1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. हसन रूहानी ने यूक्रेनी विमान हादसे को अक्षम्य गलती बताया, मारे गए थे 176 लोग

हसन रूहानी ने यूक्रेनी विमान हादसे को अक्षम्य गलती बताया, मारे गए थे 176 लोग

ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को कहा कि उनके देश को यूक्रेनी विमान हादसे को लेकर गहरा अफसोस है। रुहानी ने इसे एक बड़ी त्रासदी और अक्षम्य गलती बताया।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 11, 2020 12:08 IST
हसन रूहानी ने यूक्रेनी विमान हादसे को अक्षम्य गलती बताया, मारे गए थे 176 लोग- India TV
हसन रूहानी ने यूक्रेनी विमान हादसे को अक्षम्य गलती बताया, मारे गए थे 176 लोग

तेहरान: ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को कहा कि उनके देश को यूक्रेनी विमान हादसे को लेकर गहरा अफसोस है। रुहानी ने इसे एक बड़ी त्रासदी और अक्षम्य गलती बताया। उन्होंने ट्विटर पर कहा, ‘‘सशस्त्र बलों की आंतरिक जांच में निष्कर्ष निकला है कि मानवीय त्रुटि के कारण दागी गई मिसाइलों के चलते यूक्रेनी विमान भयावह दुर्घटना का शिकार हो गया और 176 निर्दोष लोगों की मौत हो गई।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इस बड़ी त्रासदी और अक्षम्य गलती की जांच जारी है।’’

Related Stories

इससे पहले ईरान ने स्वीकार किया था कि उसकी सेना ने मानवीय चूक के चलते अनजाने में यूक्रेन के विमान को मार गिराया था, जिससे उसमें सवार 176 लोगों की मौत हो गई। यह बयान शनिवार सुबह आया, जिसमें कहा गया कि मानवीय चूक के चलते यह दुर्घटना हुई। ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने ट्वीट किया, ‘‘दुखद दिन...अमेरिकी दुस्साहस के चलते पैदा हुए संकट के समय मानवीय चूक के चलते यह दुर्घटना हुई। हमें गहरा दुख है। सभी पीड़ितों के परिवारों और अन्य प्रभावित राष्ट्रों से हमारी माफी और संवेदना।’’ 

इससे पहले ईरान ने कई दिनों तक विमान को गिराने की बात से इनकार किया, लेकिन अमेरिकी और कनाडा ने कहा था कि उन्हें विश्वास है कि ईरान ने ही विमान को मार गिराया है। गौरतलब है कि यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइंस का बोइंग 737 विमान तेहरान से उड़ान भरने के कुछ समय बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। ईरान द्वारा इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर किए गए मिसाइल हमले के कुछ देर बाद यह विमान हादसा हुआ था। 

अमेरिकी हवाई हमले में ईरानी जनरल क़ासिम सुलेमानी की मौत के बाद जवाबी कार्रवाई में ईरान ने इराक में दो अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर बैलिस्टिक मिसाइल हमला किया था। हालांकि, हमले में इन ठिकानों पर कोई घायल नहीं हुआ था। ईरान के सरकारी मीडिया ने सेना के बयान के हवाले से बताया कि विमान के रिवोल्युशनरी गार्ड के ‘संवेदनशील सैन्य केंद्र’ की ओर मुड़ने के बाद उसे गलती से दुश्मन का विमान समझ लिया। 

इसमें कहा गया कि अमेरिका के साथ भारी तनाव के मद्देनजर सेना ‘‘पूरी तरह मुस्तैद’’ थी। बयान के मुताबिक, ‘‘ऐसे हालात में, मानवीय चूक के चलते और गैर इरादतन विमान पर निशाना बना दिया गया।’’ ईरान ने इस हादसे के लिए माफी मांगी है और कहा है कि भविष्य में ऐसी त्रासदी को रोकने के लिए वह अपनी प्रणाली को मजबूत करेगा। 

बयान में यह भी कहा गया है कि इस हमले के लिए जो भी दोषी हैं, उन पर मुकदमा चलाया जाएगा। इस हादसे में मारे गए ज्यादातर लोग ईरान के थे या ईरानी मूल के कनाडाई थे। यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीव जा रहा था। बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त हुए इस विमान में ईरान के 82, कनाडा के 63, यूक्रेन के 11, स्वीडन के 10, अफगानिस्तान के चार, जर्मनी के तीन और ब्रिटेन के तीन नागरिक सवार थे।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
chunav manch
Write a comment
chunav manch
bigg-boss-13