1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. पंचायत ने सुनाया फरमान, अगर लड़कियों ने पहनी जींस और स्कर्ट तो होगा...

पंचायत ने सुनाया फरमान, अगर लड़कियों ने पहनी जींस और स्कर्ट तो होगा...

महिलाओं को कैसे कपड़े पहनना चाहिए, इस बारे में पंचायत के फैसले के बारे में SDM दीपक कुमार ने सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “मुझे मीडिया के माध्यम से इस बारे में पता चला कि ऐसी पंचायत हुई है। यह पता लगाने के लिए जांच की जाएगी कि वहां क्या हुआ था।”

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 11, 2021 8:56 IST
girls banned from wearing jeans skirt in muzaffarnagar village पंचायत ने सुनाया फरमान, अगर लड़कियों - India TV Hindi
Image Source : FILE पंचायत ने सुनाया फरमान, अगर लड़कियों ने पहनी जींस और स्कर्ट तो होगा...

मुजफ्फरनगर. पश्चिमी यूपी के मुजफ्फरनगर में एक गांव की पंचायत ने अजीबो-गरीब फरमान सुनाया है। जिले के पीपलशाह गांव की पंचायत ने मंगलवार को फरमान सुनाया कि उन लड़कियों का बहिष्कार किया जाएगा जो पैंट या स्कर्ट पहनती हैं। इसके अलावा शार्ट पैंट पहनने वाले लड़कों के बहिष्कार की भी बात कही गई है। मुजफ्फरनगर के पीपल शाह गांव में मंगलवार को समाज को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर चर्चा के लिए पंचायत बुलाई गई थी।

पढ़ें- महाशिवरात्रि पर आज कुंभ का पहला शाही स्नान, लाखों श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई डुबकी

इस दौरान भारतीय किसान संगठन (Bhartiya Kisan Sangathan) के ठाकुर पूरन सिंह ने कहा, "यह हमारी संस्कृति नहीं है। लड़कियों को जींस या स्कर्ट नहीं पहनना चाहिए और पुरुषों को भी उचित कपड़े पहनने चाहिए। यदि वे ठीक से कपड़े नहीं पहनेंगे, तो उनका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।" जब पूरन सिंह से स्कूल जाने वाले बच्चों द्वारा गर्मियों में हाफ पैंट पहनने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, "फैसला बच्चों पर लागू नहीं होता। लेकिन घुटने के ऊपर कुछ भी पहनना अच्छा नहीं है। हम ऐसे स्कूलों के प्रबंधन से बात करेंगे।"

पढ़ें- ममता बनर्जी के टखने, दाहिने कंधे, गर्दन में आई चोट, मेडिकल टेस्ट के बाद डॉक्टरों ने बताया

पंचायत में आगामी पंचायत चुनाव के लिए SC / OBC के लिए ग्राम प्रधान सीट आरक्षित करने के यूपी सरकार के फैसले पर भी आपत्ति जताई गई। पूरन सिंह ने कहा, "पंचायत चुनाव में सीटें आरक्षित करने का निर्णय गलत है। यह एक बड़े समुदाय को चुनाव लड़ने से रोकता है। सभी को पंचायत चुनाव लड़ने का अधिकार दिया जाना चाहिए।"

पढ़ें- अब कैसी है ममता बनर्जी की हालत, डॉक्टरों ने बताया

पंचायत ने चुनाव के दौरान शराब बांटने की गैरकानूनी 'प्रथा' की भी भर्त्सना की है। पूरन सिंह ने कहा कि अगर कोई भी उम्मीदवार आगामी चुनाव में शराब बांटता हुआ पाया जाता है, तो उसका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा। महिलाओं को कैसे कपड़े पहनना चाहिए, इस बारे में पंचायत के फैसले के बारे में SDM दीपक कुमार ने सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “मुझे मीडिया के माध्यम से इस बारे में पता चला कि ऐसी पंचायत हुई है। यह पता लगाने के लिए जांच की जाएगी कि वहां क्या हुआ था।”

पढ़ें- जनता की नजर में गिर गई खट्टर सरकार: भूपेंद्र सिंह हुड

bigg boss 15