1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. विकास दुबे को पकड़ने के लिए 40 थानों की फ़ोर्स लगाई गई, 19 साथियों की हुई पहचान

विकास दुबे को पकड़ने के लिए 40 थानों की फ़ोर्स लगाई गई, 19 साथियों की हुई पहचान

कानपुर के चौबेपुर में गुरुवार देर रात दबिश देने गई पुलिस फोर्स पर हमला कर 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करनेवाले कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिे 40 थानों की फोर्स लगाई गई है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 05, 2020 0:23 IST
विकास दुबे को पकड़ने के लिए 40 थानों की फ़ोर्स लगाई गई, 19 साथियों की हुई पहचान - India TV Hindi
Image Source : PTI विकास दुबे को पकड़ने के लिए 40 थानों की फ़ोर्स लगाई गई, 19 साथियों की हुई पहचान 

कानपुर: कानपुर के चौबेपुर में गुरुवार देर रात दबिश देने गई पुलिस फोर्स पर हमला कर 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करनेवाले कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिे 40 थानों की फोर्स लगाई गई है। विकास के 19 साथियों की पहचान कर ली गई है। वहीं यह पता लगाने के लिए कहीं पुलिस के कुछ लोग भी उसके साथ मिले हुए तो नहीं थे, चौबेपुर थाने के हर पुलिसवाले की जांच की जा रही है।

कानपुर के चौबेपुर में बृहस्पतिवार देर रात दबिश देने गई पुलिस टीम पर हमला कर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले कुख्यात अपराधी विकास को पकड़ने के लिये पुलिस की 25 से अधिक टीम उत्तर प्रदेश और अन्य प्रदेशों में लगातार छापेमारी कर रही हैं लेकिन घटना के करीब 36 घंटे बाद भी वह पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक कुछ पुलिसकर्मियों से भी पूछताछ की जा रही है ताकि यह जाना जा सके कि दुबे को उसके घर पर पुलिस की छापेमारी के बारे में पहले से खबर कैसे लगी जिससे उसने पूरी तैयारी के साथ पुलिस दल पर हमला किया।

विकास दुबे के बारे में सही जानकारी देने वाले को पचास हजार रुपये का इनाम भी देने की घोषणा की है और जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखने की बात कही है। वहीं मुठभेड़ में घायल सात पुलिसकर्मियों का कानपुर के एक निजी अस्पताल में चल रहा है । जहां सभी की हालत स्थिर बतायी जा रही है । 

यह भी पढ़ें: विकास दुबे मामला: भाई के घर खड़ी मिली अंबेसडर कार, नहीं करवाया था रजिस्ट्रेशन

गौरतलब है कि बृहस्पतिवार देर रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू निवासी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को उसके गांव पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था जिसमें एक क्षेत्राधिकारी, एक थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए। मुठभेड़ में पांच पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक आम नागरिक घायल है। पहली मुठभेड़ में अपराधी पुलिसकर्मियों के हथियार भी छीन ले गये, जिनमें एके-47 रायफल, एक इंसास रायफल, एक ग्लाक पिस्टल तथा दो नाइन एमएम पिस्टल शामिल हैं। 

यह भी पढ़ें: देश के युवा Twitter, Facebook और TikTok जैसे भारतीय ऐप बनाएं: पीएम मोदी

इस मुठभेड़ के कुछ घंटे बाद हुई दूसरी पुलिस मुठभेड़ में पुलिस ने दो अपराधियों को मार गिराया था और उनके पास से लूटी गयी एक पिस्टल भी बरामद की थी। घटना के बाद शुक्रवार शाम कानपुर पहुंचे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चौबेपुर थानाक्षेत्र में अपराधियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी और घटना के लिए जिम्मेदार किसी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा। योगी ने शहीदों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने का भी एलान किया था। (इनपुट-भाषा)

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X