1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. गैलरी
  4. इवेंट्स
  5. Photos: कोलकाता में अलग-अलग थीम पर बने भव्य दुर्गा पंडाल, तस्वीरों में देखिए इनकी खूबसूरती

Photos: कोलकाता में अलग-अलग थीम पर बने भव्य दुर्गा पंडाल, तस्वीरों में देखिए इनकी खूबसूरती

India TV Hindi Photo Desk India TV Hindi Photo Desk
Updated on: October 11, 2021 12:27 IST
  • नवरात्रि पर पूरे देश में मां दुर्गा की पूजा के लिए भव्य पंडाल बनाए गए हैं। कोलकाता में दुर्गा पूजा खास होती है। ऐसे में यहां पर पंडाल की खूबसूरती देखते ही बनती है। 
हर बार की तरह इस बार भी अलग-अलग थीम पर पंडाल बनाए गए हैं, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा 'पेड़ों के महत्व' थीम वाले पंडाल की हो रही है। 
    Image Source : twitter: ani

    नवरात्रि पर पूरे देश में मां दुर्गा की पूजा के लिए भव्य पंडाल बनाए गए हैं। कोलकाता में दुर्गा पूजा खास होती है। ऐसे में यहां पर पंडाल की खूबसूरती देखते ही बनती है। 

    हर बार की तरह इस बार भी अलग-अलग थीम पर पंडाल बनाए गए हैं, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा 'पेड़ों के महत्व' थीम वाले पंडाल की हो रही है। 

  • दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा के जैसा दुर्गा पंडाल कोलकाता में बनाया गया है। इस पंडाल को बनाने में करीब 250 कारीगरों को दो महीने का वक्त लग गया। ये काफी ऊंचा और खूबसूरत है। प्रतिष्ठित बुर्ज खलीफा इमारत का अंदाजा लगाने के लिए आयोजक दुबई गए थे।
    Image Source : Arnab Mitra

    दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा के जैसा दुर्गा पंडाल कोलकाता में बनाया गया है। इस पंडाल को बनाने में करीब 250 कारीगरों को दो महीने का वक्त लग गया। ये काफी ऊंचा और खूबसूरत है। प्रतिष्ठित बुर्ज खलीफा इमारत का अंदाजा लगाने के लिए आयोजक दुबई गए थे।

  • Sreevumi Sporting Club द्वारा बनाए गए इस पंडाल में मां दुर्गा की मूर्ति को 45 किलोग्राम गोल्ड का ज्वैलरी पहनाया गया है। 
    Image Source : Arnab Mitra

    Sreevumi Sporting Club द्वारा बनाए गए इस पंडाल में मां दुर्गा की मूर्ति को 45 किलोग्राम गोल्ड का ज्वैलरी पहनाया गया है। 

  • उत्तरी कोलकाता के बागुईहाटी में नज़रूल पार्क उन्नयन समिति पंडाल में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को दर्शाती प्रतिष्ठित दुर्गा पूजा की मूर्ति बनाई गई है। आयोजक के अनुसार, उनका विषय राज्य में जीवन की बेहतरी के लिए ममता बनर्जी के योगदान को प्रदर्शित करना है। 
    Image Source : Arnab Mitra

    उत्तरी कोलकाता के बागुईहाटी में नज़रूल पार्क उन्नयन समिति पंडाल में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को दर्शाती प्रतिष्ठित दुर्गा पूजा की मूर्ति बनाई गई है। आयोजक के अनुसार, उनका विषय राज्य में जीवन की बेहतरी के लिए ममता बनर्जी के योगदान को प्रदर्शित करना है। 

  • एक दुर्गा पंडाल मेयर चौवा (Mayer Chowa) थीम पर बनाया गया है। मेयर चौवा यानि मां का स्पर्श। इसमें हमारे जीवन में माताओं की भूमिका को दर्शाया गया है, जिनकी तुलना देवी से की जाती है। पंडाल सचिव सुजीत रॉय ने कहा,
    Image Source : twitter: ani

