ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. ‘अलादीन’ के चिराग से यह चीज मांगते PM मोदी, अनुपम और अमिताभ पर भी बोले

‘अलादीन’ के चिराग से यह चीज मांगते PM मोदी, अनुपम और अमिताभ पर भी बोले

बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के साथ हुई एक बातचीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जीवन से जुड़े कई पहलुओं पर बात की।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 24, 2019 11:55 IST
Akshay Kumar interview with PM Narendra Modi | ANI- India TV Hindi
Akshay Kumar interview with PM Narendra Modi | ANI

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार के साथ हुई एक बातचीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जीवन से जुड़े कई पहलुओं पर बात की। इस बीच एक सवाल के जवाब में प्रधानमंत्री ने यह भी बताया कि यदि उनके पास अलादीन के चिराग का जिन्न होता तो वह क्या मांगते। मोदी ने यह भी बताया कि जब वह प्रधानमंत्री आवास के अंदर पहली बार दाखिल हुए थे तो अपने साथ सबसे मूल्यवान कौन-सी चीज लेकर आए थे। वहीं, पीएम ने सिनेमा को लेकर भी अपनी पसंद के बारे में बात की।

अलादीन के चिराग पर PM मोदी का जवाब

जब अक्षय ने पीएम से सवाल किया कि यदि आपके पास अलादीन का चिराग हो, जिन्न 3 विश मांगने को कहे तो आप क्या मांगेंगे, PM ने जवाब दिया, ‘अलादीन का चिराग मुझे मिल जाए और उसके पास सच में ताकत हो, तो मैं उससे कहूंगा कि जितने भी समाजशास्त्री हैं उनके दिमाग में भर दें कि भावी पीढ़ी को अलादीन के चिराग वाली कथा सुनाना बंद कर दें कि ऐसा कोई अलादीन होता है, उसे मेहनत करना सिखाओ।’

PM आवास के अंदर यह मूल्यवान चीज लेकर घुसे थे मोदी
यह पूछे जाने पर कि प्रधानमंत्री आवास के अंदर सबसे मूल्यवान चीज क्या लेकर आए थे, PM ने कहा, ‘शायद प्रधानमंत्री बनते वक्त एक फायदा जो मुझे मिला वह यह है कि मैं लंबे अरसे तक मुख्यमंत्री रहकर आया था। सीएम होने के नाते मैं बारीकियों से काम करना पड़ता है, इशू सीधे आते हैं, सलूशन सीधे निकालना पड़ता है। यह तजुर्बा पहले किसी प्रधानमंत्री को नहीं मिला। इसने मुझे देश की सेवा करने के लिए ताकत दी। यह मैं मान सकता हूं कि मैं लेकर आया।’

अमिताभ और अनुपम के साथ देखीं ये फिल्में
फिल्में देखने के सवाल पर पीएम मोदी ने कहा कि वह पहले फिल्में देखा करते थे लेकिन अब समय नहीं मिलता। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘गांव के थिअटर में अगर लोग कम होते थे, तो दोस्त के पिता जो चना बेचते थे, उनके जरिए अंदर जाकर बैठ जाते थे। बाद में मौका नहीं मिलता था। अमिताभ जी आए तो उनके साथ 'पा' देखने गया, अनुपम जी के साछ 'अ वेडनेसडे' देखने गया। अब समय नहीं मिलता।’

elections-2022