1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सोने पर सरकार का बड़ा फैसला, 1 जून से नहीं बिकेगी बिना हॉलमार्क वाली ज्‍वेलरी

सोने पर सरकार का बड़ा फैसला, 1 जून से नहीं बिकेगी बिना हॉलमार्क वाली ज्‍वेलरी

1 जून से, ज्वेलर्स को केवल 14,18 और 22 कैरेट की गोल्ड ज्वेलरी ही बेचने की अनुमति होगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Updated on: April 13, 2021 23:47 IST
gold hallmarking mandatory from Jun 1- India TV Paisa
Photo:@GOLDCOUNCIL

gold hallmarking mandatory from Jun 1

नई दिल्‍ली। सरकार ने मंगलवार को कहा है कि वह 1 जून, 2021 से स्‍वर्ण आभूषण (gold jewellery) और उत्‍पादों के लिए अनिवार्य हॉलमार्किंग (hallmarking) को लागू करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। गोल्‍ड हॉलमार्किंग कीमती धातु का शुद्धता प्रमाणपत्र है और वर्तमान में यह स्‍वैच्छिक है।

केंद्र सरकार ने नवंबर, 2019 में घोषणा की थी कि गोल्‍ड ज्‍वेलरी व उत्‍पादों के लिए पूरे देश में अनिवार्य हॉलमार्किंग 15 जनवरी, 2021 से प्रभावी होगी। सरकार ने ज्‍वेलर्स को हॉलमार्किंग को अपनाने और अपने आप को ब्‍यूरो ऑफ इंडियन स्‍टैंडर्ड के साथ रजिस्‍टर्ड करवाने के लिए एक साल से भी अधिक समय दिया था। लेकिन कोविड-19 महामारी के कारण ज्‍वेलर्स ने इसके लिए और समय की मांग की थी, जिसके बाद सरकार ने हॉलमार्किंग को अनिवार्य करने की समय-सीमा चार माह बढ़ाकर 1 जून, 2021 कर दी थी।   

उपभोक्‍ता मामलों की सचिव लीना नंदन ने कहा कि अब इस समय-सीमा को आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। बीआईएस पूरी तरह से तैयार है और हॉलमार्किंग के लिए ज्‍वेलर्स को मंजूरी देने में व्‍यस्‍त है। बीआईएस के डायरेक्‍टर-जनरल प्रमोद कुमार तिवारी ने कहा कि जून से, हम अनिवार्य हॉलमार्किंग को लागू करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। वर्तमान में, हमें अभी तक समय-सीमा को आगे बढ़ाने के लिए कोई मांग प्राप्‍त नहीं हुई है। अभी तक 34,647 ज्‍वेलर्स ने अपने आप को बीआईएस के साथ रजिस्‍टर्ड करवाया है।  

लगातार दूसरे दिन सोने की कीमत घटी, जानिए अब क्‍या है नया भाव

उन्‍होंने बताया कि अगले एक-दो महीने में लगभग 1 लाख ज्‍वेलर्स का रजि‍स्‍ट्रेशन होने की उम्‍मीद है। रजिस्‍ट्रेशन प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑटोमैटिक है। 1 जून से, ज्‍वेलर्स को केवल 14,18 और 22 कैरेट की गोल्‍ड ज्‍वेलरी ही बेचने की अनुमति होगी।

2020-21 में सबसे ज्‍यादा ब‍िकी ये कारें, देखिए टॉप बेस्‍ट-सेलिंग मॉडल्‍स की पूरी लिस्‍ट

बीआईएस गोल्‍ड ज्‍वेलरी के लिए अप्रैल 2000 से ही हॉलमार्किंग स्‍कीम का परिचालन कर रहा है और वर्तमान में लगभग 40 प्रतिशत गोल्‍ड ज्‍वेलरी को हॉलमार्क के साथ बेचा जा रहा है। बीआईएस के मुताबिक अनिवार्य हॉलमार्किंग उपभोक्‍ताओं को निम्‍न कैरेट की ज्‍वेलरी और धोखाधड़ी से बचाएगा। ग्राहकों को उसी शुद्धता का सोना मिलेगा, जितना गोल्‍ड ज्‍वेलरी पर लिखा होगा।  

COVID-19 टीका लगवा चुके लोगों के लिए आई खुशखबरी, मिलेगा ये बड़ा फायदा

भारत सोने का सबसे बड़ा आयातक है, जिसके माध्‍यम से मुख्‍यता ज्‍वेलरी इंडस्‍ट्री की मांग को पूरा किया जाता है। मात्रा के मामले में, भारत हर साल 700-800 टन सोने का आयात करता है।

दोबारा Lockdown होने पर इन लोगों को क्‍या मिलेगा मुआवजा...

Honda कार्स खरीदने का शानदार मौका, कंपनी ने अप्रैल के लिए की भारी कैश डिस्‍काउंट की घोषणा

RBI ने किया बैंक ग्राहकों को अलर्ट, मनी ट्रांसफर की ये सुविधा नहीं होगी उपलब्‍ध!

Write a comment
X