1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Mann ki Baat: पीएम मोदी ने 87वीं बार कही 'मन की बात', जानिए क्या हैं 10 खास बातें

Mann ki Baat: पीएम मोदी ने 87वीं बार कही 'मन की बात', जानिए क्या हैं 10 खास बातें

पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम की 87वीं कड़ी में देशवासियों को संबोधित किया। उन्होंने 10 खास बातें अपने कार्यक्रम में श्रोताओं से साझा कीं।

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: March 27, 2022 12:58 IST
PM Modi- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO PM Modi

Mann ki Baat: पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम की 87वीं कड़ी में देशवासियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि बीते सप्ताह में देश ने एक ऐसी उपलब्धि हासिल की। 400 बिलियन डॉलर 30 लाख करोड़ रुपए के एक्सपोर्ट का टारगेट अचीव किया। यह अर्थव्यवस्था से भी ज्यादा भारत के सामर्थ्य से जुड़ी बात है। पीएम ने कहा कि कभी 100 या 200 बिलियन एक्सपोर्ट हुआ करता था। आज 400 बिलियन डॉलर तक यह एक्सपोर्ट पहुंच गया है। इसके पीछे कारण यह है कि भारत की चीजों की विदेशों में डिमांड बढ़ रही है। सप्लाई चेन मजबूत हो रही है। इस अचीवमेंट पर पीएम ने कहा कि देश विराट कदम तब उठाता है, जब संकल्प मजबूत होते हैं और ईमानदारी से प्रयास होता है। संकल्प और प्रयास सपनों से भी बड़े हो जाते हैं तो सफलता खुद चलकर आती है। 

1. मेड इन इंडिया के संकल्प के पीछे देश के लोगों का सामर्थ्य

देशभर के बने प्रोडक्ट बाहर भेजे जा रहे हैं। हैंडलूम प्रोडक्ट, ब्लैक राइस, फल-सब्जियां आदि। नए-नए प्रोडक्ट्स नए नए देशों को भेजे जा रहे हैं। आम ​दक्षिण कोरिया में, त्रिपुरा का कटहल और नगालैंड ​की मिर्च लंदन, भालिया गेहूं की पहली खेप श्रीलंका और कीनिया जा रही हैं। मेड इन इंडिया प्रोडक्ट ज्यादा मात्रा में विदेशों को जा रहे हैं। यह लिस्ट बहुत बड़ी है उतना ही​ विराट भारत का सामर्थ्य है। इसका कारण किसान इंजीनियर, लघु उद्यमी, इसकी सच्ची ताकत हैें। इनकी मदद से ही 400 बिलियन डॉलर का यह लक्ष्य पूरा हो सका है। उन्होंने कहा कि एक—एक भारतवासी लोकल को ग्लोबल बनाने के लिए सभी को मिलकर आगे आना होगा।

2. पोर्टल से सरकार सीधे खरीद रही है प्रोडक्ट

लघु उद्यमी ई-मार्केट प्लेस के माध्यम से बड़ी भागीदारी निभा रहे हैं। पिछले एक साल में जैम पोर्टल के जरिए सरकार ने चीजें सीधे खरीदी हैं। अब देश बदल रहा है। पुरानी व्यवस्थाएं भी बदल रही हैं। पोर्टल पर कोई भी सामान भेज सकता है। इसी साहस के दम पर हम सभी आत्मनिर्भर भारत का सपना जरूर पूरा करेंगे।

3. मोदी ने कहा-7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाएंगे

पीएम मोदी ने स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता की बात करते हुए कहा कि हाल ही में पद्म समारोह में बाबा शिवानंद को सबने देखा होगा। पलक झपकते ही वे राष्ट्रपति के समक्ष पद्म पुरस्कारों के दौरान उनकी बारी आई तो नंदी मुद्रा में प्रणाम करने लगे थे। उनकी 126 वर्ष की आयु और उनकी फिटनेस की देशभर में चर्चा है। अपनी उम्र से वे 4 गुना से भी कम आयु वाले लोगों की तरह फिट हैं। उनमें योग के प्रति पैशन है। सरल जीवन जीते हैं। उनसे प्रेरणा लेना चाहिए। मोदी ने कहा कि हम 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस मनाएंगे।

