1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. थोक महंगाई दर जनवरी में बढ़कर 3.1 प्रतिशत पर पहुंची, आम आदमी को फिर लगा झटका

थोक महंगाई दर जनवरी में बढ़कर 3.1 प्रतिशत पर पहुंची, आम आदमी को फिर लगा झटका

थोक महंगाई दर के जारी आंकड़ों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। भारत सरकार ने थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आधिकारिक आंकड़े शुक्रवार को जारी किए गए।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: February 14, 2020 14:27 IST
wholesale inflation, wpi rises, January 2020, India Wholesale Price Index, government data- India TV Paisa

wholesale inflation wpi rises to 3.1 percent in January 2020

नई दिल्ली। थोक महंगाई दर के जारी आंकड़ों में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। भारत सरकार ने थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आधिकारिक आंकड़े शुक्रवार को जारी किए गए। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, थोक मूल्य पर आधारित मुद्रास्फीति जनवरी 2020 में 3.1 फीसदी रही। मासिक थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित वार्षिक मुद्रास्फीति एक साल पहले इसी महीने (जनवरी 2019) के दौरान 2.76 प्रतिशत थी। प्याज और आलू जैसी खाद्य वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते यह इजाफा हुआ है। इससे पिछले महीने दिसंबर 2019 में थोक महंगाई दर 2.59 फीसदी थी। 

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, इस दौरान गैर-खाद्य वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी दिसंबर के 2.32 प्रतिशत से लगभग तीन गुना बढ़कर 7.8 प्रतिशत हो गई। खाद्य वस्तुओं में सब्जियों की कीमतें 52.72 प्रतिशत बढ़ीं, जिसमें सबसे अधिक योगदान प्याज का रहा। इस दौरान प्याज की कीमतों में 293 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई, जबकि इसके बाद आलू की कीमतों में 37.34 प्रतिशत इजाफा हुआ। इस सप्ताह की शुरुआत में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति जनवरी में छह साल के उच्चतम 7.59 प्रतिशत के करीब पहुंच गई थी। इसकी मुख्य वजह सब्जियों और खाद्य वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी रही। यह मई 2014 के बाद से मुद्रास्फीति की उच्चतम दर है, जब यह 8.33 प्रतिशत थी। 

Write a comment
X