1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. हाई बीपी के मरीजों को कोरोना का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानिए हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने का कारगर उपचार

हाई बीपी के मरीजों को कोरोना का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानिए हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने का कारगर उपचार

एक रिपोर्ट के अनुसार हर साल हाई बीपी से 15 लाख लोगों की मौत हो जाती है। आपको बता दें कि हर चौथा शख्स हाइपरटेंशन का शिकार माना जाता है।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: April 25, 2021 6:56 IST
हाई बीपी के मरीजों को कोरोना का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानिए हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने का कारग- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV हाई बीपी के मरीजों को कोरोना का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानिए हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने का कारगर उपचार

अक्सर लोग लो ब्लड प्रेशर को सीरियसली नहीं लेते। लेकिन आपको बता दें कि बढ़ता हुआ ब्लड प्रेशर ब्रेन स्ट्रोक, हार्ट डिजीज, किडनी फेल या फिर डायबिटीज  होने का कारण बन जाता है। हमारा नॉर्मल ब्लड प्रेशर- 120/80 से कम होना चाहिए। लेकिन अचानक ब्लड प्रेशर बढ़ा जाए तो इसे हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर माना जाता है। 

एक रिपोर्ट के अनुसार हर साल हाई बीपी से 15 लाख लोगों की मौत हो जाती है। आपको बता दें कि हर चौथा शख्स हाइपरटेंशन का शिकार माना जाता है।   इतना ही नहीं हाई बीपी के लोग तेजी से कोरोना वायरस का शिकार होते है।  कोरोना से करीब 50 प्रतिशत हाई बीपी के मरीज शिकार होते है। स्वामी रामदेव के हाई बीपी को यौगिक उपायों के द्नारा कंट्रोल करने के साथ-साथ क्योर भी किया जा सकता है। 

कोरोना से जंग में बॉडी बनाएं फौलादी, स्वामी रामदेव से जानिए फिट रहने का बेस्ट फॉर्मूला

हाई बीपी के लक्षण

  1. सिर भारी होना
  2. नींद न आना
  3. चिड़चिड़ापन
  4. बार-बार सिरदर्द
  5. मानसिक तनाव
  6. सांस लेने में परेशानी
  7. नसों में झनझानहट
  8. बात-बात पर गुस्सा

बीपी बढ़ने का कारण

  1. पित्त बढ़ने से
  2. जेनेटिक कारण
  3. किडनी संबंधी बीमारी
  4.  थायराइड
  5. मोटापा
  6. खून गाढ़ा होने से
  7. अधिक गुस्सा आने
  8. कोलेस्ट्राल बढ़ने से

हाई बीपी के लिए योगासन

सूर्य नमस्कार

  1. फेफड़ों को अधिक मात्रा में  ऑक्सीजन पहुंचाए
  2. पूरे शरीर को रखें हेल्दी
  3. इम्यूनिटी मजबूत करने में करें मदद
  4. शरीर को रखें ऊर्जा से भरपूर
  5. तनाव, डिप्रेशन से दिलाए छुटकारा
  6. एनर्जी लेवल को बढ़ाए
  7. शरीर को डिटॉक्स करता है। 
  8. पाचन तंत्र को रखें बेहतर

Mouth Ulcer: मुंह के छालों को ठीक करने के लिए अपनाएं ये आयुर्वेदिक उपाय, जल्द मिलेगी राहत

पवनमुक्तासन

  1. अस्थमा, साइनस में फायदेमंद है। 
  2. किडनी को स्वस्थ रखता है। 
  3. ब्लड प्रेशर कंट्रोल करता है।
  4. पेट की चर्बी को दूर करता है। 
  5. मोटापा कम करने में कारगर है। 

उष्ट्रासन

Image Source : INDIA TV
उष्ट्रासन

उष्ट्रासन

  1. किडनी को स्वस्थ बनाता है
  2. मोटापा दूर करने में सहायक
  3. शरीर का पोश्चर सुधरता है
  4. पाचन प्रणाली को ठीक होती है
  5. टखने के दर्द को दूर भगाता है
  6. कंधों और पीठ को मजबूत करता है
  7. पीठ दर्द में बेहद लाभकारी 
  8. फेफड़ों को स्वस्थ बनाने में मददगार

अर्द्ध चक्रासन

  1. हाई बीपी को करे कंट्रोल
  2. ब्लड शुगर को करे कंट्रोल
  3. मोटापा कम करने में कारगर
  4. थायराइड ग्लैंड एक्टिव होता है
  5. एकाग्रता बढ़ाने में मदद मिलती है
  6. याद की हुई चीजें भूलते नहीं
  7. ब्रेन में एनर्जी का फ्लो बेहतर

दस्त की समस्या से हैं परेशान, बस बेल सहित करें इन चीजों का सेवन

शशकासन

Image Source : INDIA TV
शशकासन

शशकासन

  1. लिवर, किडनी रोगों में कारगर
  2. पाचन तंत्र को रखे ठीक
  3. मानसिक रोगों से दिलाए मुक्ति
  4. मोटापा कम करने में करे मदद
  5. क्रोध, चिड़चिड़ापन को करे दूर

भुजंगासन

  1. मोटापा को कम करने में मददगार
  2. पाचन शक्ति को रखें ठीक
  3. डबल चिन से दिलाए छुटकारा
  4. डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी
  5. रीढ़ की हड्डी को करें मजबूत
  6. ब्रेन से जुड़ी समस्याओं से दिलाए छुटकारा
  7. हाइपरटेंशन से दिलाए छुटकारा