    एक दुर्गा पंडाल मेयर चौवा (Mayer Chowa) थीम पर बनाया गया है। मेयर चौवा यानि मां का स्पर्श। इसमें हमारे जीवन में माताओं की भूमिका को दर्शाया गया है, जिनकी तुलना देवी से की जाती है। पंडाल सचिव सुजीत रॉय ने कहा, "घर के कामों से लेकर बच्चों की देखभाल तक, हमने एक मां के बहुमुखी व्यक्तित्व को चित्रित करने की कोशिश की है।"

  • एक दुर्गा पूजा पंडाल में सजावटी टुकड़े के रूप में 'शाखा पोला' (पारंपरिक बंगाली चूड़ी) का इस्तेमाल किया गया है। इस बंगाली चूड़ी को विवाहित बंगाली महिलाएं पहनती हैं। इस विषय के जरिए ये बताने की कोशिश की गई है कि मां और दुर्गा मां, दोनों संकट और कोविड के समय में अपने बच्चों की रक्षा करती हैं। 
    Image Source : twitter: ani

    एक दुर्गा पूजा पंडाल में सजावटी टुकड़े के रूप में 'शाखा पोला' (पारंपरिक बंगाली चूड़ी) का इस्तेमाल किया गया है। इस बंगाली चूड़ी को विवाहित बंगाली महिलाएं पहनती हैं। इस विषय के जरिए ये बताने की कोशिश की गई है कि मां और दुर्गा मां, दोनों संकट और कोविड के समय में अपने बच्चों की रक्षा करती हैं। 

  • कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन संकट को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल में एक 'पेड़ का महत्व' थीम वाला पंडाल स्थापित किया गया है। इसके जरिए बताया गया है कि कोविड की दूसरी लहर ने ऑक्सीजन का महत्व सिखाया, जिसका मुख्य स्रोत पेड़ है। 
 
    Image Source : twitter: ani

    कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन संकट को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल में एक 'पेड़ का महत्व' थीम वाला पंडाल स्थापित किया गया है। इसके जरिए बताया गया है कि कोविड की दूसरी लहर ने ऑक्सीजन का महत्व सिखाया, जिसका मुख्य स्रोत पेड़ है। 

     

  • कोलकाता के 'Naktala Udayan Sangha' क्लब ने अपने दुर्गा पूजा पंडाल को 'चोलचित्र' (माइग्रेशन) के रूप में थीम दी है। 
    Image Source : twitter: ani

    कोलकाता के 'Naktala Udayan Sangha' क्लब ने अपने दुर्गा पूजा पंडाल को 'चोलचित्र' (माइग्रेशन) के रूप में थीम दी है। 

  • दक्षिण कोलकाता में एक दुर्गा पूजा पंडाल को 'खेला होबे' की थीम पर डिजाइन किया गया है। कलाकार सौमेन घोष कहते हैं,
    Image Source : twitter : ani

    दक्षिण कोलकाता में एक दुर्गा पूजा पंडाल को 'खेला होबे' की थीम पर डिजाइन किया गया है। कलाकार सौमेन घोष कहते हैं, "खेला होबे का नारा पूरे भारत में प्रसिद्ध है। हमने इस विषय को बच्चों और युवाओं को मोबाइल गेम के बजाय आउटडोर गेम खेलने के लिए प्रेरित करने के लिए चुना है।"

  • बंगाल पुनर्जागरण के 200 साल पूरे करने के लिए, बाबूबगन सरबजनिन दुर्गोत्सव समिति ने दक्षिण कोलकाता में एक पुस्तकालय के रूप में अपना दुर्गा पूजा पंडाल डिजाइन किया है, जिसमें आंदोलन से संबंधित प्रमुख आंकड़े और किताबें प्रदर्शित हैं।
    Image Source : twitter: ani

    बंगाल पुनर्जागरण के 200 साल पूरे करने के लिए, बाबूबगन सरबजनिन दुर्गोत्सव समिति ने दक्षिण कोलकाता में एक पुस्तकालय के रूप में अपना दुर्गा पूजा पंडाल डिजाइन किया है, जिसमें आंदोलन से संबंधित प्रमुख आंकड़े और किताबें प्रदर्शित हैं।

Click Mania
bigg boss 15
Next Photo Gallery