1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. अस्थमा के इन लक्षणों को न करें इग्नोर, जानिए मेथी का पानी फेफड़े को कैसे बनाएगा मजबूत

अस्थमा के इन लक्षणों को न करें इग्नोर, जानिए मेथी का पानी फेफड़े को कैसे बनाएगा मजबूत

Tips For Asthma: W.H.O की स्टडी के मुताबिक भारत में अस्थमा की 7 बड़ी वजह क्लाइमेंट चेंज, केमिकल का इस्तेमाल, पॉल्यूशन-डस्ट, लेस फिजिकल एक्सरसाइज, खराब लाइफस्टाइल और स्ट्रेस हैं।

Sushma Kumari Written by: Sushma Kumari @ISushmaPandey
Updated on: June 25, 2022 11:38 IST
Tips For Asthma- India TV Hindi News
Image Source : INDIA TV Tips For Asthma

Tips For Asthma: एक रिसर्च के अनुसार, कोरोनाकाल में हेल्दी फूड खाने और मास्क लगाने से डॉक्टर के पास पहुंचने वाले अस्थमा मरीजों की संख्या 80 प्रतिशत तक घट गई थी। अस्थमैटिक बच्चे 12% से सिर्फ 5 से 6 % रह गए तो बड़ों की गिनती 4% से घटकर  2% रह गई। लेकिन जैसे ही कोरोना से राहत मिली लोग फिर अपने पुराने तौर तरीकों पर लौट गए।

नतीजा अस्थमा पेशेंट्स अब 3 गुना बढ़ गए हैं क्योंकि मास्क न लगाने से बाहरी एलर्जी डायरेक्ट सांसों के जरिए लंग्स पर अटैक कर रही है।  आपको बता दें कि अस्थमा के 50% मामले एलर्जी की वजह से सामने आते हैं। 

वहीं W.H.O की स्टडी के मुताबिक भारत में अस्थमा की 7 बड़ी वजह क्लाइमेंट चेंज, केमिकल का इस्तेमाल, पॉल्यूशन-डस्ट, लेस फिजिकल एक्सरसाइज, खराब लाइफस्टाइल और स्ट्रेस हैं।

हालांकि वजह चाहे कुछ भी हो, जरूरत है सांसों के लिए सुरक्षा चक्र बनाया जाए क्योंकि भारत में पहले ही 3 करोड़ से ज़्यादा अस्थमा पेशेंट्स हैं। इसलिए अभी से लंग्स की सेफ्टी के लिए कदम उठाने जरूरी हैं क्योंकि अस्थमा से लंग्स तो कमजोर होते ही हैं, कई बार अस्थमा अटैक जानलेवा भी साबित होता है। 

लेकिन आयुर्वेद में इस खतरनाक बीमारी के क्योर का दावा किया जाता है। ऐसे में योगगुरू स्वामी रामदेव न सिर्फ अस्थमा को जड़ से खत्म करने के उपाय जानेंगे बल्कि ये भी उनसे जानेंगे कि सांसों के 7 दुश्मन से बचने के लिए लंग्स फौलादी कैसे बनाएं? आइए जानते हैं। 

अस्थमा के लक्षण

  1. बार-बार खांसी होना
  2. सांस लेते समय सीटी की आवाज
  3. छाती में जकड़न
  4. दम फूलना
  5. खांसी के साथ कफ न निकल पाना
  6. बेचैनी होना

अस्थमा के लिए कारगर योगासन

यौगिक जॉगिंग

  1. अस्थमा की समस्या में कारगर
  2. फेफड़ों में ऑक्सीजन बढ़ाएं
  3. जांघ की मंसपेशियों के लिए फायदेमंद
  4. शरीर को सुडौल और फिट बनाएं
  5. शरीर को ऊर्जावान बनाएं
  6. सभी अंगों को करें एक्टिव

सूर्य नमस्कार

  1. फेफड़ों में ऑक्सीजन बढ़ाएं
  2. महिलाओं को इम्यूनिटी बढ़ाएं
  3. फेफड़ों कर ऑक्सीजन पहुंचाए
  4. वजन बढाने में मददगार
  5. एनर्जी लेवल को बढ़ाने में करे मदद
  6. पाचन तंत्र को करे ठीक
  7. शरीर की ऊर्जा बढ़ाए

