ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला: आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल शुरू की

अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला: आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल शुरू की

तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने इस बात को माना है कि गुरुवार से मिशेल ने कुछ नही खाया है उसकी हेल्थ पर तिहाड़ के अधिकारियों ने नजर बनाई हुई है।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 27, 2021 11:52 IST
अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला: आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल शुरू की- India TV Hindi
Image Source : PTI अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला: आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल शुरू की

Highlights

  • वर्ष 2012 में मिशेल का नाम पहली बार अगस्ता वेस्टलैंड मामले में सामने आया था
  • वर्ष 2018 में दुबई से क्रिश्चियन मिशेल को भारत प्रत्यर्पित किया गया था

नई दिल्ली: अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआइपी हेलीकॉप्टर घोटाले के आरोपी क्रिश्चियन मिशेल ने तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल शुरू कर दी है। क्रिश्चियन मिशेल ब्रिटिश नागरिक है और उसने इस हेलीकॉप्टर डील में कथित तौर पर मिडिल मैन की भूमिका निभाई थी। तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने इस बात को माना है कि गुरुवार से मिशेल ने कुछ नही खाया है उसकी हेल्थ पर तिहाड़ के अधिकारियों ने नजर बनाई हुई है। 2012 में मिशेल का नाम अगस्ता वेस्टलैंड के पक्ष में सौदा कराने और भारतीय अधिकारियों को अवैध रूप से लाभ प्रदान करने वाले तीन बिचौलियों में से एक के रूप में सामने आया था।

अगस्ता वेस्टलैंड  हेलीकॉटर घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है और 2018 में दुबई से  क्रिश्चियन मिशेल को भारत डिपोर्ट किया गया था उसके बाद से वो तिहाड़ जेल में बन्द है।सूत्रों के मुताबिक मिशेल ने लीगल टीम के जरिए यूके के राष्ट्पति बारिश जॉनसन को एक लैटर भी लिखकर भूख हड़ताल पर जाने की बात कही थी। उन्होंने और उनकी कानूनी टीम ने लंबे समय से यह तर्क दिया है कि संयुक्त अरब अमीरात ने राजकुमारी की जब्ती और वापसी के बदले में उसके प्रत्यर्पण की अनुमति दी थी।

क्या है अगस्ता हेलिकॉप्टर घोटाला?

भारतीय वायुसेना के लिए 12 वीवीआईपी हेलि‍कॉप्टरों की खरीद के लिए एंग्लो-इतालवी कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ साल 2010 में किए गए 3 हजार 600 करोड़ रुपये के करार को जनवरी 2014 में भारत सरकार ने रद्द कर दिया। इस करार में 360 करोड़ रुपये के कमीशन के भुगतान का आरोप लगा। कमीशन के भुगतान की खबरें आने के बाद भारतीय वायुसेना को दिए जाने वाले 12 एडब्ल्यू-101 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की सप्लाई के करार पर सरकार ने फरवरी 2013 में रोक लगा दी थी। जिस वक्त करार पर रोक लगाने का आदेश जारी किया गया उस वक्त भारत 30 फीसदी भुगतान कर चुका था और तीन अन्य हेलीकॉप्टरों के लिए आगे के भुगतान की प्रक्रिया चल रही थी।

elections-2022