1. You Are At:
  2. India TV
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. केवल 21 दिन में बिक गए 15,000 ग्रेजिया स्‍कूटर, इसका स्‍पोर्टी लुक कर रहा है युवाओं को आकर्षित

केवल 21 दिन में बिक गए 15,000 ग्रेजिया स्‍कूटर, इसका स्‍पोर्टी लुक कर रहा है युवाओं को आकर्षित

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्‍कूटर इंडिया ने घोषणा की है कि उसने हाल ही में लॉन्‍च हुए अपने ग्रेजिया स्‍कूटर की केवल 21 दिन में 15,000 यूनिट की बिक्री कर ली है।

Abhishek Shrivastava Abhishek Shrivastava
Published on: November 30, 2017 18:54 IST
केवल 21 दिन में बिक गए 15,000 ग्रेजिया स्‍कूटर, इसका स्‍पोर्टी लुक कर रहा है युवाओं को आकर्षित- India TV Paisa
केवल 21 दिन में बिक गए 15,000 ग्रेजिया स्‍कूटर, इसका स्‍पोर्टी लुक कर रहा है युवाओं को आकर्षित

नई दिल्‍ली। होंडा मोटरसाइकिल एंड स्‍कूटर इंडिया (एचएमएसआई) ने आज घोषणा की है कि उसने हाल ही में लॉन्‍च हुए अपने ग्रेजिया स्‍कूटर की केवल 21 दिन में 15,000 यूनिट की बिक्री कर ली है। इस स्‍कूटर के लिए बुकिंग इसके आधिकारिक लॉन्‍च से दो हफ्ते पहले शुरू हुई थी। कंपनी ने इस स्‍कूटर को 8 नवंबर को भारत में लॉन्‍च किया था।

अगर इसकी बिक्री के आंकड़े को देखें तो पता चलता है कि होंडा ग्रेजिया को भारत में ग्राहकों का अच्‍छा रिस्‍पॉन्‍स मिला है। एचएमएसआई ने होंडा ग्रेजिया स्‍कूटर का निर्माण अक्‍टूबर 2017 में शुरू किया था और नवंबर 2017 में इसके मार्केट लॉन्‍च से पहले कंपनी ने 3,373 यूनिट को बनाकर तैयार कर लिया था।

कंपनी के पास पहले से एक्टिवा 125 है जिसकी पोजीशन एक फैमिली स्‍कूटर की है। ग्रेजिया को एक स्‍पोर्टी स्‍कूटर के तौर पर पेश किया गया है जिसका टारगेट युवा हैं। अब यह समय ही बताएगा कि लंबी अवधि में ग्रेजिया कंपनी को कितना फायदा पहुंचा पाता है। होंडा का एक्टिवा पिछले कुछ सालों से सबसे ज्‍यादा बिकने वाला दोपहिया बना हुआ है। इसके अलावा यह स्‍कूटर 7 महीने में 20 लाख यूनिट बिक्री का आंकड़ा हासिल करने वाला अकेला वाहन भी बन गया है।

होंडा ग्रेजिया में 125 सीसी का इंजन लगा हुआ है जो ऑटोमेटिक ट्रांसमिशन सिस्‍टम के साथ आता है। इसमें आगे 190 एमएम का डिस्‍क ब्रेक और पीछे 130 एमएम का ड्रम ब्रेक है। इसमें कंपनी के पेटेंड सीबीएस (कम्‍बाइंड ब्रेकिंग सिस्‍टम) टेक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल किया गया है, जो दोनों ब्रेक को ऑटोमेटीकली उपयोग करता है, जब‍ ड्राइवर केवल रियल ब्रेक लीवर दबाता है। यह गाड़ी के फि‍सलने के जोखिम को कम करता है और प्रभावी ब्रेकिंग की सुविधा देता है।

Write a comment
bigg-boss-13