1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. Budh Gochar: बुध की उल्टी चाल आपके लिए हो सकती है बेहद फायदेमंद, बस राशि के अनुसार करें ये उपाय

Budh Gochar: बुध की उल्टी चाल आपके लिए हो सकती है बेहद फायदेमंद, बस राशि के अनुसार करें ये उपाय

आचार्य इंदु प्रकाश से जानते हैं 3 जून तक वक्री बुध के विभिन्न राशि वालों पर क्या प्रभाव होंगे और उस स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए।

Jyoti Jaiswal Edited by: Jyoti Jaiswal @TheJyotiJaiswal
Published on: May 10, 2022 9:37 IST
Budh Gochar- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK Budh Gochar

Budh Gochar: 10 मई की शाम 5 बजकर 19 मिनट पर बुध वृष राशि में वक्री हो रहे हैं। यानि उल्टे चलने लगे हैं और इस तरह उल्टे चलते हुए ये, 3 जून की दोपहर 1 बजकर 31 मिनट पर अपनी गति बदलेंगे और ये उल्टा चलना बंद करके पुनः सीधे चलने लगेंगे यानि मार्गी हो जाएंगे और मार्गी गति से चलते हुए 2 जुलाई की सुबह 9 बजकर 44 मिनट पर मिथुन राशि में प्रवेश कर जायेंगे।

बुध के इस वक्री गोचर को समझने के लिये आपको मार्गी और वक्री का अर्थ समझना होगा। हमारे सौर मण्डल के सारे ग्रह एक दूसरे से लाखों किलोमीटर दूर हैं और सभी सूर्य का चक्कर लगाते रहते हैं, सबके अपने अपने परिक्रमा पथ हैं । सबकी तरह पृथ्वी का भी अपना परिक्रमा पथ है और वह भी सूर्य का चक्कर लगाती रहती है । कभी कभी पृथ्वी किसी धीमे चल रहे ग्रह के बगल से तेजी से गुजरती है तो धीमे चल रहा ग्रह पीछे छूटता जाता है जैसे वह उल्टी दिशा में जा रहा हो । आप सब ने अनुभव किया होगा कि अगर एक धीमे चल रही रेल गाड़ी के बगल से दूसरी रेल तेजी से गुजरे तो धीमी वाली रेल पीछे जाती हुई लगती है। जबकि वास्तव में वो उसे दिशा में जा रही होती है जिधर दूसरी जा रही होती है, लेकिन आभास होता है कि वो पीछे जा रही है। ठीक वही बात ग्रहों और पृथ्वी के बीच घटित होती है। इसी को वक्री कहते हैं ।

सूर्य और चंद्रमा हमेशा मार्गी रहते है तथा राहु और केतु हमेशा वक्री रहते हैं और बाकि पांच ग्रह पृथ्वी के सापेक्ष अपनी गति के कारण कभी मार्गी तो कभी वक्री होते रहते हैं। बुध, बुद्धि और वाणी के देवता हैं । जन्मपत्रिका में बुध का सीधा प्रभाव बिजनेस पर और दिमागी रूप से मेहनत वाले कामों पर पड़ता है, जबकि शरीर में इसका प्रभाव मुख्य रूप से गले और कन्धों पर रहता है । आचार्य इंदु प्रकाश से जानते हैं 3 जून तक वक्री बुध के विभिन्न राशि वालों पर क्या प्रभाव होंगे और उस स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए।

मेष राशि

वक्री बुध आपके दूसरे स्थान पर गोचर करेंगे । वक्री बुध के इस गोचर से आपको अपनी मेहनत का उचित फल प्राप्त होगा। आपके धन की स्थिति अच्छी होगी। आपको अचानक से धन लाभ हो सकता है। साथ ही आपको करियर में भी बेहतरी मिलेगी। इस दौरान आपको नई चीज़ों को जानने का, समझने का मौका मिलेगा। आपकी बौद्धिक क्षमता ठीक रहेगी। आपके शत्रु भी आपसे दूरी बनाकर रखेंगे। तो वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये अपने पास चांदी की कोई चीज़ रखें। 

