1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. सिनेमा
  4. बॉलीवुड
  5. 'बधाई हो' अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का 75 की उम्र में हार्ट अटैक से हुआ निधन

'बधाई हो' अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का 75 की उम्र में हार्ट अटैक से हुआ निधन

सुरेखा सीकरी, आयुष्मान खुराना की फिल्म 'बधाई हो' में नज़र आई थीं। उन्होंने 'बालिका वधु' सीरियल में शानदार अभिनय निभाया था।

India TV Entertainment Desk India TV Entertainment Desk
Updated on: July 16, 2021 12:28 IST
 अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का 75 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन - India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM  अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का 75 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन 

'बालिका वधु' सहित कई टीवी सीरियल्स और 'बधाई हो' फिल्म में अपने अभिनय से लोगों का दिल जीतने वाली अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का 75 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन हो गया। साल 2020 में उन्हें दूसरी बार स्ट्रोक आया था, जिसके बाद से वो स्वास्थ्य संबंधी कई परिशानियों से जूझ रही थीं। 2018 में उन्हें पहला ब्रेन स्ट्रोक हुआ था।

सुरेखा सीकरी दूसरे ब्रेन स्ट्रोक के बाद स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझ रही थीं। जब उन्होंने आखिरी सांस ली, उस समय उनके साथ उनका परिवार मौजूद था। उनके परिवार में उनका बेटा राहुल सीकरी है।  

सुरेखा सीकरी के निधन से फैंस हुए गमगीन, कहा: आप हमेशा याद आएंगी

सुरेखा सीकरी को पिछले साल सितम्बर में ब्रेन स्ट्रोक हुआ था और वह कुछ दिन तक अस्पताल में भर्ती रही थीं। उन्होंने थिएटर, फिल्म से लेकर टेलीविजन तक सभी मंचों पर अपने शानदार अभिनय की छाप छोड़ी। उन्होंने ‘तमस’, ‘मम्मो’, ‘सलीम लंगड़े पे मत रो’, ‘ज़ुबेदा’, ‘बधाई हो’ जैसी फिल्में की और धारावाहिक ‘बालिका वधू’ में भी नजर आईं। उन्हें आखिरी बार 2020 में ‘नेटफ्लिक्स’ की फिल्म ‘घोस्ट स्टोरीज़’ में नजर आई थीं। 

दिल्ली में जन्मी अदाकारा ने अपना बचपन उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र की पहाड़ियों में गुजारा। उन्होंने उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) से अपनी स्नातक की पढ़ाई की और फिर 1968 में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) में दाखिला लिया। 1971 में एनएसडी से पढ़ाई पूरी करने के बाद, सीकरी ने थिएटर में काम करना जारी रखा और एक दशक से अधिक समय तक ‘एनएसडी रिपर्टरी कम्पनी’ से जुड़ी रहीं। वहां, उन्होंने ‘संध्या छाया’, ‘तुगलक’ और ‘आधे अधूरे’ जैसे कई मशहूर नाटक किए। 

इसके बाद सीकरी ने मुंबई को रुख किया और 1978 में ‘किस्सा कुर्सी का’ से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की। 1986 में आई फिल्म ‘तमस’ में उनकी अदाकारी के लिए उन्हें अपने करियर का पहला राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला। 1989 में उन्हें ‘संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार’ से भी सम्मानित किया गया। इसके बाद 1994 में आई फिल्म ‘मम्मो’ के लिए भी उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला। अदाकारा ने टेलीविजन पर भी अपनी अदाकरी का लौहा मनवाया उन्होंने ‘सांझा चूल्हा’, ‘कभी कभी’, ‘जस्ट मोहब्बत’, ‘सीआईडी’, ‘बनेगी अपनी बात’ जैसे कई धारावाहिक किए, लेकिन ‘बालिका वधू’ में निभाए उनके ‘दादी सा’ के किरदार को काफी लोकप्रियता मिली। इसके साथ-साथ वह लगातार फिल्में भी करती रहीं और 2018 में आई फिल्म ‘बधाई हो’ के लिए उन्हें तीसरी बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया। सीकरी ने हेमंत रेगे से शादी थी। उनके परिवार में अब उनका बेटा राहुल सीकरी है।  

इनपुट: जोइता मित्रा सुवर्णा/PTI

Click Mania
bigg boss 15