1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. जेवर एयरपोर्ट को बंद करने के लिए पहले की यूपी सरकार ने केंद्र को लिखी थी चिट्ठी: पीएम मोदी

जेवर एयरपोर्ट को बंद करने के लिए पहले की यूपी सरकार ने केंद्र को लिखी थी चिट्ठी: पीएम मोदी

मोदी ने कहा, आने वाले 2-3 सालों में जब यह एयरपोर्ट काम करना शुरू करेगा तो यूपी 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य बन जाएगा।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 25, 2021 15:56 IST
Narendra Modi, Narendra Modi Jewar international Airport, Jewar Airport- India TV Hindi
Image Source : PTI प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोएडा में आयोजित एक कार्यक्रम में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखी।

Highlights

  • पहले राजनीतिक लाभ के लिए आनन-फानन में रेवड़ियों की तरह इंफ्रा प्रोजेक्ट की घोषणाएं होती थी: पीएम मोदी
  • मोदी ने कहा, आज हर सामान्य देशवासी के लिए क्वॉलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर सुविधा सुनिश्चित की जा रही है।
  • हमारी राष्ट्रभक्ति और सेवा के सामने कुछ राजनीतिक दलों की स्वार्थ नीति कभी टिक नहीं सकती: पीएम मोदी

नोएडा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नोएडा में आयोजित एक कार्यक्रम में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखी। इस एयरपोर्ट के तैयार हो जाने के बाद उत्तर प्रदेश 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स वाला देश का एकमात्र राज्य बन जाएगा। कार्यक्रम में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी उपस्थित थे। इस मौके पर अपने संबोधन में पीएम मोदी ने एयरपोर्ट के काम में आनाकानी को लेकर पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना भी साधा।

‘पहले की सरकारों ने पश्चिमी यूपी के विकास को नजरअंदाज किया’

मोदी ने कहा, ‘आने वाले 2-3 सालों में जब यह एयरपोर्ट काम करना शुरू करेगा तो यूपी 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला राज्य बन जाएगा। यूपी में और केंद्र में पहले जो सरकारें रहीं, उन्होंने कैसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास को नजरअंदाज किया, उसका एक उदाहरण यह जेवर एयरपोर्ट भी है। 2 दशक पहले यूपी की बीजेपी सरकार ने इस प्रोजेक्ट का सपना देखा था, लेकिन बाद में यह एयरपोर्ट अनेक सालों तक दिल्ली और लखनऊ में पहले जो सरकारें रही उनकी खींचतान में उलझा रहा।’

‘मोदी-योगी चाहते तो 2017 में भूमि पूजन कर फोटो खिंचवा लेते’
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यूपी में पहले जो सरकार थी उसने तो बकायदा चिट्ठी लिखकर तब की केंद्र सरकार को कह दिया था कि इस एयरपोर्ट के प्रोजेक्ट को बंद कर दिया जाए। अब डबल इंजन की सरकार के प्रयास से आज हम उसी एयरपोर्ट की भूमिपूजन के साक्षी बन रहे हैं। मोदी-योगी भी अगर चाहते तो 2017 में सरकार बनते ही यहां आकर भूमि पूजन कर देते और फोटो खिंचवा देते, अखबार में प्रेस नोट भी छप जाता, अगर ऐसा हम करते तो पहले की सरकारों की आदत होने के कारण हम कुछ गलत कर रहे हैं ऐसा भी लोगों को नहीं लगता।’