वृष राशि

वक्री बुध आपके पहले स्थान पर गोचर करेंगे । वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से समाज में आपका मान-सम्मान या पद-प्रतिष्ठा इस बात से तय होगी कि आप 3 जून तक किस तरह का काम करते हैं या किस तरह के कामों में अपना सहयोग देते हैं। वैसे तो आपकी पत्रिका में राजा के समान सुख की प्राप्ति है । साथ ही अपने बच्चों के कामों पर विशेष रूप से नजर बनाकर रखनी चाहिए। वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये हरे रंग की चीज़ें मन्दिर में दान करनी चाहिए । 

मिथुन राशि

बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

Image Source : INDIA TV
बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

वक्री बुध आपके बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे । वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से आप अपना काम बनाने के लिये झूठ का सहारा ले सकते हैं, लेकिन दूसरों के गलत कामों में पड़ने से आपकी रातों की नींदें उड़ जायेंगी। आपको शैय्या सुख पाने के लिये कोशिश करनी पड़ सकती है। साथ ही आपको अपनी आमदनी भी संभलकर खर्च करनी चाहिए। आजीविका में कुछ उतार-चढ़ाव बन सकते हैं। लिहाजा वक्री बुध के अशुभ फलों से बचने के लिये 3 जून तक आपको अपने गले में एक पीले रंग का धागा पहनना चाहिए।

कर्क राशि

बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

Image Source : INDIA TV
बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

वक्री बुध आपके ग्यारहवें स्थान पर गोचर करेंगे । वक्री बुध के इस गोचर से आपको अचानक से धन लाभ का मौका मिलेगा । आपकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी । आपको हर तरह के सुख-साधनों की प्राप्ति होगी। साथ ही इस बीच अगर आपकी कोई इच्छा है तो वह भी जल्द ही पूरी हो जायेगी। इसके अलावा 3 जून तक आपकी संतान की पढ़ाई-लिखाई भी अच्छी रहेगी। तो वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये 3 जून तक अपने गले में तांबे का पैसा धारण करें । 

सिंह राशि

वक्री बुध आपके दसवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको करियर में कुछ दिक्कतें आ सकती हैं। साथ ही आपके पिता के करियर की गति भी इस बीच कुछ थम सकती है। इस दौरान आपको अपनी और अपने पिता की सेहत का ध्यान रखना चाहिए । जीभ का स्वाद आपको नुकसान पहुंचा सकता है। अतः खान-पान के मामले में आपको सतर्क रहना चाहिए। साथ ही वक्री बुध के अशुभ प्रभावों से बचने के लिये  3 जून तक आपको मां दुर्गा की उपासना करनी चाहिए । 

कन्या राशि

बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

Image Source : INDIA TV
बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

वक्री बुध आपके नवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको अपने भाग्य का साथ मिलेगा। आप जितनी मेहनत करेंगे, उसका पूरा-पूरा फल आपको मिलेगा। इस दौरन आपकी आर्थिक स्थिति भी ठीक बनी रहेगी। साथ ही आपका स्वास्थ्य भी इस बीच अच्छा रहेगा। वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये आपको 3 जून तक हरे रंग की चीज़ों को उपयोग में लाने से बचना चाहिए। साथ ही लोहे की लाल रंग की हुई गोलियां अपने पास रखनी चाहिए ।  

तुला राशि

वक्री बुध आपके आठवें स्थान पर गोचर करेंगे । वक्री बुध के इस गोचर से आपकी सेहत अच्छी बनी रहेगी। आप शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रहेंगे। आप अपने कार्य़ अच्छे से कर पायेंगे और नये विषयों पर अच्छे से विचार कर पायेंगे। साथ ही आपको अपनी मेहनत का अच्छा रिजल्ट भी जल्द ही मिलने की उम्मीद है। तो वक्री बुध के शुभ फलों को सुनिश्चित करने के लिये बुधवार के दिन मिट्टी के बर्तन में थोड़ा-सा शहद डालकर घर से दूर कहीं वीरान जगह पर दबा दें। 

