1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. राहुल गांधी बिना किसी ज्ञान के खुद को हर चीज का एक्सपर्ट समझते हैं: शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान

राहुल गांधी बिना किसी ज्ञान के खुद को हर चीज का एक्सपर्ट समझते हैं: शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान

बता दें कि राहुल गांधी ने NEET को स्थगित करने की मांग करते हुए कहा था कि छात्रों को एक निष्पक्ष मौका मिलना चाहिए। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: September 08, 2021 17:04 IST
Yuvraj should stick to his expertise of concocting lies: Dharmendra Pradhan slams Rahul Gandhi- India TV Hindi
Image Source : PTI NEET परीक्षा स्थगित करने की राहुल गांधी की मांग का केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उत्तर दिया है।

नई दिल्ली: NEET परीक्षा स्थगित करने की कांग्रेस नेता राहुल गांधी की मांग और उस मांग के दौरान सरकार पर लगाए आरोपों का केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने उत्तर दिया है। धर्मेंद्र प्रधान ने कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी बिना किसी ज्ञान के खुद को हर विषय का एक्सपर्ट समझते हैं। शिक्षा मंत्री ने कहा है कि राहुल गांधी की अतिमहत्वकांक्षा NEET परीक्षा के शेड्यूल का जवाब नहीं हो सकता। 

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने राहुल गांधी को जवाब देते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी NEET परीक्षा को पुनर्निर्धारित करने की याचिका पर विचार नहीं किया है, तो फिर राहुल गांधी किस आधार पर इस तरह के सवाल उठा रहे हैं। शिक्षा मंत्री ने तंज कसते हुए कहा, कि राहुल गांधी को इस तरह के विषयों में न पड़कर झूठ गढ़ने, आधे अधूरे सच बोलने और प्रगतिशील कामों में रुकावट डालने जैसे कामों लगे रहें।

बता दें कि राहुल गांधी ने NEET को स्थगित करने की मांग करते हुए कहा था कि छात्रों को एक निष्पक्ष मौका मिलना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया था, "भारत सरकार को छात्रों की परेशानी नहीं दिख रही है। नीट परीक्षा को स्थगित करिये। छात्रों को निष्पक्ष मौका दीजिये।" 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने भी इस मुद्दे को लेकर सरकार पर निशाना साधा था और सवाल किया कि आखिर सरकार छात्रों को क्यों नहीं सुन रही है? उन्होंने कहा, ‘‘सरकार देश भर के छात्रों की वाजिब मांग के खिलाफ जा रही है। सत्ता में बैठे लोगों के लिए उन लोगों को सुनना और उनकी मदद करना मुश्किल क्यों है, जो हमारे देश का भविष्य हैं? क्या मानसिक स्वास्थ्य मायने नहीं रखता?’’ उल्लेखनीय है कि NEET (स्नातक) की परीक्षा 12 सितंबर को प्रस्तावित है।

ये भी पढ़ें

Click Mania
Modi Us Visit 2021