Tamil nadu News: तमिलनाडु में लड़की की मौत के बाद हुई हिंसा, आज राज्य के सभी निजी स्कूल बंद

Tamil nadu News: पुलिस महानिदेशक सी शैलेंद्र बाबू ने कहा कि लड़की की मौत के मामले में जांच सीबी-सीआईडी को ट्रांसफर कर दी गई है। हिंसा में शामिल करीब 70 लोगों को और स्कूल प्रबंधन में वरिष्ठ पदों पर काबिज दो पुरुषों और एक महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Reported By : PTI Edited By : Shailendra TiwariPublished on: July 18, 2022 0:01 IST
Violence broke out in Tamil Nadu after girl's death- India TV Hindi
Image Source : ANI Violence broke out in Tamil Nadu after girl's death

Highlights

  • मौत के बाद गुस्साए लोगों की तोड़फोड़
  • 52 पुलिसकर्मी हुए हैं घायल
  • सीएम एम.के.स्टालिन ने की शांति की अपील

Tamil nadu News: तमिलनाडु में कल्लाकुरिचि के निकट एक छात्रा की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने दोषियों को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए रविवार को कई वाहनों में आग लगा दी और पथराव किया। उन्होंने लड़की के स्कूल में तोड़फोड़ भी की। पुलिस ने हिंसक भीड़ को काबू में करने के लिए हवा में गोलियां चलाईं और कर्फ्यू लगा दी गई। आसपास के इलाकों से पुलिस बल पहुंचने के बाद हालात धीरे-धीरे सामान्य होने लगे। तमिलनाडु प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष के.आर नंदकुमार ने कहा कि कल्लाकुरिची में कन्यामूर शक्ति मैट्रिकुलेशन स्कूल पर हमले के विरोध में राज्य के कल सभी निजी नर्सरी, मैट्रिक और सीबीएसई स्कूल बंद रहेंगे।

सीबी-सीआईडी को सौंपी गई जांच

पुलिस महानिदेशक सी शैलेंद्र बाबू ने कहा कि लड़की की मौत के मामले में जांच सीबी-सीआईडी को ट्रांसफर कर दी गई है। हिंसा में शामिल करीब 70 लोगों को और स्कूल प्रबंधन में वरिष्ठ पदों पर काबिज दो पुरुषों और एक महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने आगे कहा कि स्कूल के पदाधिकारियों को लड़की की मौत के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने एक सवाल का जवाब देते हुए खुफिया तंत्र की नाकामी की बात को खारिज कर दिया। हिंसा में डीआईजी (विल्लुपुरम) एम पांडियान जैसे अधिकारियों समेत 52 पुलिसकर्मी घायल हो गये हैं। बाबू ने कहा कि पुलिस ने संयम बरता और हालात को सावधानी से संभाला। उन्होंने कहा कि हालात को इस तरह संभाला गया कि कोई जान नहीं जाए। 

के.पलानीस्वामी ने सीएम स्टालिन को बताया जिम्मेदार

मुख्यमंत्री एम.के.स्टालिन ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और आश्वासन दिया कि दोषियों को दंडित किया जायेगा। अन्नाद्रमुक के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री के.पलानीस्वामी ने पुलिस, राज्य सरकार और जिला प्रशासन पर लापरवाही बरतने और समय रहते कदम नहीं उठाने के आरोप लगाए हैं। पलानीस्वामी ने कहा, ‘‘इसके लिए मुख्यमंत्री स्टालिन पूरी तरह से जिम्मेदार हैं।’’ उन्होंने कहा कि सरकार ने स्कूल के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की होती तो स्थिति हाथ से बाहर नहीं जाती। भाजपा ने द्रमुक शासन को अयोग्य बताया। राज्य के गृह सचिव के फानिंद्र रेड्डी और पुलिस महानिदेशक शैलेन्द्र बाबू चेन्नई से यहां पहुंचे और लड़की के स्कूल का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि हिंसा, संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, गैरकानूनी रूप से एकत्रित होने और पुलिसकर्मियों पर हमला करने का मामला दर्ज किया गया है। बाबू ने कहा कि वीडियो फुटेज के आधार पर हिंसा भड़काने वालों की पहचान की गई है और इससे संबंधित और लोगों को भी जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्कूल में तोड़फोड़ की घटना की अलग से जांच की जाएगी और सोशल मीडिया के जरिए लोगों को एकत्रित करने में एक संदिग्ध संगठन की भूमिका समेत सभी पहलुओं की जांच की जाएगी। 

प्रदर्शनकारियों ने स्कूल में घुसकर की तोड़फोड़

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारी चिन्नासलेम में स्थित एक ‘इंटरनेशनल’ स्कूल में पुलिस के अवरोधकों को तोड़ते हुए घुस गए और उन्होंने परिसर में खड़ी बसों में आग लगा दी। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने पुलिस की एक बस में भी आग लगा दी। उन्होंने बताया कि कुछ लोगों ने छत पर चढ़कर स्कूल के नाम का बोर्ड क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिसकर्मियों ने प्रदर्शकारियों को तितर-बितर करने की कोशिश की, लेकिन थोड़ी देर में वे फिर से इकट्ठा हो गए और तोड़फोड़ की। स्थिति को काबू में करने के लिए आसपास के जिलों की पुलिस यहां एकत्र होनी शुरू हो गयी है। पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों का एक गुट स्कूल में घुस गया और उन्होंने स्कूल परिसर में तोड़फोड़ की। उन्होंने बताया कि उनमें से कुछ स्कूल के फर्नीचर और अलमारी ले गए, उन्हें तोड़ा और आग के हवाले कर दिया। प्रदर्शनकारियों नें पुलिसकर्मियों पर पथराव भी किया। पुलिस महानिदेशक सी.शैलेन्द्र बाबू ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और हिंसा करने वालों को चेतावनी दी। उन्होंने चेन्नई में पत्रकारों से कहा कि हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

13 जुलाई को छात्रावास परिसर में मिला था लड़की का शव

गौरतलब है कि यहां से 15 किलोमीटर दूर चिन्नासलेम में एक निजी आवासीय स्कूल में पढ़ने वाली 17 वर्षीय एक छात्रा 13 जुलाई को छात्रावास परिसर में मृत पाई गई थी। यह छात्रा छात्रावास की तीसरी मंजिल में बने कमरे में रहती थी और माना जा रहा है कि उसने सबसे ऊपर के तल से नीचे कूदकर जान दे दी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कथित तौर पर यह सामने आया है कि छात्रा की मौत से पहले उसके शरीर पर चोट के निशान थे। पुलिस ने इस सिलसिले में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। छात्रा की मौत के बाद उसके परिजन, रिश्तेदार और उसके गांव पेरिवानासालुर के लोग न्याय की मांग को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने इस मामले की जांच अपराध शाखा-अपराध जांच विभाग (सीबी-सीआईडी) से कराने और दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन