Gyanvapi case: ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर वाराणसी कोर्ट में 2 घंटे चली बहस, 4 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

Gyanvapi case: वाराणसी कोर्ट में ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर सुवाई हो रही है ।विष्णु जैन समेत सारे पक्षकार कोर्ट में रहे मौजूद हैं। इससे पहले 26 मई को इस मामले पर हिंदू पक्ष और मुस्लिम पक्ष में 2 घंटे तक बहस हुई जिसके बाद सोमवार को दोपहर 2 बजे तक सुनवाई टल गई थी।

Shashi Rai Written by: Shashi Rai @km_shashi
Updated on: May 30, 2022 16:10 IST
- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER Gyanvapi Viral Video

Highlights

  • वाराणसी कोर्ट में ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर सुवाई जारी
  • विष्णु जैन समेत सारे पक्षकार कोर्ट में मौजूद
  • 26 मई को हिंदू पक्ष और मुस्लिम पक्ष में 2 घंटे तक बहस हुई थी

Gyanvapi case: Gyanvapi case: वाराणसी कोर्ट में ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर आज करीब 2 घण्टे तक बहस हुई। विष्णु जैन समेत सारे पक्षकार कोर्ट में मौजूद रहे। इस दौरान 1991 प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट पर मुस्लिम पक्ष के अधिवक्ता अभय नाथ यादव ने बहस की। इस मामले पर दो घंटे तक बहस होने के बाद कोर्ट ने मामले की सुनवाई 4 जुलाई तक के लिए टाल दी है।

इससे पहले 26 मई को इस मामले पर हिंदू पक्ष और मुस्लिम पक्ष में 2 घंटे तक बहस हुई जिसके बाद सोमवार को दोपहर 2 बजे तक सुनवाई टल गई थी। हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने वाराणसी जिला कोर्ट में बड़ा दावा करते हुए कहा कि ज्ञानवापी में शिवलिंग को नुकसान पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि शिवलिंग में 63 सेमी. का छेद किया गया है। जिस औजार से शिवलिंग को नुकसान पहुंचाया गया वो मस्जिद के स्टोर रूम में मिला। वहीं मुस्लिम पक्ष ने कहा कि ज्ञानवापी में शिवलिंग के नाम पर अफवाह फैलाई जा रही है। ये याचिका सुनने लायक ही नहीं है।

मुस्लिम पक्ष ने महापाप किया है: विष्णु जैन

हिंदू पक्ष के इन आरोपों ने ज्ञानवापी मस्जिद मामले में नया ट्विस्ट लिया दिया है। याचिकाकर्ता विष्णु जैन का दावा है उनके इल्जाम एकदम सही हैं और इसके सबूत है मुस्लिम पक्ष ने महापाप किया है। महादेव का अपमान किया है। वो कोर्ट में अपनी बात को साबित कर देंगे कि शिवलिंग के साथ छेड़छाड़ की गई है और आस्था के साथ खिलवाड़ हुआ। 

सर्वे टीम को वजुखाने में मिला था शिवलिंग जैसा स्ट्रक्चर

आपको बता दें कि सर्वे टीम को सर्वे के आखिरी दिन 16 मई को वजूखाने से एक स्ट्रक्चर मिला था जो दिखने में शिवलिंग जैसा था। हिंदू पक्ष ने दावा किया था कि ये ज्ञानवापी का शिवलिंग है जो मंदिर में मौजूद था जिसे मस्जिद में छिपा दिया गया। कहानी में तब पेंच फंस गया जब मुस्लिम पक्ष ने शिवलिंग के स्ट्रक्चर को फव्वारा बताया लेकिन अब उसी पर हिंदू पक्ष का दावा है कि वो शिवलिंग है लेकिन उसे फव्वारा बनाया गया है एक बड़ी साजिश के तहत और उसके सबूत भी मौजूद है।

Latest Uttar Pradesh News