1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सोने में आ सकता है भारी उछाल, जानिए 2021 में कीमतों में कितनी बढ़त का है अनुमान

सोने में आ सकता है भारी उछाल, जानिए 2021 में कीमतों में कितनी बढ़त का है अनुमान

वर्ष 2020 में कोरोना वायरस महामारी के चलते आर्थिक और सामाजिक अनिश्चितताओं के कारण सोना निवेश का एक सुरक्षित विकल्प बनकर उभरा। सोने की कीमत अगस्त में एमसीएक्स पर 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम और अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2,075 डॉलर प्रति औंस तक पहुंच गई थी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: December 27, 2020 18:23 IST
सोने की कीमतों...- India TV Paisa
Photo:PTI

सोने की कीमतों मे ंरिकॉर्ड तेजी जारी रहने का अनुमान

नई दिल्ली। साल 2020 में कोरोना महामारी की वजह से सोने की कीमतों में रिकॉर्ड उछाल देखने को मिला था। फिलहाल सोने की कीमत अपने रिकॉर्ड स्तर से नीचे आ चुकी हैं, लेकिन बाजार के मुताबिक साल 2021 में सोना एक बार फिर उछाल दर्ज कर सकता है और यही नहीं कीमतें नए रिकॉर्ड स्तर पर भी पहुंच सकती हैं।

2021 में कहां पहुंच सकती है सोने की कीमत

बाजार के जानकारों की माने तो अमेरिकी डॉलर में कमजोरी और नये प्रोत्साहन उपायों की उम्मीद के बीच 2021 में सोना 63,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक पहुंच सकता है। फिलहाल सोना 50 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर से नीचे कारोबार कर रहा है। यानि अनुमानों के मुताबिक सोने में एक साल में अधिकतम 26 फीसदी तक तेजी देखने को मिल सकती है।

क्या है एचडीएफसी सिक्योरिटीज की राय

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के सीनियर एनालिस्ट (कमोडिटी) तपन पटेल ने कहा कि वैश्विक स्तर पर आर्थिक सुधार से जुड़ी चिंताओं के कारण सोना अगले साल भी तेज बना रहेगा और इसकी कीमत कॉमैक्स पर 2,150-2,390 डॉलर प्रति औंस के बीच रह सकती है, जबकि एमसीएक्स पर सोना 57,000-63,000 रुपये के बीच रह सकता है। उन्होंने कहा कि आर्थिक गतिविधियों में रिकवरी की धीमी रफ्तार, श्रम बाजार की वृद्धि भी कमजोर रहने के साथ ही बड़ी मात्रा में प्रोत्साहन उपायों से सोने के दाम लगातार मजबूती में बने रहेंगे।

क्या है कॉमट्रेंड्ज की राय

कॉमट्रेंड्ज रिस्क मैनेजमेंट सर्विसेज के सीईओ ज्ञानशंकर त्यागराजन ने पीटीआई-भाषा को बताया कि इस साल की शुरुआत में सोने की कीमत 39,100 रुपये प्रति 10 ग्राम के स्तर पर थीं। छोटी अवधि की गिरावट के साथ सोना 38,400 रुपये पर आ गया। हालांकि महामारी का असर बढ़ने के साथ सोना बढ़त के 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। उन्होंने अनुमान दिया है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन और आर्थिक सुधार की चर्चा के बाजवूद उम्मीद है कि ताजा प्रोत्साहनों के चलते सोना आगे भी तेज बना रहेगा।  उनके मुताबिक अगर रुपया स्थिर रहे तो 2021 में कीमतें कम से कम 60,000 रुपये या 2,200 अमरीकी डालर के स्तर को छू सकती हैं।

क्यों आई 2020 में सोने में बढ़त

सोना हमेशा ही अनिश्चित समय में सुरक्षित निवेश माना गया है। यही वजह है कि कोरोना वायरस महामारी के अनिश्चित दौर में सोना नई ऊंचाईयों पर पहुंचा। महामारी के बीच सोने की कीमत अगस्त में एमसीएक्स पर 56,191 रुपये प्रति 10 ग्राम और अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2,075 डॉलर प्रति औंस तक पहुंच गई थी।

(सोने में निवेश के अपने जोखिम रहते हैं ऐसे में सलाह है कि किसी भी निवेश से पहले अपने स्तर पर भी निवेश सलाह की जांच करें।

Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X