1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. यूपी में कोरोना संक्रमण से 1 दिन में हुईं सबसे अधिक 57 मौत, संक्रमण के 3,765 नए मामले

यूपी में कोरोना संक्रमण से 1 दिन में हुईं सबसे अधिक 57 मौत, संक्रमण के 3,765 नए मामले

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यूपी में आज गुरुवार (30 जुलाई) को एक दिन में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 3,705 नए मामले सामने आए हैं जबकि एक दिन में रिकॉर्ड 57 लोगों की मौत हुई है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 30, 2020 20:40 IST
Uttar Pradesh Noida coronavirus cases Till 30 July latest Update news- India TV Hindi
Image Source : FILE Uttar Pradesh Noida coronavirus cases Till 30 July latest Update news

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 3,765 नए मामले सामने आए, जबकि 57 और मौतों के साथ इस संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकड़ा बृहस्पतिवार को 1,587 हो गया। प्रदेश में मौत के 57 मामले किसी एक दिन में मृतकों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। संक्रमण के 3,765 मामलों का आंकड़ा भी एक दिन में सर्वाधिक है । स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 3,765 नए मामले सामने आए और 57 लोगों की मौत हो गई। बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में जान गंवाने वालों में सात वाराणसी, छह कानपुर, पांच गोरखपुर, जबकि बरेली और रायबरेली में चार-चार रोगियों की मौत हुई है। 

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक प्रदेश में कोविड-19 से सर्वाधिक 193 मौत कानपुर में हुई हैं। इससे पहले, अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अब तक कुल 46, 803 लोग पूरी तरह होकर अस्पतालों से घर जा चुके हैं। संक्रमण के उपचाराधीन मामलों की संख्या 32, 649 है जबकि कोरोना संक्रमण की वजह से कुल 1,587 लोगों की जान गयी है। उन्होंने बताया कि पृथक वार्डों में 32, 652 लोग हैं, जिनका विभिन्न चिकित्सालयों एवं मेडिकल कालेजों में उपचार किया जा रहा है । पृथकवास केन्द्रों पर 2,938 लोग हैं, जिनके नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। 

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि उपचाराधीन मामलों में से 7,198 लोग घर में पृथक-वास में हैं जबकि 1,112 लोग निजी अस्पताल में इलाज करा रहे हैं । उन्होंने कहा कि जब से गृह पृथक-वास की व्यवस्था शुरू की गयी है, तब से बहुत से लक्षणमुक्त रोगी इसका लाभ उठा रहे हैं। प्रसाद ने बताया कि जो समय से संक्रमण की जांच करा लेते हैं और समय से अपनी चिकित्सा शुरू करा लेते हैं, उन्हें इस संक्रमण से कोई परेशानी नहीं देखी जा रही है लेकिन जो बीमारी छिपाते हैं, लक्षण आने के बाद भी जांच नहीं कराते, जो बहुत विलंब से आते हैं, उनमें जटिलताएं उत्पन्न होती हैं और कभी-कभी किसी मरीज की मृत्यु भी हो जाती है। उन्होंने ठीक हो चुके लोगों से अनुरोध किया कि वे अन्य लोगों को इस बीमारी के बारे में समझायें। 

प्रसाद ने बताया कि बुधवार को प्रदेश में 88, 967 नमूने जांचे गए, जिनमें से 51, 484 एंटीजन टेस्ट थे। अब तक 22, 09, 810 नमूनों की जांच की जा चुकी है । जांच शुरू होने से 24 जून तक चार महीने में छह लाख नमूनों की जांच हुई थी। 24 जून से 30 जुलाई के बीच लगभग पांच सप्ताह में 16 लाख नमूनों की जांच हुई है । जांच को निरंतर विस्तारित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पूल टेस्टिंग के माध्यम से बुधवार को पांच-पांच नमूनों के 2,963 पूल लगाए गए, जिनमें से 661 लोग संक्रमित पाए गए, जबकि दस-दस नमूनों के 196 पूल लगाए गए, जिनमें से 27 लोग संक्रमित मिले। अपर मुख्य सचिव ने बताया कि सर्विलांस का कार्य निरंतर चल रहा है । कुल 39, 578 क्षेत्रों में यह कार्य किया गया और 1, 44, 87, 398 घरों का सर्विलांस हुआ। आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से जिन लोगों को अलर्ट आए, ऐसे 5, 19, 783 लोगों को फोन कर सावधान किया जा चुका है ।

यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि पूरे कोविड फंड में अब तक कुल 412 करोड़ रुपए प्राप्त हुए हैं जिसमें से 200 करोड़ मेडिकल इक्विपमेंट्स और दवाइयों के लिए और 153 करोड़ प्रवासी मजदूरों के लिए खर्च किया गया है। धारा 188 के अंतर्गत अब तक कुल 1,60,369 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज, 3,32,000 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई और 65000 वाहनों को सीज़ किया गया है। अब तक लगभग 55 करोड़ रु. की धनराशि जुर्माने के रूप में वसूली जा चुकी है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X