‘पहले देरी का ठीकरा दूसरों पर फोड़ने की कसरत होती थी’
मोदी ने कहा, ‘पहले राजनीतिक लाभ के लिए आनन-फानन में रेवड़ियों की तरह इंफ्रा प्रोजेक्ट की घोषणाएं होती थी, कागजों पर लकीरें खींच दी जाती थीं, लेकिन प्रोजेक्ट जमीन पर कैसे उतरेंगे, धन का प्रबंध कहां से होगा, इसपर विचार ही नहीं होता था। इस कारण से प्रोजेक्ट दशकों तक तैयार नहीं होते थे। घोषणा हो जाती थी, प्रोजेक्ट की लागत कई गुना बढ़ जाती थी, फिर बहानेबाजी शुरू होती थी और देरी का ठीकरा दूसरों पर फोड़ने की कसरत होती थी। हमने ऐसा नहीं किया क्योंकि इंफ्रास्ट्रक्चर हमारे लिए राजनीति का नहीं बल्कि राष्ट्रनीति का हिस्सा है।’ 

‘हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि प्रोजेक्ट अटके या भटकें नहीं’
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि प्रोजेक्ट अटके या लटके या भटकें नहीं बल्कि यह सुनिश्चिl करने का प्रयास करते हैं कि तय समय के भीतर ही इंफ्रास्ट्रक्चर का काम पूरा किया जाए। देरी होने पर हमने जुर्माने का भी प्रावधान किया है। पहले किसानों की जमीनों को लेकर जिस तरह की गड़बड़ियां होती थीं, वे भी प्रोजेक्ट की देरी में बहुत बड़ा रोड़ा बन जाती थीं। यहीं आसपास पहले की सरकारों के दौरान के अनेक ऐसे प्रोजेक्ट हैं जिनके लिए किसानों से जमीन तो ली गई लेकिन उनमें या तो मुआवजे से जुड़ी समस्याएं रही या फिर सालों साल वो जमीन बेकार पड़ी है।’

‘अकेले यूपी में ही बीते वर्षों में 8 एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू हो चुकी हैं’
मोदी ने कहा, ‘हमने किसान हित में, देश हित में इन अड़चनों को भी दूर किया। आज हर सामान्य देशवासी के लिए क्वॉलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर सुविधा सुनिश्चित की जा रही है, आम नागरिक हवाई सफर कर सके यह सपना भी आज उड़ान योजना ने सफल किया है। अकेले यूपी में ही बीते वर्षों में 8 एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू हो चुकी है, कई पर अभी भी काम चल रहा है। हमारे देश में कुछ राजनीतिक दलों ने हमेशा अपने स्वार्थ को सर्वोपरि रखा, इन लोगों की सोच रही है अपना स्वार्थ सिर्फ अपना खुद का परिवार का या जहां रहते हैं उस इलाके का उसी को विकास मानते थे, जबकि हम राष्ट्र प्रथम की भावना पर चलते हैं।’

‘भारत ने 100 करोड़ वैक्सीन डोज के कठिन पड़ाव को पार किया’
पीएम ने कहा, ‘यूपी और देश के लोग गवाह हैं, बीते कुछ हफ्तों में कुछ राजनीतिक दलों द्वारा किस तरह की राजनीति हुई, लेकिन भारत विकास के रास्ते से नहीं हटा। कुछ समय पहले ही भारत ने 100 करोड़ वैक्सीन डोज के कठिन पड़ाव को पार किया है। इसी महीने की शुरुआत में भारत ने 2070 तक नेट जीरो के लक्ष्य का ऐलान किया है। कुछ समय पहले ही कुशीनगर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण किया गया। यूपी में ही एक साथ 9 मेडिकल कॉलेज की शुरुआत करके देश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत किया गया, महोबा, झांसी में घोषणाएं हुई, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे यूपी वासियों को समर्पित हुआ।’

‘हमारी राष्ट्रभक्ति के आगे कुछ दलों की स्वार्थ नीति टिक नहीं सकती’
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘हमारी राष्ट्रभक्ति और सेवा के सामने कुछ राजनीतिक दलों की स्वार्थ नीति कभी टिक नहीं सकती, आज देश में 21वीं सदी की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए अनेक आधुनिक प्रोजेक्ट्स पर तेजी से काम चल रहा है, यही गति एक सक्षम और सशक्त भारत की गारंटी है।’

bigg boss 15