1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के लिए वरदान है नीम की दातून, करना भूल चुके हों तो तुरंत करिए शुरू

डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के लिए वरदान है नीम की दातून, करना भूल चुके हों तो तुरंत करिए शुरू

आप सोच रहे होंगे कि डायबिटीज़ और हाइ ब्लड प्रेशर के साथ दातून का क्या संबंध है? लेकिन सच्चाई जानेंगे तो आपका दिमाग हिल जाएगा।

Jyoti Jaiswal Edited by: Jyoti Jaiswal @TheJyotiJaiswal
Updated on: May 10, 2022 11:06 IST
 नीम की दातून- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM  नीम की दातून

Highlights

  • माउथवॉश और टूथपेस्ट में बेहद स्ट्राँग एंटीमाइक्रोबियल होते हैं
  • दातून से आप डायबिटीज के रोगी बनने से बच सकते हैं।

Diabetes: पहले देश में डायबिटीज और हाई बीपी के मरीज कम थे। मगर नब्बे के दशक में अचानक से ज्यादातर घरों में कोई न कोई हाई बीपी या डायबिटीज का पेशेंट हो गया। बहुत सारी वजहें हैं, जिनमें हमारे खानपान में बदलाव को सबसे खास माना जा सकता है। बदलाव के उस दौर में एक चीज बहुत ख़ास थी जो खो गयी और वो है दातून। गाँव देहात में आज भी लोग दातून इस्तमाल करते दिख जाएंगे लेकिन शहरों में दातून पिछड़ेपन का संकेत बन चुका है। गाँव देहात में डायबिटीज़ और हाइपरटेंशन के रोगी यदा कदा ही दिखेंगे या ना के बराबर ही होंगे। वजह साफ है, ज्यादातर लोग आज भी दातून करते हैं। आप सोच रहे होंगे कि डायबिटीज़ और हाइ ब्लड प्रेशर के साथ दातून का क्या संबंध है? लेकिन सच्चाई जानेंगे तो आपका दिमाग हिल जाएगा। साइंटिस्ट और हर्बल मेडिसिन एक्सपर्ट दीपक आचार्य के मुताबिक दातून से आप डायबिटीज के रोगी बनने से बच सकते हैं। जानते हैं कैसे?

टूथपेस्ट के नुकसान

मेडिसिन एक्सपर्ट दीपक आचार्य के मुताबिक जो बाज़ार में टूथपेस्ट और माउथवॉश आ रहे हैं और 99.9% सूक्ष्मजीवों का नाश करने का दावा करते हैं, इन माउथवॉश और टूथपेस्ट में बेहद स्ट्राँग एंटीमाइक्रोबियल होते हैं और हमारे मुंह के 99% से ज्यदा सूक्ष्मजीवों को वाकई मार गिराते हैं। लेकिन इनकी मारक क्षमता इतनी जबर्दस्त होती है कि ये मुंह के उन बैक्टिरिया का भी खात्मा कर देते हैं, जो हमारे शरीर के लिए मित्र की तरह होते हैं, ये हमारी लार (सलाइवा) में पाए जाते हैं और ये वही बैक्टिरिया हैं जो हमारे शरीर के नाइट्रेट (NO3-) को नाइट्राइट (NO2-) और बाद में नाइट्रिक ऑक्साइड (NO) में बदलने में मदद करते हैं। यानी शरीर के लिए जरूरी नाइट्रिक ऑक्साइड का बनना काफी हद तक इनके भरोसे होता है। अब इन्ही सूक्ष्मजीवों को मार दिया जाए तो नाइट्रिक ऑक्साइड का स्तर कम होता जाएगा, जैसे ही हमारे शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड की कमी होती है, ब्लड प्रेशर बढ़ता है। ये मैं नहीं कह रहा, दुनियाभर की रिसर्च स्ट्डीज़ बताती हैं कि नाइट्रिक ऑक्साइड का कम होना ब्लड प्रेशर को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं।

जर्नल ऑफ क्लिनिकल हायपरेटेंस (2004) में 'नाइट्रिक ऑक्साइड इन हाइपरटेंशन' टाइटल के साथ छपे एक रिव्यु आर्टिकल में सारी जानकारी विस्तार से छपी है। और, नाइट्रिक ऑक्साइड की यही कमी इंसुलिन रेसिस्टेंस के लिए भी जिम्मेदार है। समझ आया खेल? नाइट्रिक ऑक्साइड कैसे बढ़ेगा जब इसे बनाने वाले बैक्टिरिया का ही काम तमाम कर दिया जा रहा है? ब्रिटिश डेंटल जर्नल में 2018 में तो बाकायदा एक स्टडी छपी थी जिसका टाइटल ही ’माउथवॉश यूज़ और रिस्क ऑफ डायबिटीज़’ था। इस स्टडी में बाकायदा तीन साल तक उन लोगों पर अध्धयन किया गया जो दिन में कम से कम 2 बार माउथवॉश का इस्तमाल करते थे और पाया गया कि 50% से ज्यादा लोगों को प्री-डायबिटिक या डायबिटीज़ की कंडिशन का सामना करना पड़ा।

दातून के फायदे

बबूल और नीम की दातून को लेकर एक क्लिनिकल स्टडी 'जर्नल ऑफ क्लिनिकल डायग्नोसिस एंड रिसर्च' में छपी और बताया गया कि स्ट्रेप्टोकोकस म्यूटेंस की वृद्धि रोकने में ये दोनों जबर्दस्त तरीके से कारगर हैं। ये वही बैक्टीरिया हैं जो दांतों को सड़ाता है और कैविटी का कारण भी बनता है। वो सूक्ष्मजीव जो नाइट्रिक ऑक्साइड बनाते हैं जैसे एक्टिनोमायसिटीज़, निसेरिया, शालिया, वीलोनेला आदि दातून के शिकार नहीं होते क्योंकि इनमें वो हार्ड केमिकल कंपाउंड नहीं होते जो माउथवॉश और टूथपेस्ट में डाले जाते हैं। 

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी फिटनेस व्यवस्था या चिकित्सकीय सलाह शुरू करने से पहले कृपया डॉक्टर से सलाह लें।

Diabetes: इस आसान से तरीके को अपना कर झट से करें ब्लड शुगर को कंट्रोल

Fatty Liver: क्या आपके बच्चे को नहीं लगती है भूख? हो जाइए सावधान, बच्चों में भी हो रही हैं लिवर की बीमारियां

डायबिटीज के मरीजों के लिए कारगर है कच्चा आम, इम्‍यूनिटी भी होती है बूस्ट, जानिए अन्य फायदे

Benefits of Chickpeas: प्रोटीन से भरे काबुली चने में छिपे हैं सेहत के कई गुण, क्या आप जानते हैं?

 

erussia-ukraine-news