1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. इंडियन ऑयल ने भारत के पड़ोसी देश में महंगा किया तेल, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 5 रुपये की जबर्दस्त बढ़ोत्तरी

इंडियन ऑयल ने भारत के पड़ोसी देश में महंगा किया तेल, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 5 रुपये की जबर्दस्त बढ़ोत्तरी

ताजा बढ़ोत्तरी के बाद श्रीलंका में एक लीटर पेट्रोल की कीमत अब 162 रुपये और डीजल की 116 रुपये हो गई है।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: October 22, 2021 13:10 IST
इंडियन ऑयल ने भारत के...- India TV Paisa

इंडियन ऑयल ने भारत के पड़ोसी देश में महंगा किया तेल, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 5 रुपये की जबर्दस्त बढ़ोत्तरी

कोलंबो। महंगे पेट्रोल-डीजल से सिर्फ हम भारतीय ही परेशान नहीं हैं, बल्कि तेल की आग पड़ोसी देशों को भी झुलसा रही है। श्रीलंका में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन की अनुषंगी लंका आईओसी (एलआईओसी) ने वैश्विक स्तर पर तेल की बढ़ती कीमतों में जबर्दस्त बढ़ोत्तरी कर दी है। लंका आईओसी ने श्रीलंका में पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में 5 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है। कंपनी ने कहा कि यह बढ़ोतरी गुरुवार आधी रात से लागू हो गई है। 

ताजा बढ़ोत्तरी के बाद श्रीलंका में एक लीटर पेट्रोल की कीमत अब 162 रुपये और डीजल की 116 रुपये हो गई है। LIOC द्वारा सरकार से कीमतों में वृद्धि की अनुमति देने का आग्रह करने के कुछ दिनों बाद यह बढ़ोतरी हुई, हालांकि सरकार से उनकी खुदरा कीमतों का निर्धारण करने के लिए कहने का कोई दायित्व नहीं है।

एलआईओसी के प्रबंध निदेशक मनोज गुप्ता ने पिछले हफ्ते कहा था कि हालांकि खुदरा मूल्य निर्धारण कंपनी के विवेक पर है, लेकिन देश में मौजूदा स्थिति को देखते हुए वह श्रीलंका सरकार से परामर्श कर रही है। गंभीर विदेशी मुद्रा संकट का सामना कर रही लंका सरकार ने रसोई गैस और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि के बावजूद ईंधन की खुदरा कीमतों में अपेक्षित वृद्धि पर रोक लगा दी है।

30 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की मांग

LIOC के प्रतिद्वंद्वी, राज्य द्वारा संचालित ईंधन वितरक सीलोन पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (CPC) ने अभी तक ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर कोई निर्णय नहीं लिया है, हालांकि, इसने सरकार से कीमतों में बढ़ोतरी को मंजूरी देने का भी आग्रह किया है।

 गुप्ता ने पिछले हफ्ते कहा था कि कंपनी पेट्रोल की कीमत में 20 रुपये प्रति लीटर और डीजल में 30 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की उम्मीद कर रही है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में महंगा हुआ कच्चा तेल 

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत अब 83-94 डॉलर प्रति बैरल के बीच है, जो चार महीने पहले 65 अमेरिकी डॉलर थी। परिणामस्वरूप एलआईओसी को भारी नुकसान हुआ है।

पेट्रोल पंप पर लगीं लंबी कतारें

एलआईओसी द्वारा ईंधन की कीमतें बढ़ाने के साथ, सीपीसी द्वारा संचालित पेट्रोल स्टेशनों पर लोगों की कतार लग गई, हालांकि, उनमें से अधिकांश ने 'नो पेट्रोल' साइनबोर्ड लगाए थे, जो मोटर चालकों का दावा है कि तेल की कीमतें बढ़ाने के सरकार के प्रत्याशित निर्णय के कारण ऐसा हुआ था।

ऊर्जा मंत्री ने कीमतों में वृद्धि से किया इनकार 

ऊर्जा मंत्री उदय गम्मनपिला ने खुदरा ईंधन की कीमतों में वृद्धि से इनकार किया है। “हमारे पास तेल की कीमतें बढ़ाने, अंतरराष्ट्रीय बाजार में खरीद की उच्च लागत, रुपये के मूल्यह्रास और विदेशी मुद्रा संकट का सामना करने के सभी कारण हैं। फिर भी हम कीमतें नहीं बढ़ाएंगे।'

12 प्रतिशत है LIOC की हिस्सेदारी  

LIOC 2002 से लंका में परिचालन में है, और 200 से अधिक खुदरा ईंधन स्टेशनों का रखरखाव करती है जो देश के ईंधन बाजार के लगभग 12 प्रतिशत को पूरा करते हैं। 
सीपीसी ने द्वीपीय राष्ट्र में गंभीर विदेशी मुद्रा संकट के बीच कच्चे तेल की खरीद के भुगतान के लिए भारत से 500 मिलियन अमरीकी डालर की क्रेडिट लाइन मांगी है

Write a comment
bigg boss 15