1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. तमिलनाडु में पीएम ने पुलवामा के शहीदों को दी श्रद्धांजलि, जानिए भाषण की बड़ी बातें

तमिलनाडु में पीएम ने पुलवामा के शहीदों को दी श्रद्धांजलि, जानिए भाषण की बड़ी बातें

पीएम मोदी ने कहा कि दो साल पहले पुलवामा हमला हुआ था। हम उस हमले में जान गंवाने वाले अपने सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं, हमें अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है। उनकी बहादुरी पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: February 14, 2021 13:48 IST
pm narendra modi remembers pulwama martyr big points of tamilnadu speech तमिलनाडु में पीएम ने पुलवाम- India TV Hindi
Image Source : ANI तमिलनाडु में पीएम ने पुलवामा के शहीदों को दी श्रद्धांजलि, जानिए भाषण की बड़ी बातें

चेन्नई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तमिलनाडु में थे। यहां उन्होंने भारतीय सेना के अध्यक्ष जनरल एम.एम. नरवणे को अर्जुन मेन बैटल टैंक(एमके-1ए) सौंपा। यहां एक कार्यक्रम में संबोधन के दौरान उन्होंने दो साल पहले कश्मीर के पुलवामा में शहादत देने वाले वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि दो साल पहले पुलवामा हमला हुआ था। हम उस हमले में जान गंवाने वाले अपने सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं, हमें अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है। उनकी बहादुरी पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी। आइए आपको बतातें हैं पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण की बड़ी बातें।

  1. मुझे स्वदेशी रूप से डिजाइन किए गए और बनाए गए अर्जुन मेन बैटल टैंक(एमके-1ए) को सौंपते हुए गर्व है। ये स्वदेशी गोलाबारूद का भी इस्तेमाल करता है। तमिलनाडु पहले ही भारत का ऑटोमोबाइल निर्माण का हब है,अब मैं तमिलनाडु को भारत के टैंक निर्माण के हब के रूप में विकसित होते देखता हूं।
  2. हम अपने सशस्त्र बलों को दुनिया में सबसे ज़्यादा मॉडर्न फोर्स बनाने की दिशा में आगे भी काम करते रहेंगे। इसी के साथ भारत को रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में फोकस तेज़ी के साथ आगे बढ़ेगा।
  3. हमारे सशस्त्र बलों ने कई बार दिखाया है कि वो मातृभूमि की रक्षा करने में पूरी तरह से समर्थ है। उन्होंने ये भी दिखाया कि भारत शांति में विश्वास करता है लेकिन भारत किसी भी हालत में अपनी संप्रभुता की रक्षा करेगा।
  4. श्रीलंका में मछुआरों को जब कभी पकड़ा जाता है तब हमने उनकी जल्द से जल्द रिहाई सुनिश्चित की है। हमारे कार्यकाल में 1600 से ज़्यादा मछुआरों को छुड़वाया गया, अभी ​श्रीलंका की हिरासत में कोई भारतीय मछुआरा नहीं है।
  5. तमिल अधिकारों का मुद्दा हमारे द्वारा श्रीलंका के साथ लगातार उठाया गया है। हम यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि वे समानता, न्याय, शांति और गरिमा के साथ रहें।
Click Mania
Modi Us Visit 2021