उष्ट्रासन

  1. फेफड़ों को रखे स्वस्थ
  2. टखने को दर्द करे
  3. पाचन प्रणाली को रखे ठीक
  4. तनाव और चिंता को करें कम

मकरासन

  1. फेफड़ों के रोगों को दूर करें
  2. डायबिटीज के बचाने में कारगर
  3. क्रोध, चिड़चिड़ापन को करें कम
  4. मानसिक रोगों में कारगर
  5. तनाव दूर करता है 

भुजंगासन

  1. फेफड़ों और कंधों को करे स्ट्रेच
  2. रीढ़ की हड्डी को करे मजबूत
  3. गर्दन की मांसपेशियों को करें खिंचाव
  4. फेफड़ों को करे मजबूत

शलभासन

  1. फेफड़ों को करे मजबूत
  2. शरीर को मजबूत और लचीला बनाए
  3. किडनी के रोगों में कारगर
  4. बुरी आदतों से दिलाए निजात

धनुरासन

  1. फेफड़ों की क्षमता बढ़ाएं
  2. हड्डियों को बनाए मजबूत
  3. सीने में करे खिंचाव
  4. सांस लेने की सिस्टम को रखें ठीक 
  5. अस्थमा में फायदेमंद
  6. कब्ज और गैस से दिलाए निजात

मर्कटासन

  1. पीठ दर्द से निजात
  2. रीढ़ की हड्डी संबंधी हर समस्या से निजात
  3. सर्वाइकल दर्द को करे कम
  4. गैस्ट्रिक में कारगर
  5. गुर्दे के लिए फायदेमंद।

मंडूकासन

  1. लिवर और किडनी को रखें स्वस्थ
  2. वजन घटाने में करे मदद
  3. पैंन्क्रियाज में इंसुलिन  की मात्रा को बढ़ाए
  4. गैस और  कब्ज की समस्या से दिलाए निजात
  5. डायबिटीज के मरीजों के लिए कारगर।

वक्रासन

  1. अस्थमा के मरीजों के कारगर
  2. कब्ज को रोकने में करे मदद
  3. पेट पर पड़ने वाले दबाब को करे कम
  4. पेट की कई समस्याओं को करे कम
  5. पाचन क्रिया करे सही

गोमुखासन

  1. फेफड़ों की कार्यक्षमता को बढ़ाए
  2. पीठ, बाहों को करे मजबूत
  3. रीढ़ की हड्डी को करे मजबूत

अस्थमा से निजात पाने के लिए प्राणायाम

  1. भस्त्रिका
  2. कपालभाति
  3. भ्रामरी
  4. उज्जायी
  5. अनुलोम-विलोम

मेथी का पानी फेफड़े को बनाएगा मजबूत

फेफड़ों को हेल्दी रखने के लिए मेथी का सेवन फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए आप मेथी का पानी या मेथी की चाय पी सकते हैं। इससे कफ कम होता है। फेफड़े खाली हो जाने से लंग्स में इंफेक्शन का खतरा भी कम होता है। अस्थमा, ब्रोंकाइटिस और कोरोना वायरस जैसी बीमारियों में फेफड़ों में इंफेक्शन हो जाता है। इसकी वजह से कफ अधिक मात्रा में छाती में जमा होने लगती है। ऐसे में मेथी का पानी या मेथी की चाय पीने से यह जमा कफ शरीर से बाहर निकल जाती है। 

(डिस्क्लेमर: इस लेख में व्यक्त विचार लेखक के हैं। इंडिया टीवी इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता। )

ये भी पढ़ें - 

Uric Acid: बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम कर सकते हैं अखरोट और प्याज के नुस्खे, जानिए इस्तेमाल का सही तरीका 

Diabetes: स्किन पर दिखता है ब्लड शुगर बढ़ने का असर, ये संकेत दिखे तो हो जाइए सावधान

Flax Seeds: हाई बीपी की समस्या हो या मोटापे से हों परेशान? छोटी सी अलसी दूर करती है बड़े-बड़े रोग

High Blood Sugar Control: धनिए के पानी से कंट्रोल करें डायबिटीज, जानिए कैसे करें इसका सेवन

Latest Health News