1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा, 17 दिन में 'स्कैंडिनेवियाई देश' नहीं बन सकता अफगानिस्तान

पाकिस्तान के गृह मंत्री ने कहा, 17 दिन में 'स्कैंडिनेवियाई देश' नहीं बन सकता अफगानिस्तान

पिछले हफ्ते भी रशीद ने कहा था कि दुनिया के लिए यह उम्मीद करना अनुचित होगा कि अफगानिस्तान 8 दिनों में कुछ स्कैंडिनेवियाई देशों की तरह समृद्ध हो जाएगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: September 18, 2021 20:13 IST
Sheikh Rasheed, Sheikh Rasheed Afghanistan, Afghanistan, Afghanistan Scandinavian Country- India TV Hindi
Image Source : AP FILE पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद ने कहा है कि कम समय में अफगानिस्तान के ‘स्कैंडिनेवियाई देश’ बनने की उम्मीद करना संभव नहीं है।

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख रशीद ने कहा है कि कम समय में अफगानिस्तान के ‘स्कैंडिनेवियाई देश’ बनने की उम्मीद करना संभव नहीं है क्योंकि काबुल अपनी गति से आगे बढ़ रहा है। साथ ही रशीद ने कहा कि पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अफगानिस्तान को मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए अपील की है क्योंकि वह नहीं चाहता कि कोई वहां भूख से मर जाए। रशीद ने कहा कि अफगानिस्तान में अंतरिम सरकार के गठन के अभी सिर्फ 17 दिन बीते हैं।

‘पाकिस्तान पड़ोसी देश में शांति चाहता है जहां अब तालिबान का शासन है’

‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ अखबार की शनिवार को एक खबर के अनुसार रशीद ने इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पाकिस्तान उस पड़ोसी देश में शांति चाहता है जहां अब तालिबान का शासन है। उन्होंने कहा कि तालिबान द्वारा अंतरिम अफगान सरकार के गठन के केवल अभी 17 दिन बीते हैं। रशीद ने कहा, ‘यह संभव नहीं है कि अफगानिस्तान इतने कम समय में स्कैंडिनेवियाई देश बन जाए।’ ‘द न्यूज इंटरनेशनल’ ने गृह मंत्री के हवाले से कहा कि अगर कोई चाहता है कि अफगानिस्तान एक स्कैंडिनेवियाई देश में बदल जाए, तो वे गलती कर रहे हैं, क्योंकि काबुल अपनी गति से आगे बढ़ रहा है।

‘पाकिस्तान नहीं चाहता कि अफगानिस्तान में कोई भूख से मरे’
बता दें कि नॉर्वे, स्वीडन और डेनमार्क 3 स्कैंडिनेवियाई देश हैं। तीनों देश अपने उच्च स्तर की समानता, कम बेरोजगारी और आधुनिक सामाजिक सेवा प्रणालियों के लिए जाने जाते हैं। मानवीय मुद्दों के संबंध में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अफगानिस्तान को मानवीय सहायता प्रदान करने का अनुरोध किया है क्योंकि वह नहीं चाहता कि युद्ध से तबाह देश में कोई भूख से मरे। गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब रशीद ने अफगानिस्तान की तुलना स्कैंडिनेवियाई देशों से की है। पिछले हफ्ते भी उन्होंने कहा था कि दुनिया के लिए यह उम्मीद करना अनुचित होगा कि अफगानिस्तान 8 दिनों में कुछ स्कैंडिनेवियाई देशों की तरह समृद्ध हो जाएगा।

Click Mania
bigg boss 15