वृश्चिक राशि

बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

Image Source : INDIA TV
बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

वक्री बुध आपके सातवें स्थान पर गोचर करेंगे । वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से जीवनसाथी के साथ आपके रिश्तों में अनबन हो सकता है। आपको अपने रिश्ते को संभालकर रखने की जरूरत है। साथ ही अपने जीवनसाथी का ख्याल भी रखने की जरूरत है। साथ ही 3 जून तक आपको वक्री बुध के अशुभ फलों से बचने के लिये मिट्टी के बर्तन में पानी में भिगे हुए हरे मूंग मन्दिर में दान करने चाहिए।

धनु राशि

वक्री बुध आपके छठे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से आप अपने विचारों से दूसरों को तुंरत प्रभावित करने में सक्षम होंगे। साथ ही आप खुले दिल वाले होंगे। जो भी करेंगे दिल खोलकर करेंगे। धैर्य रखने से आपकी सारी परेशानियों का हल अपने आप निकलता जायेगा। इस दौरान प्रिंटिंग, प्रेस और कागज, कलम से जुड़े लोगों को अच्छा फायदा मिलेगा। लिहाजा वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये कोई भी शुभ कार्य शुरू करने से पहले किसी कन्या का आशीर्वाद जरूर लें और हो सके तो उन्हें कुछ गिफ्ट भी दें।

मकर राशि

वक्री बुध आपके पांचवें स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर के प्रभाव से आपका मन पढ़ाई-लिखाई में लगेगा। इससे आपको विद्या का लाभ मिलेगा। गुरु से भी उचित सहयोग प्राप्त होगा। साथ ही लवमेट के साथ रिश्तों में मधुरता आयेगी। आपको ये सभी शुभ फल सामान्य रूप से प्राप्त होते रहेंगे। लिहाजा वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और किसी भी प्रकार की अशुभ स्थिति से बचने के लिये 3 जून तक गाय को रोटी खिलानी चाहिए साथ हो गाय की सेवा करें ।

कुम्भ राशि

वक्री बुध आपके चौथे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से आपको भूमि-भवन और वाहन का लाभ मिलेगा। आपको अपनी मेहनत का उचित फल प्राप्त होगा और आपको भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी। आपको अपनी माता का पूरा सहयोग मिलेगा। आपकी सेहत भी ठीक बनी रहेगी। लवमेट्स के साथ रिश्ते अच्छे बने रहेंगे। साथ ही वक्री बुध के शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये केसर का तिलक अपने मस्तक पर लगाना चाहिए। 

मीन राशि

बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

Image Source : INDIA TV
बुध गोचर का राशियों पर प्रभाव

वक्री बुध आपके तीसरे स्थान पर गोचर करेंगे। वक्री बुध के इस गोचर से भाई-बहनों के साथ आपके रिश्ते बेहतर होंगे। आपके सारे काम बनेंगे। आपको अपने कामों में भाई-बहनों से भी पूरा सहयोग प्राप्त होगा। इस दौरान आपकी आर्थिक स्थिति ठीक रहेगी। आप दूसरों को अपनी बातों से प्रभावित करने में भी सफल होंगे। तो वक्री बुध के अति शुभ फल प्राप्त करने के लिये 3 जून तक सुबह उठकर फिटकरी से अपने दांत साफ करें। 

इसे भी पढ़ें-

Aaj Ka Rashifal 10 May 2022: वृष राशि वाले जातकों को करियर में मिलेगी सफलता, जानिए अन्य राशियों का हाल

Vastu Tips: घर में लगाएं तुलसी का पौधा, नहीं होगी धन की कमी

Vastu Tips: इस दिशा में रखें फ्रिज, हो जाएंगे मालामाल, जाग जाएगी सोई हुई किस्मत