Saturday, April 20, 2024
Advertisement

क्यों पैकेट का आटा स्वास्थ के लिए सही नहीं माना जाता, इन बीमारियों को पैदा कर सकता है

Packaged Atta Side Effects: शहरों में रहने वाले ज्यादातर लोग पैकेट बंद आटा इस्तेमाल करते हैं, लेकिन लंबे समय तक इस आटे से बनी रोटियां खाने से सेहत को नुकसान हो सकता है। इससे मोटापा और डायबिटीज जैसी बीमारियां पैदा हो सकती हैं। जानिए कैसे होना चाहिए आपको आटा जिससे सेहत को मिले भरपूर फायदा?

Bharti Singh Written By: Bharti Singh
Published on: February 24, 2024 7:39 IST
Packet Flour Side Effects- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK पैकेट बंद आटे के नुकसान

आजकल लोग मार्केट में मिलने वाला पैकेट इस्तेमाल करते हैं। खासतौर से मेट्रो सिटीज में रहने वाले लोगों के पास इसके अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी जिस रोटी को आप बड़े स्वाद से खाते हैं वो रोटी आपको धीरे-धीरे बीमार बना रही है। जी हां आपका अनार और वो कैसा पिसा है इससे आपकी सेहत पर काफी असर पड़ता है। मार्केट में मिलने वाले पैकेट बंद आटे में कई तरह के प्रिजर्वेटिव्स मिलाए जाते हैं और इसे काफी बारीक पीसा जाता है जो अन्न के सारे पोषक तत्वों को खत्म कर देता है।

स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है पैकेट बंद आटा

आपको बता दें कि मार्केट में मिलने वाले आटे को इतना बारीक पीसा जाता है कि इसके ज्यादातर पोषकतत्व खत्म हो जाते हैं। इस आटे में फाइबर बिल्कुल न के बराबर होता है। ऐसे में पैकेट वाले आटे की रोटी को पचाना मुश्किल हो जाता है। आटे को सफेद बनाने के लिए कई बार इसमें घटिया क्वालिटी के चावल मिक्स कर दिए जाते हैं। वहीं आटे को लंबे समय तक खराब होने से बचाने के लिए कैमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। लंबे समय तक पैकेट बंद आटा खाने से मोटापा, डायबिटीज और पाचन संबंधी बीमारियां बढ़ने का खतरा रहता है। स्वास्थ्य के लिहास से ये आटा बिल्कुल ठीक नहीं है। अगर आप हेल्थ को लेकर अलर्ट रहते हैं तो सबसे पहले अपने आटे को बदल लें।

सेहत के लिए ऐसा होना चाहिए आटा 

स्वास्थ्य के लिहास से आपको आटा बदल-बदल कर खाना चाहिए। आप चाहें तो मल्टीग्रेन आटे का इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि ये आटा पैकेट बंद नहीं होना चाहिए। इसके लिए आप नजदीक में कोई चक्की खोज लें जहां से अपने सामने आटा पिसवा कर लेकर आएं। चक्की में पिसे आटे में चोकर ज्यादा होता है जो पेट और पाचन के लिए बेहतर होता है। ज्यादा फाइबर वाला आटा खाने से मोटापा कम होता है और डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद मिलती है। गेहूं के आटे में मक्का, ज्वार, रागी, सोयाबीन और चना मिक्स करके पिसवा लें। ये आपकी सेहत के लिए सबसे अच्छा होगा। सर्दियों में ज्वार की जगह बाजरा को आटे में मिक्स करवा लें। 

वजन बढ़ने के हो सकते हैं ये कारण, पता करने के लिए जरूर करवा लें ये 4 मेडिकल टेस्ट

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement