1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. सैमसंग के वाइस चेयरमैन Lee Jae-yong को मिली 2.5 साल कैद की सजा, भ्रष्‍टाचार मामले में पाए गए आरोपी

सैमसंग इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स के वाइस चेयरमैन Lee Jae-yong को मिली 2.5 साल कैद की सजा, भ्रष्‍टाचार मामले में पाए गए आरोपी

सैमसंग ग्रुप ने राष्ट्रपति पार्क की पर्सनल सेक्रेटरी चॉई-सून सिल को करोड़ों डॉलर की रिश्वत दी और बदले में ली ने अपने बीमार पिता से उत्राधिकार प्राप्त करने की प्रक्रिया को सरल बनाने में मदद मांगी।

India TV Paisa Desk India TV Paisa Desk
Published on: January 18, 2021 12:50 IST
Samsung Electronics Vice Chairman Lee Jae-yong jailed for 2.5 years over corruption scandal- India TV Paisa
Photo:BBC.COM

Samsung Electronics Vice Chairman Lee Jae-yong jailed for 2.5 years over corruption scandal

नई दिल्‍ली। साउथ कोरिया के दिग्‍गज कारोबारी समूह और दुनिया की सबसे बड़ी स्‍मार्टफोन व मेमोरी चिप निर्माता सैमसंग इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स (Samsung Electronics) के वाइस चेयरमैन ली जे-योंग (Lee Jae-yong) को सोमवार को भ्रष्‍टाचार के एक मामले में दोषी पाया गया और उन्‍हें ढाई साल की कैद की सजा सुनाई गई। योंग को रिश्‍वत और भ्रष्‍टाचार मामले का आरोपी पाया गया है। यह भ्रष्‍टाचार मामला सामने आने के बाद साउथ कोरिया की राष्‍ट्रपति पार्क गुएन-हे को अपना पद छोड़ना पड़ा था।

सियोल सेंट्रल डिस्ट्रिक कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि ली जे-योंग ने सैमसंग इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स के वारिश के रूप में अपने उत्‍तराधिकार प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए रिश्‍वत दी और राष्‍ट्रपति को अपनी शक्तियों का उपयोग कर मदद करने का दबाव डाला। फैसले में आगे कहा गया कि यह बड़े दुर्भाग्‍य की बात है कि देश की शीर्ष कंपनी सैमसंग एक अपराध में शामिल है।

सैमसंग एक परिवार-नियंत्रित दिग्‍गज समूह है। यह दुनिया की 12वीं सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था में बड़ा योगदान देती है। इसका कुल टर्नओवर साउथ कोरिया की जीडीपी के 20 प्रतिशत के बराबर है। साउथ कोरिया की आर्थिक स्थिति के लिए यह बहुत ही महत्‍वपूर्ण कंपनी है। लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि कोर्ट के इस आदेश के बाद लीडरशिप की कमी खलेगी और इससे भविष्‍य के निवेश पर फैसला लेने में दिक्‍कत होगी। यह सैमसंग के लिए एक बड़ा संकट है।

सैमसंग ग्रुप ने राष्‍ट्रपति पार्क की पर्सनल सेक्रेटरी चॉई-सून सिल को करोड़ों डॉलर की रिश्‍वत दी और बदले में ली ने अपने बीमार पिता से उत्‍राधिकार प्राप्‍त करने की प्रक्रिया को सरल बनाने में मदद मांगी। इस मामले ने बड़े कारोबारी समूह और राजनीति के बीच संबंधों को उजागर किया।  

सैमसंग के संस्‍थापक ली यंग-चुल (Lee Byung-chull) और उनके बेटे ली कुन-ही (Lee Kun-hee) की भी कई बार कानूनी मामलों में पैरवी हुई लेकिन उन्‍होंने कभी भी अपना समय जेल में नहीं बिताया। सैमसंग के इतिहास में यह पहली बार होगा कि उसके प्रमुख जेल में रहेंगे। पिछले साल अक्‍टूबर में ली कुन-ही की मृत्‍यु के बाद ली जे-योंग को वाइस चेयरमैन बनाया गया था।

यह भी पढ़ें: WhatsApp को लेकर मुकेश अंबानी ने बनाई नई योजना, 40 करोड़ भारतीयों को मिलेगा इसका फायदा

यह भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल से जनता की जेब हुई खाली लेकिन सरकार की भरी झोली, एक्‍साइज ड्यूटी में हो चुकी इतनी वृद्धि

यह भी पढ़ें: 7,000mAh बैटरी के साथ जल्‍द लॉन्‍च होगा यह फोन, जानिए क्‍या होंगी इसमें अन्‍य खूबियां

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार के वार्षिक बजट से ज्‍यादा है देश की इन 3 कंपनियों की कुल संपत्ति...

यह भी पढ़ें:  मोदी सरकार ने बनाया नया रिकॉर्ड, एक सप्‍ताह में किया ये काम

Write a comment
bigg boss 15