1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. मोहाली ब्लास्ट मामले में बड़ी कामयाबी, मुख्य आरोपी निशान सिंह फरीदकोट से गिरफ़्तार

Mohali Blast: मोहाली ब्लास्ट मामले में बड़ी कामयाबी, मुख्य आरोपी निशान सिंह फरीदकोट से गिरफ़्तार

निशान सिंह तरनतारन के भिखीविंड का रहने वाला है। उसका गांव भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के नजदीक है।

Puneet Pareenja Reported by: Puneet Pareenja @puneetpareenja
Updated on: May 11, 2022 17:51 IST
Nishan Singhm, Mohali Blast main accused- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Nishan Singhm, Mohali Blast main accused

Highlights

  • मोहाली और फरीदकोट पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में मिली सफलता
  • हमले के पीछे पाकिस्तान में बैठे कुख्यात गैंगस्टर हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा का हाथ

Mohali Blast: पंजाब पुलिस के मोहाली (Mohali) स्थित इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर (Intelligence Headquarters) की बिल्डिंग पर हमले के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी निशान सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। निशान सिंह तरनतारन के भिखीविंड का रहने वाला है। उसका गांव भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के नजदीक है। मोहाली और फरीदकोट की पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई में उसे फरीदकोट से गिरफ्तार किया ।

साजिश का पाकिस्तान कनेक्शन

इस साजिश का अब पाकिस्तानी कनेक्शन भी सामने आ रहा है। इस हमले के पीछे पाकिस्तान में बैठे कुख्यात गैंगस्टर हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा का हाथ माना जा रहा है। माना जा रहा है कि रिंदा ने ही ड्रोन के जरिए यह रॉकेट लॉन्चर पंजाब भिजवाया। पुलिस अब निशान सिंह से पाकिस्तान में बैठे रिंदा से संपर्क के बारे में पूछताछ कर रही है।

पिज्जा डिलीवरी से मिला सुराग

पुलिस को इस मामले में पहला सुराग पिज्जा डिलीवरी से मिला है। सोमवार रात को रॉकेट अटैक से पहले इंटेलिजेंस विंग के एक पुलिस कर्मी ने पिज्जा ऑर्डर किया था। अटैक से पहले वह पिज्जा लेने बाहर आया था। तब संदिग्ध स्विफ्ट कार पार्किंग में खड़ी थी। जब वह पिज्जा लेकर अंदर लौटा तो रॉकेट अटैक हो गया। यह देख वह तुरंत बाहर कार को देखने भागा। तब तक कार वहां नहीं थी। यह कार पिज्जा डिलीवरी करने आए ब्वॉय ने भी देखी थी। पुलिस ने इन दोनों से पूछताछ के बाद ही जांच को आगे बढ़ाया।

सोमवार की रात हुआ था हमला

आपको बता दें कि मोहाली में सेक्टर 77 स्थित इंटेलिजेंस विंग के हेडक्वार्टर में सोमवार रात को आरपीजी (RPG) से हमला किया गया था। हालांकि इस हमले में जानमाल को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था। केवल बिल्डिंग की खिड़कियों के शीशे टूट गए थे। इस बिल्डिंग में राज्य की ‘काउंटर इंटेलिजेंस विंग’, विशेष कार्य बल और कुछ अन्य यूनिट्स के दफ्तर हैं।