1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. तिब्बती युवाओं को PLA में शामिल कर रहा चीन, परिवार से एक सदस्य का सेना में होना अनिवार्य

तिब्बती युवाओं को PLA में शामिल कर रहा चीन, परिवार से एक सदस्य का सेना में होना अनिवार्य

चीन ने युवा तिब्बतियों को पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) और स्थानीय मिलिशिया में भर्ती करने के प्रयासों को तेज कर दिया है। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 22, 2021 8:51 IST
 तिब्बती युवाओं को PLA में शामिल कर रहा चीन, परिवार से एक सदस्य का सेना में होना अनिवार्य- India TV Hindi
Image Source : FILE  तिब्बती युवाओं को PLA में शामिल कर रहा चीन, परिवार से एक सदस्य का सेना में होना अनिवार्य

नई दिल्ली: चीन ने युवा तिब्बतियों को पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) और स्थानीय मिलिशिया में भर्ती करने के प्रयासों को तेज कर दिया है। चीन युवा तिब्बतियों को पीएलए में शामिल होने के लिए कई तरह के प्रलोभन दे रहा है। इसके साथ-साथ उनसे बॉर्डर इलाके में गाइड के रूप में काम कराने के प्रयासों को और तेज कर दिया है। चीन ने भारत के साथ लगती अपनी सीमा पर  सैन्य स्थिति को मजबूत करने और एयरबेस को अपग्रेड करने का काम जारी रखे हुए है।

भारतीय सुरक्षा अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि नई  खुफिया रिपोर्टों से यह भी पता चलता है कि चीन ने तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के नगारी प्रान्त जैसे कुछ क्षेत्रों में प्रत्येक तिब्बती परिवार से कम से कम एक युवा को पीएलए में भर्ती के लिए "अनिवार्य" बना दिया है। भारत और चीन के बीच कोर कमांडर-स्तरीय वार्ता के 12वें दौर से पहले ही चीन ने लद्दाख से अरुणाचल प्रदेश तक फैले सभी क्षेत्रों में तिब्बतियों की भर्ती और पीएलए की गतिविधियां बढ़ानी शुरू कर दी है।

पीएलए ने इस साल टीएआर में सैन्य अकादमी में प्रवेश के लिए विभिन्न विश्वविद्यालयों से 17 से 20 आयु वर्ग के 70 से अधिक तिब्बती छात्रों की भी भर्ती की है। एक अधिकारी ने कहा, 'यह सीमावर्ती गांवों के तिब्बती निवासियों को भी शामिल कर रहा है, जिन्हें एलएसी का अच्छा भौगोलिक ज्ञान है, ताकि वे अपने गश्त दलों के साथ गाइड के रूप में काम कर सकें।'

भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को ये जानकारी मिली है कि चीन, तिब्बत स्वायत क्षेत्र से स्थानीय युवाओं को अपनी सेना में बहला-फुसला कर भर्ती करने की कोशिशों में लगा हुए है। क्योंकि लद्दाख की भौगोलिक स्थिति में भारतीय सेना से मुकाबले के लिए पीएलए को उनकी बहुत ज्यादा जरूरत है। पिछले साल भारत की स्पेशल फ्ंटियर फोर्स ने पीएलए को पैंगोंग त्सो इलाके में जो सबक सिखाई थी उस सदमे से चीन अभी तक उबर नहीं पाया है। इसलिए भारतीय सेना से मुकाबला करने के लिए अब उसने तिब्बतियों की भर्ती शुरू कर दी है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020  कवरेज
X