Stomach Cancer Awareness Month: जानिए स्टमक कैंसर अवेयरनेस मंथ से जुड़ी खास बातें एवं स्टमक कैंसर के लक्षण और बचाव

Stomach Cancer Awareness: पेट के कैंसर को अन्य कैंसर की तुलना में ज्यादा गंभीर माना जाता है। इसलिए पेट के कैंसर के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए नवंबर महीने को स्‍टमक कैंसर अवेयरनेस मंथ के रूप में मनाया जाता।

Sushma Kumari Edited By: Sushma Kumari @ISushmaPandey
Published on: November 21, 2022 18:59 IST
Stomach Cancer Awareness Month- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK Stomach Cancer Awareness Month

Stomach Cancer Awareness Month: पिछले कुछ सालों में कैंसर बहुत तेजी से पुरे देश में फैला है। इस बीमारी से पीड़ित लोगों की संख्या में लगातार बढ़ती जा रही है। आज हालत ये है की कैंसर एक आम बीमारी जरूर बन गई है, लेकिन अगर ध्यान न दिया जाए तो इस बीमारी को गंभीर रूप लेने में वक्त भी नहीं लगता। कैंसर अलग-अलग तरह के होते हैं और आज हम आपको पेट के कैंसर के बारे में बताएंगे। बता दें कि हर साल नवंबर के महीने में स्टमक कैंसर अवेयरनेस मंथ मनाया जाता है। इस साल स्‍टमक कैंसर अवेयरनेस मंथ की थीम है रखी गई है 'आंत मुक्‍त करें।'  इस थीम का मुख्य उद्देश्‍य है कि वैसे खाने-पिने की चीजों से दूरी बनाएं जिसमें सोडियम नाइट्राइट की मात्रा ज्यादा होती है।

 क्या है स्टमक कैंसर?

 पेट का कैंसर यानी स्टमक कैंसर एक तरह का सिस्ट होता है, जो पेट की आंत और महिलाओं के यूटरस में हो सकता है। वैसे तो इसके लक्षणों को समझना थोड़ा कठिन होता है, लेकिन अगर शरीर में होने वाले बदलाव को इग्नोर ना किया जाए तो इससे बचने में मदद मिल सकती है।  

इन 2 विटामिन की कमी वाले लोग ज्यादा होते हैं गुस्सैल और चिड़चिड़े, आज ही जानें और डाइट में करें शामिल

पेट के कैंसर के लक्षण

  • बार-बार चक्कर आना
  •  हर समय थकान महसूस होना
  •  स्टूल का रंग ब्लैक आना
  •  उलटी जैसा महसूस होना
  •  सीने में जलन और भारीपन महसूस होना
  •  भूक कम लगना या बिलकुल नहीं लगना
  •  तेजी से वजन काम होना

 बवासीर में अजवाइन के फायदे हैं अनेक, रोजाना इन 3 तरीकों से करें इसका सेवन

  क्यों होता है पेट का कैंसर

 ज्यादातर विशेषज्ञों की मानें तो पेट के कैंसर की मुख्य वजह तनाव को माना गया है यानी जो लोग तनाव में अधिक होते हैं उनमे पेट के कैंसर की आशंका बढ़ जाती है। इस कैंसर के होने का कोई स्पष्ट कारण नहीं है,  यदि हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में छोटे छोटे बदलाव करें तो पेट में होने वाले कैंसर के जोखिम को काम किया जा सकता है।

आपका दिन चाहें कितना भी काम के बोझ से भरा हो। अगर आप नियमित व्यायाम करने की आदत डाल लें तो आप बहुत हद तक अपने आप को तंदरुस्त महसूस करेंगे।। अपने लाइफस्टाइल में अल्कोहल और धूम्रपान को नियंत्रण में रखें।। अगर आपको लम्बे समय से पेट की परेशानी हो रही है तो उसे गंभीरता से लें और डॉक्टर से संपर्क करके उचित इलाज तुरंत शुरू कर दें।

 पेट के कैंसर का इलाज

 इस कैंसर का इलाज सर्जरी या रेडिएशन थेरेपी के जरिए आसानी से हो जाता है, कुछ हद तक ये मरीज़ की हालत पर भी निर्भर करता है।। यदि आप पेट के कैंसर से ग्रसित हैं तो अपने खाने में ज्यादा से ज्यादा प्रोटीन की मात्रा रखे। समय समय पर अपने डॉक्टर से अपनी बीमारी के बारे में टेस्ट के जरिये नजर रखें। अच्छी सेहत हमें ईश्वर द्वारा दिया हुआ एक नायब तोहफा है इसे कभी भी नजरअंदाज न करें। अगर कोई आपका साथ हमेशा निभाता है, तो वो आपकी अच्छी सेहत ही है।इसे हमेशा स्वस्थ रखने के लिए नियमित व्यायाम करें, मैडिटेशन करें और समय समय पर अपना हेल्थ चेक उप जरूर करवाते रहें।

 Yoga Tips: सर्दियों में दिल पर मंडराने लगता है खतरा, स्वामी रामदेव से जानिए कैसे रखें अपने Heart का ख्याल

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन