1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. महाराष्ट्र
  4. अमरावती मर्डर केस में बड़ा खुलासा, युसूफ खान ने उमेश की पोस्ट को 'रहबरिया ग्रुप' में भेजा

Amravati Murder Case: अमरावती मर्डर केस में बड़ा खुलासा, युसूफ खान ने उमेश की पोस्ट को 'रहबरिया ग्रुप' में भेजा, इस ग्रुप से जुड़ा है हत्यारा इरफान

Amravati Murder Case: युसूफ खान 'ब्लैक फ्रीडम' नाम के व्हाट्सएप ग्रुप का भी सदस्य है, इस ग्रुप में उमेश ने नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए एक पोस्ट को फॉरवर्ड किया था, जिसके बाद यूसुफ खान ने उस पोस्ट को 'रहबरिया ग्रुप' में भेज दिया जिससे हत्यारा और मास्टरमाइंड इरफान भी जुड़ा है।

Reported By : Rajesh Yadav Edited By : Shashi RaiPublished on: July 03, 2022 14:24 IST
Umesh Kolhe- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Umesh Kolhe  

Highlights

  • अमरावती मर्डर केस में बड़ा खुलासा
  • युसूफ खान ने उमेश की पोस्ट को 'रहबरिया ग्रुप' में भेजा
  • इस ग्रुप से जुड़ा है हत्यारा और मास्टरमाइंड इरफान

Amravati Murder Case: महाराष्ट्र के अमरावती में नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले केमिस्ट उमेश कोल्हे (Umesh Kolhe) की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। जानकारी के मुताबिक, युसूफ खान नाम के एक वेटरनरी डॉक्टर ने सोशल मीडिया पर उमेश कोल्हे के पोस्ट को फैलाया था। युसूफ खान 'ब्लैक फ्रीडम' नाम के व्हाट्सएप ग्रुप का भी सदस्य है, इस ग्रुप में उमेश ने नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए एक पोस्ट को फॉरवर्ड किया था, जिसके बाद यूसुफ खान ने उस पोस्ट को 'रहबरिया ग्रुप' में भेज दिया जिससे हत्यारा और मास्टरमाइंड इरफान भी जुड़ा है। इसके बाद ही इरफान को गुस्सा आ गया और उसने बैठक ली जिसमें उमेश को मारने की बात कही गई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि आरोपियों ने जिस तरह से उमेश कोल्हे पर हमला किया उससे उमेश की दिमाग की नस, सांस लेने वाली नलिका, खाना खाने वाले नली और आंख की नस को डैमेज गया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यह भी पता चला है कि जो जख़्म हुआ था वो 5 इंच चौड़ा, 7 इंच लंबा और 5 इंच गहरा था।

दिहाड़ी मजदूरों ने दिया घटना को अंजाम

पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, युसूफ खान ने वर्ग विशेष के लोगों से कहा था कि एक तरफ तो वे कोल्हे के यहां से दवाएं लेते हैं, और दूसरी तरफ वह उनके समुदाय के बारे में ऐसी पोस्ट कर रहा है। बताया जा रहा है कि इसके बाद दिहाड़ी मजदूरी करने वाले युवक, जिनकी उम्र 22 से 44 वर्ष के बीच की थी, वे इस घटना को अंजाम देने के लिए तैयार हुए। शोएब खान, आतिफ रशीद और शाहीम शेख ने रेकी की और शोएब खान ने उमेश कोल्हे के ऊपर चाकू से हमला किया।

21 जून को हुई थी उमेश कोल्हे की हत्या

उमेश कोल्हे की 21 जून को हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में मास्टरमाइंड इरफान खान समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। युसूफ खान भी उन 7 आरोपियों में शामिल है जिन्हें उमेश कोल्हे की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया है। शोएब खान ने लगभग 1 फीट के चाकू से उमेश कोल्हे के गले पर वार किया था, जबकि डॉक्टर युसूफ खान को सिर्फ उमेश के पोस्ट के प्रसार के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने कहा है कि मामले की जांच जारी है और बाकी बातें पूछताछ के बाद साफ होंगी।

NIA करेगी उमेश कोल्हे मर्डर केस की जांच

इससे पहले केंद्र सरकार ने शनिवार को इस मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी कि NIA को सौंप दी। केंद्र ने यह फैसला इस आशंका के मद्देनजर लिया कि केमिस्ट की हत्या नुपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पोस्ट का परिमाण हो सकती है। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने ट्वीट किया कि कोल्हे की ‘बर्बर हत्या’ से संबंधित मामले की जांच NIA को सौंप दी गई है। उन्होंने कहा कि NIA हत्या की साजिश और इस घटना के तार अंतरराष्ट्रीय संगठनों से जुड़े होने की भी गहन जांच करेगी।