मंडूकासन

  1. डायबिटीज को  करे कंट्रोल
  2. पेट और हृदय के लिए भी लाभकारी
  3. कंसंट्रेशन की क्षमता बढ़ती है
  4. पाचन तंत्र सही करने में सहायक
  5. लिवर, किडनी को स्वस्थ रखता है
  6. वजन घटाने में मदद करता है
  7. पैन्क्रियाज से इंसुलिन रिलीज करता है

शलभासन

  1. आपके फेफड़े सक्रिय होते हैं
  2. अस्थमा रोग कंट्रोल होता है
  3. तंत्रिका तंत्र को मजबूत बनाता है
  4. खून को साफ करता है
  5. शरीर को मजबूत और लचीला बनाता है
  6. हाथों और कन्धों की मज़बूती बढ़ाता है
  7. वजन कम करने में मदद करता है

धनुरासन

  1. पाचन की परेशानी दूर होती है
  2. बवासीर में भी लाभ होता है
  3. छोटी-बड़ी आंते सक्रिय होती हैं
  4. पेट की चर्बी कम होता है
  5. मोटापे से छुटकारा मिलता है
  6. बीपी को करे कंट्रोल
  7. ब्लड शुगर को करे कंट्रोल

मर्कटासन 

  1. रीढ़ की हड्डी लचीली बनती है
  2. पीठ का दर्द दूर हो जाता है
  3. फेफड़ों के लिए अच्छा योगासन
  4. पेट संबंधी समस्या दूर होती है
  5. गैस और कब्ज से राहत मिलती है
  6. एकाग्रता बढ़ाने में मदद मिलती है
  7. सर्वाइकल ,पेट दर्द, गैस्ट्रिक, कमर दर्द में फायदेमंद
  8. गुर्दे, अग्नाशय, लीवर सक्रिय होते हैं

पवनमुक्तासन

  1. फेफड़े स्वस्थ और मजबूत रहते हैं
  2. अस्थमा, साइनस में लाभकारी
  3. किडनी को स्वस्थ रखता है
  4. ब्लड प्रेशर को सामान्य रखता है
  5. पेट की चर्बी को दूर करता है
  6. मोटापा कम करने में मददगार
  7. हृदय को सेहतमंद रखता है
  8. ब्लड सर्कुलेशन ठीक होता है
  9. रीढ़ की हड्डी मज़बूत होती है

उत्तानपादासन

  1. रीढ़ की हड्डी को दें ताकत
  2. भोजन पचाने में कारगर
  3. लिवर और किडनी को रखें हेल्दी
  4. शरीर को सुंदर और सुडौल बनाए
  5. तनाव और डिप्रेशन से दिलाए छुटकारा
  6. बीपी को करें कंट्रोल

नौकासन

  1. शरीर की ऑक्सीजन बढ़ाए
  2. डायबिटीज को करे कंट्रोल
  3. टीबी, निमोनिया को करे ठीक
  4. शरीर में ऑक्सीजन का स्तर संतुलित रहता है
  5. नियमित अभ्यास से मोटापे में कमी
  6. पाचन शक्ति अच्छी रहती हैं
  7. पेट, कमर, पीठ मजबूत बनती है

सूक्ष्म व्यायाम

  1. बॉडी को करे एक्टिव
  2. ऊर्जा बढ़ाएं
  3. स्ट्रेस, टेंशन से दिलाए निजात
  4. तनाव से दिलाए मुक्ति
  5. वजन कम करने में करे मदद
  6. बीपी को करे कंट्रोल

मकरासन

Image Source : INDIA TV
मकरासन

मकरासन

  1. हाई बीपी को करे कम
  2. वजन कम करने में करे मदद
  3. कमर दर्द में लाभकारी
  4. रीढ़ की हड्डी को करे मजबूत
  5. बाजुओं को बनाए मजबूत
  6. लिवर को रखे हेल्दी

सेतुबंध आसन

  1. फेफड़ों को उत्तेजित करता है
  2. साइनस, अस्थमा के मरीजों को लाभ
  3. तनाव और डिप्रेशन कम करता है
  4. पीठ और सिर दर्द को दूर करता है
  5. नींद ना आने की बीमारी दूर करता है
  6. रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाता है
  7. टांगों को स्वस्थ, मजबूत बनाता है
  8. हाई ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक
  9. पाचन तंत्र में सुधार लाता है
  10. थाइराइड में भी फायदा पहुंचाता है

मर्कटासन

  1. रीढ़ की हड्डी लचीली बनाता है। 
  2. पीठ का दर्द दूर करता है। 
  3. फेफड़ों के लिए फायदेमंद है। 
  4. एकाग्रता बढ़ती है। 
  5. पेट संबंधी समस्या दूर होती है। 
हाई बीपी को कंट्रोल करने के लिए प्राणायाम
  1. भ्रामरी
  2. अनुलोम विलोम
  3. उज्जायी
  4. शीतली
  5. शीतकारी

हाई बीपी के लिए एक्यूप्रेशर प्वाइंट्स

  1. हथेली के बीच का हिस्सा दबाएं
  2. सभी उंगलियों के टॉप को दबाएं 
  3. रोज़ाना कुछ देर ताली बजाएं 
  4. रिंग फिंगर के टॉप पर दबाएं
India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। हाई बीपी के मरीजों को कोरोना का खतरा अधिक, स्वामी रामदेव से जानिए हाइपरटेंशन को कंट्रोल करने का कारगर उपचार News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन
Write a comment
X