1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. रबी मौसम में बुवाई 10% बढ़ी, गेहूं का रकबा बढ़कर 97 लाख हेक्टेयर के पार

रबी मौसम में बुवाई 10% बढ़ी, गेहूं का रकबा बढ़कर 97 लाख हेक्टेयर के पार

20 नवंबर 2020 तक कुल रबी फसलों का रकबा पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान के 241.66 लाख हेक्टेयर के मुकाबले 265.43 लाख हेक्टेयर रहा है। वहीं गेहूं का रकबा पिछले वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले के 96.77 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल के मुकाबले 97.27 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल रहा।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: November 20, 2020 19:08 IST
रबी फसलों की बुवाई...- India TV Paisa
Photo:PTI

रबी फसलों की बुवाई में तेजी

नई दिल्ली। देश में रबी मौसम की बुवाई शुरू हो गयी है और अभी तक इसका रकबा पिछले साल के मुकाबले 9.84 प्रतिशत यानी 23.77 लाख हेक्टेयर ज्यादा रहा है। रबी मौसम की मुख्य फसल गेहूं का रकबा करीब 97.27 लाख हेक्टेयर तक पहुंच गया है। रबी मौसम में गेहूं के अलावा धान, चना, उड़द, मूंग जैसे दलहन और मूंगफली एवं सूरजमुखी जैसे तिलहन इत्यादि की बुवाई भी की जाती है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, पंचायत राज तथा खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आधिकारिक बयान में कहा कि कृषि क्षेत्र में सरकार की विशेष रूचि और प्रयासों से किसान उत्साहित हैं। इससे कृषि क्षेत्र लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के बावजूद सरकार ने अपनी प्राथमिकता वाले कृषि क्षेत्र में निरंतर ध्यान दिया जिससे पिछले रबी मौसम में फसलों की कटाई अच्छी रही। इसके बाद ग्रीष्मकालीन व खरीफ फसलों में भी रिकार्ड बुवाई हुई।

आधिकारिक बयान के मुताबिक 20 नवंबर 2020 तक कुल रबी फसलों का रकबा पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान के 241.66 लाख हेक्टेयर के मुकाबले 265.43 लाख हेक्टेयर रहा है, इस प्रकार देश में पिछले वर्ष की तुलना में 23.77 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल की वृद्धि हुई है। रबी की मुख्य फसल गेहूं का रकबा पिछले वर्ष की इसी अवधि के मुकाबले के 96.77 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल के मुकाबले 97.27 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल रहा। यानी इसका बुवाई क्षेत्रफल 0.50 लाख हेक्टेयर बढ़ा है। गत वर्ष के 64.57 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल के मुकाबले दलहन 82.59 लाख हेक्टेयर में बोया गया है, यानी इसकी बुवाई 18.02 लाख हेक्टेयर अधिक क्षेत्रफल में हुई है। मोटे अनाज का क्षेत्रफल पिछले साल के 21.26 लाख हेक्टेयर के मुकाबले इस बार 22.78 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में हुआ। यानी इसमें 1.53 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। किसानों ने पिछले साल के 52.08 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल के मुकाबले 55.53 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल पर तिलहनों की बुवाई की। तिलहन के कुल क्षेत्रफल में औसत 3.45 लाख हेक्टेयर की वृद्धि हुई है। इसमें, सरसों के क्षेत्रफल में 4.24 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में वृद्धि हुई है, जिसमें पिछले साल के 48.01 लाख हेक्टेयर की तुलना में 52.25 लाख हेक्टेयर क्षेत्रफल में बुवाई हुई है।

Write a comment