1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. थाली में शामिल कीजिए तीन तरह के अनाज से बनी रोटियां, वेट कंट्रोल का मिशन होगा पूरा

थाली में शामिल कीजिए तीन तरह के अनाज से बनी रोटियां, वेट कंट्रोल का मिशन होगा पूरा

वजन कम करने के लिए आपको आटा बदलने की जरूरत है। बाजरा, जौ और रागी के आटे से बनी रोटी खाने से वजन कम करने में आपको मदद मिलेगी।

India TV Health Desk India TV Health Desk
Updated on: October 21, 2021 14:25 IST
 bajra ragi and jowar atta roti in diet to lose weight flat tummy naturally- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK.COM  bajra ragi and jowar atta roti in diet to lose weight flat tummy naturally

खराब दिनचर्या और खानपान के कारण आज के समय में अधिकतर लोग मोटापे का शिकार हो रहे हैं। एक रिसर्च के अनुसार भारत में करीब 60-70 प्रतिशत लोग मोटापे की गिरफ्त में हैं, जिसमें बड़े ही नहीं बल्कि बच्चे भी शामिल हैं। मोटापा अच्छी खासी पर्सनालिटी तो बिगाड़ता ही है। इसके साथ ही आपका आत्मविश्वास भी कमजोर हो जाता है। वही बढ़ा हुआ वजन अपने साथ कई बीमारियां भी लेकर आता है। शरीर में फैट सेल्स के बढ़ने से ब्रीदिंग प्रॉब्लम, मेटाबॉलिज्म धीमा होना, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, ज्वाइंट्स पेन, कैंसर, अर्थराइटिस जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। 

स्वामी रामदेव के मुताबिक जो लोग मोटापे से ग्रस्त होते हैं उन्हें अपनी डाइट में प्रोटीन और फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल करना चाहिए। अपने आहार में मोटे लोग साबुत अनाज जैसे कि मक्का, जौ, दलिया, बाजरा और रागी आदि शामिल करना चाहिए। वहीं गेंहू और सफेद चावलों से दूरी बना लेना चाहिए। जानिए वजन कम करने के लिए थाली में कौन-कौन से आटे की रोटियां शामिल करना चाहिए। 

यूरिक एसिड के मरीज न करें इन 4 सब्जियों का सेवन, बढ़ सकती है दर्द और सूजन की समस्या

रागी

रागी के आटे में मौजूद अमीनो एसिड पाया जाता है जो आपकी भूख को कम करता है। इसके साथ ही इसमें कार्ब्स की मात्रा ना के बराबर होती है। ऐसे में यह वजन कम करने में आपकी मदद कर सकता है। रागी के आटे में विटामिन डी की अच्छी क्वांटिटी होती है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। ये विटामिन सी से भरपूर होने के साथ ग्लूटेन फ्री होता है जो कोलेस्ट्रॉल को मैनेज करता है और अच्छी नींद लाने में मदद करता है। 

बाजरा
बाजरे की रोटी पोषक तत्वों से भरपूर होती है। बाजरा ग्लूटेन फ्री होता है। इसके साथ ही इसमें अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पाचन क्रिया को दुरुरत रखने में मदद करता है, साथ ही आपको जल्दी भूख नहीं लगती। 

ज्यादा नमक और चीनी है किडनी के सबसे बड़े दुश्मन, स्वामी रामदेव से जानिए किडनी फेल होने से बचाने का तरीका

ज्वार
गेंहू और मैदा की जगह ज्वार की रोटी खाएं। इससे आपका पेट लंबे समय तक भरा रहेगा, जिससे वजन घटाने में मदद मिलेगी। आपको बता दें कि एक ज्वार की एक रोटी में करीब 12 ग्राम से अधिक फाइबर और 22 ग्राम से अधिक प्रोटीन पाया जाता है। यह ग्लूटेन फ्री होता है जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में काफी कारगर होता है। एक कप ज्वार में लगभग 22 ग्राम प्रोटीन होता है। 

Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें। 

 

bigg boss 15