1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. साइनस और अस्थमा के मरीज दिवाली पर इन 5 टिप्स को अपनाएं जरूर, वरना बिगड़ सकती है तबीयत

साइनस और अस्थमा के मरीज दिवाली पर इन 5 टिप्स को अपनाएं जरूर, वरना बिगड़ सकती है तबीयत

अस्थमा और साइनस के मरीजों को धूल और धुएं दोनों से दिक्कत होती हैं। ये समस्या दिवाली के दौरान और भी बढ़ जाती है। इन 5 टिप्स को अपनाकर अपने आपको सुरक्षित रख सकते हैं।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: November 09, 2020 16:56 IST
Diwali Celebration - India TV Hindi
Image Source : INSTGRAM/ABHISHEK_NAIK_111 Diwali Celebration 

दिवाली हिंदुओं का सबसे बड़ा त्योहार है। दिवाली के आने से पहले लोग घर में साफ सफाई करते हैं, साथ ही पटाखे और फुलझड़ियां भी जलाते हैं। ऐसे में जिन लोगों को अपनी सेहत का सबसे ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत है वो हैं अस्थमा और साइनस के मरीज। अस्थमा और साइनस के मरीजों को धूल और धुएं दोनों से दिक्कत होती हैं। ये समस्या दिवाली के दौरान और भी बढ़ जाती है। ऐसे में अगर आप किसी अपने करीबी को जानते हैं जो इस समस्या से जूझ रहा है या फिर आप खुद इस बीमारी से पीड़ित हैं तो इन 5 टिप्स को अपनाकर अपने आपको सुरक्षित रख सकते हैं।

धूल से करें अपना बचाव 

दिवाली के दौरान लोग अपने घर की साफ सफाई करते हैं। ऐसे में जाहिर सी बात है कि घर के आसपास धूल की समस्या ज्यादा होती है। धूल साइनस और अस्थमा दोनों ही लोगों की सेहत के लिए हानिकारक होती है। ऐसे में जहां पर भी साफ सफाई हो रही हो वहां से खुद को दूर रखें। साथ ही ऐसे मास्क का इस्तेमाल करें जिससे नाक और मुंह दोनों ही कवर हो जाएं। 

दिवाली में भूलकर भी ना खाएं ये 5 चीजें, वरना और बढ़ जाएगा यूरिक एसिड

खिड़की दरवाजे रखें बंद
दिवाली में पटाखे के धुएं से भी अस्थमा और साइनस के मरीज को दिक्कत होती है। इसलिए यही बेहतर होगा कि दिवाली के समय खिड़की और दरवाजे बंद ही रखें। ऐसा करने से पटाखे का धुआं घर के अंदर प्रवेश नहीं कर सकेगा और आप सुरक्षित रहेंगे। 

ज्यादातर रहें घर के अंदर ही
दिवाली में भले ही आप पटाखे ना जलाएं लेकिन वातावरण में पटाखे का धुआं घुल जाता है। ऐसे में अस्थमा और साइनस के पेशेंट घर में ही ज्यादातर रहें। अगर किसी वजह से उन्हें घर के बाहर निकलना भी पड़ता है तो मास्क बिना लगाए ना निकलें। 

यूरिक एसिड बढ़ रहा है तो दाल समेत इन चीजों से कर लें तौबा, खुद ब खुद हो जाएगा कंट्रोल

अपने साथ रखें दवाई और इन्हेलर
साइनस और अस्थमा के मरीज जब भी दिवाली में घर से बाहर निकलें तो अपने साथ दवाई और इन्हेलर लेकर ही निकलें। ऐसा इसलिए क्योंकि हो सकता है कि धुएं और धूल से एलर्जी की वजह से उन्हें अचानक सांस लेने में तकलीफ होने लगे। अगर उनके पास दवाई या फिर इन्हेलर रहेगा तो वो अपने आप को किसी भी अनहोनी से बचा सकते हैं। 

खानपान का रखें ध्यान
त्योहार के समय घर में तरह तरह के पकवान बनना तो लाजमी हैं। ऐसे में अस्थमा और साइनस के मरीज अपने खानपान में बिल्कुल भी बदपरहेजी ना करें। ज्यादा तली भुनी और ठंडी चीजों के सेवन से बचें। ऐसा ना होने पर गला खराब हो सकता है जिसके आप बीमार भी पड़ सकते हैं। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। साइनस और अस्थमा के मरीज दिवाली पर इन 5 टिप्स को अपनाएं जरूर, वरना बिगड़ सकती है तबीयत News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन
Write a comment