऐसा ही इलाका इन दिनों चर्चा में है। इंडिया टीवी और राजस्थान पुलिस की इस मुहिम में हजारों करोड़ रुपये के साइबर फ्रॉड का पता चला है।

Written By: Harshit Harsh @HarshitKHarsh
Updated on: June 19, 2024 20:50 IST
Online Fraud- India TV Hindi
Image Source : FILE Online Fraud

आए दिन साइबर फ्रॉड, ऑनलाइन स्कैम, डिजिटल अरेस्ट जैसे कई मामले सामने आ रहे हैं। झारखंड का जामताड़ा साइबर ठगों के लिए जाना जाता है, जिस पर एक वेब सीरीज भी बनी है। वहीं, अब देश के कई राज्यों में नए 'जामताड़ा' देखने को मिल रहे हैं। इनमें नया नाम हरियाणा के नूंह और राजस्थान का मेवात इलाका है। यहां साइबर क्रिमिनल्स की गैंग है, जो आए दिन लोगों को लूट रहे हैं। पिछले दिनों राजस्थान पुलिस ने मेवात इलाके में 'ऑपरेशन एंटी वायरस' चलाया है, जिसमें इंडिया टीवी की टीम भी उनके साथ थी।

राजस्थान का 'जामताड़ा'

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस इलाके में रहने वाले ठगों ने एक साल में 7 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम साइबर क्राइम के जरिए ठगी है। वहीं, इस साल भी अब तक साढ़े 7 लाख साइबर फ्रॉड की शिकायतें पुलिस को मिल चुकी हैं। मेवात में चलाए गए इस ऑपरेशन में कई और चौंकाने वाली जानकारियां सामने आई हैं। इस इलाके के कई गावों के घरों में कॉल सेंटर खुल गए हैं, जिनका काम लोगों को कॉल करना और उनसे ठगी करना है। साइबर अपराधी यहां युवाओं को ठगी वाले कॉल करने के लिए सैलरी पर रखते हैं।

यहां काम करने वाले लड़के-लड़कियां रोजाना सैकड़ों लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं और उनसे पैसे लूटते हैं। ये साइबर क्रिमिनल्स लोगों को इन्वेस्टमेंट का लालच देकर, KYC अपडेट, सैक्सटॉर्शन, डिजिटल अरेस्ट आदि के जरिए अपनी जाल में फंसाते हैं और फिर उनसे साइबर ठगी की जाती है। राजस्थान के इस नए 'जामताड़ा' में रोजाना 500 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। पुलिस ने इस रीजन में ऑपरेशन एंटी वायरस के तहत साइबर क्राइम के 150 से ज्यादा FIR दर्ज किए हैं और 400 से ज्यादा ठगों को अरेस्ट किया है। इंडिया टीवी और राजस्थान पुलिस की इस मुहिम का असर अब दिखने लगा है।

साइबर फ्रॉड से कैसे बचें?

साइबर फ्रॉड से बचने का सबसे सही तरीका सतर्कता है। अगर, आप सतर्क हैं, तो आपके साथ साइबर फ्रॉड होने की संभावना बेहद कम है।

  • किसी भी अनजान नंबर से आने वाले कॉल, मैसेज आदि को इग्नोर करें।
  • किसी प्राइज मनी, गिफ्ट आदि के लालच में न पड़ें और अपनी निजी जानकारियां किसी के साथ शेयर न करें।
  • मैसेज या फिर वाट्सऐप के जरिए अनजान नंबरों से आने वाले लिंक पर गलती से भी क्लिक न करें।
  • अपना बैंक नंबर, आधार नंबर, पासवर्ड और OTP जैसी जानकारियां किसी के साथ शेयर न करें।
  • ऐसे किसी भी नंबर से आने वाले कॉल को आप केन्द्र सरकार के Chakshu पोर्टल पर रिपोर्ट करें।

 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें टेक सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement