1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अनिल अंबानी के बदल रहे हैं दिन? घटने लगा रिलायंस कैपिटल का शुद्ध घाटा

अनिल अंबानी के बदल रहे हैं दिन? घटने लगा रिलायंस कैपिटल का शुद्ध घाटा

कारोबारी अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कैपिटल का नुकसान दिनों दिन घटता जा रहा है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: August 07, 2021 11:35 IST
अनिल अंबानी के बदल...- India TV Paisa
Photo:RELIANCE ADAG

अनिल अंबानी के बदल रहे हैं दिन? घटने लगा रिलायंस कैपिटल का शुद्ध घाटा 

नयी दिल्ली। कारोबारी अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कैपिटल का नुकसान दिनों दिन घटता जा रहा है। रिलायंस कैपिटल ने शुक्रवार को बताया कि 30 जून, 2021 को समाप्त चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध घाटा 1,006 करोड़ रुपये रहा। अनिल अंबानी के रिलायंस एडीएजी समूह की वित्तीय इकाई ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा कि उसे इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1,095 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। पिछली तिमाही के आधार पर हालांकि उसका घाटा कम हुआ है। 

जनवरी-मार्च 2021 तिमाही ने उसका शुद्ध घाटा 1,649 करोड़ रुपये था। रिलायंस कैपिटल ने बताया कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उसकी आय 4,448 करोड़ रुपये रही, जो बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही में 4,287 करोड़ रुपये रही थी। कंपनी ने बताया कि इस दौरान उसका खर्च 5,261 करोड़ रुपये रहा। पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह 5,249 करोड़ रुपये था।

पढें-  हिंदी समझती है ये वॉशिंग मशीन! आपकी आवाज पर खुद धो देगी कपड़े

पढें-  किसान सम्मान निधि मिलनी हो जाएगी बंद! सरकार ने लिस्ट से इन लोगों को किया बाहर

सेल को 3,897 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ

घरेलू इस्पात विनिर्माता स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) को चालू वित्त वर्ष की जून में समाप्त पहली तिमाही में 3,897.36 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ हुआ है। इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में कंपनी को 1,226.47 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। बीएसईको भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय दोगुना होकर 20,754.75 करोड़ रुपये रही। जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह 9,346.21 करोड़ रुपये थी। सेल के कुल खर्च इस दौरान 15,604.07 करोड़ रुपये रहा, जो बीते वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में 11,325.10 करोड़ रुपये था। इस्पात मंत्रालय के तहत आने वाली सेल देश की सबसे बड़ी इस्पात विनिर्माता कंपनी है। कंपनी की वार्षिक उत्पादन क्षमता 2.1 करोड़ टन है। 

पढें-  Aadhaar के बिना हो जाएंगे ये काम, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर जरूरत को किया खत्म

पढें-  Amazon के नए 'लोगो' में दिखाई दी हिटलर की झलक, हुई फजीहत तो किया बदलाव

Write a comment
bigg boss 15