1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. इस एक चीज में छिपा है मनुष्य की जीत का आधार, आचार्य चाणक्य की ये नीति है आनंदमय जीवन का मंत्र

इस एक चीज में छिपा है मनुष्य की जीत का आधार, आचार्य चाणक्य की ये नीति है आनंदमय जीवन का मंत्र

खुशहाल जिंदगी के लिए आचार्य चाणक्य ने कई नीतियां बताई हैं। अगर आप भी अपनी जिंदगी में सुख और शांति चाहते हैं तो चाणक्य के इन सुविचारों को अपने जीवन में जरूर उतारिए।

India TV Lifestyle Desk India TV Lifestyle Desk
Updated on: July 01, 2020 16:36 IST
Latest Chanakya Niti For Peace Happiness And Successful Life Chanakya Niti Quotes Lifestyle News, खु- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Latest Chanakya Niti For Peace Happiness And Successful Life Chanakya Niti Quotes Lifestyle News, खुशहाल जिंदगी के लिए आचार्य चाणक्य ने कई नीतियां बताई हैं। अगर आप भी अपनी जिंदगी में सुख और शांति चाहते हैं तो चाणक्य के इन सुविचारों को अपने जीवन में जरूर उतारिए।

आचार्य चाणक्य ने सुखमय जीवन के लिए कुछ नीतियां और अनुमोल विचार व्यक्त किए हैं। इन विचारों और नीतियों को जिसने भी जिंदगी में उतारा वो आनंदमय जीवन जी रहा है। अगर आप भी खुशहाल जीवन की डोर से बंधना चाहते हैं तो इन विचारों को जीवन में जरूर उतारिए। आचार्य चाणक्य के इन विचारों में से एक विचार का आज हम विश्लेषण करेंगे। आज का ये विचार इंद्रियों पर विजय पाने पर आधारित है। 

ऐसे गुण वाले व्यक्ति को ही सौंपे जिम्मेदार पद, वरना होगा बड़ा नुकसान, चाणक्य की नीति आज भी है कारगर

"इन्द्रियों पर विजय का आधार विनम्रता है।" आचार्य चाणक्य

आचार्य चाणक्य ने अपने इस विचार में इंद्रियों पर विजय के आधार का जिक्र किया है। चाणक्य का कहना है कि अगर कोई भी व्यक्ति अपनी इंद्रियों पर विजय पाना चाहता है तो उसे विनम्रता का मार्ग ही चुनना चाहिए। ऐसा करने से वो अपनी इंद्रियों पर आसानी से विजय पा सकता है। 

इस लालच के कारण ही मनुष्य शत्रु के साथ करता है ऐसा बर्ताव, वरना ये सोच भी रहती है कोसों दूर

उदाहरण के तौर पर जिस व्यक्ति ने विनम्रता के मर्म को समझकर विनम्र रहना सीख लिया। साथ ही अपने आचार और विचार में विनम्रता का प्रयोग करना शुरू कर दिया तो उस व्यक्ति को अपनी इंद्रियों पर विजय प्राप्त हो जाती है। ऐसा व्यक्ति विनम्रता से किसी के भी दिल को आसानी से जीत सकता है। इसलिए मनुष्य को चाहिए कि जो भी कुछ बोले उसमें विनम्रता झलकनी चाहिए। विनम्रता मनुष्य का ऐसा गहना है जो उसे सर्वश्रेष्ठ बना सकता है। इसलिए अगर आप किसी के प्रति भी कटु वचनों का इस्तेमाल करते हैं तो उससे तुरंत ही किनारा कर लें। 

ऐसा व्यक्ति किसे के मन में सम्मान हासिल नहीं कर सकता है। अगर आपको सभी के दिलों में अपने प्रति सम्मान का भाव बनाए रखना है तो स्वभाव में विनम्रता कूट कूट कर भरी होनी चाहिए। ऐसा करके ही आप खुशहाल जिंदगी जी सकते हैं। इसलिए आचार्य चाणक्य ने कहा है कि इंद्रियों पर विजय का एकमात्र रास्ता विनम्रता ही है। 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Write a comment
X