25% युवाओं में होती है ये बीमारी, पैरों में नजर आता है नीली नसों का मकड़जाल

वैरिकोज वेन्स (varicose veins) की समस्या, आजकल बहुत से लोगों में देखने को मिल रही है। ऐसे में जानते हैं क्या है ये बीमारी, कारण और लक्षण।

Pallavi Kumari Written By: Pallavi Kumari
Published on: December 04, 2022 21:48 IST
Varicose_veins - India TV Hindi
Image Source : FREEPIK Varicose_veins

वैरिकोज वेन्स (varicose veins), सुनने में ही लग रहा है कि कोई अजीब बीमारी होगी। तो, ऐसा है भी क्योंकि ये नसों की बीमारी है जिसमें कि नसें बड़ी हो कर फैल जाती हैं और खून से भर जाती हैं। देखने में आपको ऐसा लगेगा कि इन नसों पर एक भार पड़ रहा है जिसकी वजह से आपको तेज दर्द भी महसूस हो सकता है। दरअसल, असल में ये मकड़जाल जैसी दिखती हैं और इसलिए वैरिकाज नसें कहलाती हैं। ये सूजी हुई और उभरी हुई दिखाई देती हैं और इनका रंग नीला-बैंगनी या लाल होता है। आमतौर पर ये समस्या महिलाओं को ज्यादा होती है। लेकिन, एक हेल्थ वेबसाइट की मानें तो, आज कल 25% युवाओं में भी यह बीमारी है। क्यों? जानते हैं। 

वैरिकोज वेन्स का कारण-Varicose veins causes in hindi

वैरिकोज वेन्स की समस्या में अक्सर आपकी नसें कमजोर या क्षतिग्रस्त हो जाती हैं जो कि वाल्व वैरिकाज नसों का कारण बनती हैं। इसे ऐसे समझें कि धमनियां खून को हृदय से शरीर के बाकी हिस्सों में ले जाती हैं। नसें शरीर के बाकी हिस्सों से खून को हृदय में लौटाती हैं। खून को वापिल लौटाने के लिए पैरों की नसों को गुरुत्वाकर्षण के विरुद्ध काम करना चाहिए। ऐसे में ब्लड पंपिंग के दौरान, नसों में छोटे वाल्व खुलते हैं, फिर खून को पीछे की ओर बहने से रोकने के लिए बंद हो जाते हैं। लेकिन, जब ये वाल्व कमजोर या क्षतिग्रस्त हैं, तो खून पीछे की ओर बह सकता है और नसों में जमा हो सकता है, जिससे नसें खिंचती या मुड़ जाती हैं और यही वैरिकाज़ नसों की समस्या कहलाती हैं। ये नसें कई कारणों से कमजोर हो जाती हैं जैसे कि

-उम्र बढ़ने के कारण, नसों का कमजोर होना
- महिलाओं में पीरियड्स से पहले या प्रेगनेंसी के दौरान हार्मोनल परिवर्तन के कारण
-युवाओं में बर्थ कंट्रोल पिल्स के कारण
-मोटापा के कारण
-हाई हील्स के कारण
-लंबे समय तक खड़े रहना या बैठने की वजह से

हाई बीपी और गैस समेत इन 4 समस्याओं में पिएं ठंडा दूध, जानें सेहत के लिए इसके खास फायदे

वैरिकोज वेन्स के लक्षण-Varicose veins symptoms in hindi

वैरिकाज वेन्स में नसों के ऊपर दर्द, सूजन, भारीपन और दर्द महसूस हो सकता है। इसके अलावा जगह-जगह पर नीली नसों का मकड़जाल दिखता है।

शकरकंद की तासीर ठंडी होती है या गर्म? जानें किन लोगों के लिए इसका सेवन है फायदेमंद

वैरिकोज वेन्स के उपाय-Varicose veins prevention in hindi

वैरिकोज वेन्स से बचने के उपाय कई हैं। ऐसे में सबसे पहले मांसपेशियों की टोनिंग करें और फिर इन बातों का ध्यान रखें।
-अपने बैठने या खड़े होने की स्थिति को नियमित रूप से बदलना
-हाई हील्स से परहेज करें
-हाई फाइबर फूड्स का सेवन करें।
-एक्सरसाइज करें।
साथ ही बैठने या लेटने पर अपने पैरों को ऊपर उठाएं और अपना वजन संतुलित रखें। 

(Disclaimer: ये आर्टिकल सामान्य जानकारी के लिए है, किसी भी उपाय को अपनाने से पहले डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें)

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन