1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. ब्रिटेन में बिकेगा अब त्रिपुरा का कटहल, अनानास और नींबू का पहले से किया जा रहा है निर्यात

ब्रिटेन में बिकेगा अब त्रिपुरा का कटहल, अनानास और नींबू का पहले से किया जा रहा है निर्यात

यह एक ट्रायल कंसाइनमेंट है और अगर इन उत्पादों को विदेशों में अच्छा बाजार मिलता है, तो आगे इस तरह के निर्यात के होने की और भी उम्मीद है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: May 22, 2021 18:20 IST
Tripura starts exporting jackfruits to UK- India TV Paisa
Photo:FILE PHOTO

Tripura starts exporting jackfruits to UK

अगरतला।  पश्चिम एशिया में अनानास और नींबू का सफलतापूर्वक निर्यात करने के बाद त्रिपुरा अब ब्रिटेन को कटहल का निर्यात करने जा रहा है। परीक्षण के रूप में, 350 कटहल की एक खेप गुरुवार को नई दिल्ली भेजी गई जहां से उसे ब्रिटेन भेजा जाएगा। त्रिपुरा बागवानी विभाग के निदेशक डॉ फणीभूषण जमातिया ने कहा कि केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण के माध्यम से 300 कटहल (1,200 किलोग्राम) दिल्ली से लंदन भेजे गए हैं।

जमातिया ने बताया कि त्रिपुरा बागवानी विभाग के माध्यम से गुवाहाटी स्थित एक निर्यात एजेंसी ने मेलाघर (पश्चिमी त्रिपुरा के सिपाहीजाला जिले में) किसानों से कटहल लेकर गुरुवार को उन्हें दिल्ली भेज दिया। उन्होंने कहा कि यह एक ट्रायल कंसाइनमेंट है और अगर इन उत्पादों को विदेशों में अच्छा बाजार मिलता है, तो आगे इस तरह के निर्यात के होने की और भी उम्मीद है।

त्रिपुरा के कृषि और पर्यटन मंत्री प्रणजीत सिंघा रॉय ने एक ट्वीट में कहा कि इंग्लैंड को मिलेगा त्रिपुरा के मीठे कटहल का स्वाद। पहली बार त्रिपुरा कटहल का निर्यात कर रहा है, जिसमें अपार संभावनाएं हैं। पहली खेप भेज दी गई है। राज्य की रानी अनानास के बाद अब कटहल भी निर्यात सूची में है। हमारे किसानों, कृषि और बागवानी विभाग को प्रणाम। राज्य की रानी अनानास के बाद अब कटहल भी निर्यात की सूची में शामिल हो गया है। इसका श्रेय हमारे किसानों, कृषि और बागवानी विभाग को जाता है।

निर्यात कारोबार करने वाली गुवाहाटी की एक कंपनी ने एक कटहल की कीमत 30 रुपये तय की है। जमातिया ने बताया कि पहली खेप गुरुवार को गुवाहाटी भेज दी गई है। फिर इसे शुक्रवार को दिल्ली के रास्ते ब्रिटेन भेजा गया। उन्होंने कहा कि निर्यात की खेप को आधिकारिक तौर पर कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) के अधिकारियों द्वारा नई दिल्ली से एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में हरी झंडी दिखाई गई। जमातिया ने कहा कि अगर परीक्षण सफल रहा, तो गुवाहाटी की कंपनी हर सप्ताह पांच टन कटहल खरीद सकती है।

 

 
Write a comment
bigg boss 15