4. मोदी बोले- '22 हजार करोड़ से 1.40 लाख करोड़ हो गई आयुष इंडस्ट्री'

पीएम मोदी ने कहा कि योग और आयुर्वेद के प्रति रूझान बढ़ता जा रहा है। अभी पिछले सप्ताह कतर में हेल्थ कार्यक्रम हुआ। 114 देशों ने इसमें भाग लिया था। आयुष इंडस्ट्री का बाजार बढ़ रहा है। यह 22 हजार करोड़ से बढ़कर 1 लाख 40 हजार करोड़ के आसपास पहुंच रही है। इस क्षेत्र में संभावनाएं लगातार बढ़ ही हैं। ये भारत के युवा उद्यमियों खासकर आयुष स्टार्टअप से मेरा आग्रह है कि जो भी कंटेंट आप क्रिएट करते हैं उन्हें यूएन द्वारा मान्यता प्राप्त भाषाओं में भी बनाएं। मुझे विश्वास है कि हमारे ​आयुष प्रोडक्ट्स जल्द ही दुनियाभर में छा जाएंगे।

5. पानी बचाने की अपील

मोदी ने जल संरक्षण और पानी की महत्ता के बारे में जागरूक किया। उन्होंने कहा कि मन की बात के श्रोताओं से आग्रह करूंगा कि पानी की एक-एक बूंद बचाने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए। पानी की रिसाइकलिंग के बारे में भी मोदी ने लोगों को बताया। जल संरक्षण हमारे समाज के स्वभाव का हिस्सा रहा है। अरुणजी अपने इलाकों में तालाबों को साफ करने की जिम्मेदारी उठा रहे हैं। महाराष्ट्र के रोहन काले सी​ढ़ी वाले पुराने कुओं को संचालित करने का जिम्मा उठा रहे हैं। ऐसे कई अन्य उदाहरणों से उन्होंने जलस्त्रोतों को संरक्षित करने पर बल दिया। उन्होंने गुजरात के जल मंदिर योजना का जिक्र किया, जिससे वाटर लेवल बढ़ा।

ये बातें भी रहीं खास

6. स्वच्छता

मन की बात में हमेशा स्वच्छता के प्रयासों के बारे में जिक्र किया जाता रहा है। उन्होंने चंद्रकिशोर व ओडिशा में पुरी के राहुल महाराणा के स्वच्छता के क्षेत्र में किए जा रहे प्रयासों का जिक्र किया और इनके प्रयासों से स्वच्छता के मामले में सीख लेने की अपील की।

7. समाजसेवा
केरल के मुपट्टम श्रीनारायाजी का जिक्र किया। वे पशु-पक्षियों के पानी के लिए मिट्टी के बर्तन बांटने का काम कर रहे हैं। बर्तनों का यह आंकड़ा 1 लाख को पार कर रहा है। 1 लाख वां बर्तन वे साबरमती आश्रम को दान में देंगे। उनका यह काम हम सबको प्रेरित करता है।

8. विविध भाषाओं में मिलते हैं संदेश
मन की बात की एक खूबसूरती यह भी है कि मुझे आपके संदेश बहुत सी भाषाओं और बहुत सी बोलियों में मिलते हैं। देश की विविधताएं हमारे देश की बहुत बड़ी ताकत है। यही विविधता हमें एक करके रखती हैं और एक भारत श्रेष्ठ भारत बनाती हैं। 

9. माधव मेले का जिक्र
पीएम मोदी ने माधव मेले का भी जिक्र किया। मोदी ने कहा कि माधवपुर मेला पोरबंदर में समुद्र के पास माधवपुर में लगता है। इस मेले से जुउ़ी पौराणिक कथा भी मोदी जी ने श्रोताओं को बताई। 

10. दो महानुभूतियों के कार्यों को याद किया
शहीद दिवस पर देश ने आजादी के महानायकों को याद किया। अप्रैल में दो महानुभूतियों महात्मा फुले 12 अप्रैल बाबा साहब आंबेडकर की जयंती 14 अप्रैल को मनाएंगे। दोनों के समाज के लिए किए गए कार्यों का जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि अगले माह बहुत से पर्व त्योहार आ रहे हैं। नवरात्रि आ रही है और रमजान भी आ रहे हैं। उन्होंने आने वाले पर्व और त्योहारों की शुभकामनाएं दी।