1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. क्रिकेट
  5. रिहैब पूरा करने के बाद भी कुछ समय तक प्रतिस्पर्धात्मक क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे भुवनेश्वर कुमार

रिहैब पूरा करने के बाद भी कुछ समय तक प्रतिस्पर्धात्मक क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे भुवनेश्वर कुमार

30 वर्षीय भुवनेश्वर फिलहाल बेंगलुरु के राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में अपनी चोट से उबर रहे हैं और वह अगले महीने तक अपना रिहेबिलिटेशन पूरा कर लेंगे। भारतीय तेज गेंदबाज अब छह महीने तक क्रिकेट से दूर रहेंगे।

IANS IANS
Updated on: December 24, 2020 21:22 IST
Bhuvneshwar Kumar will not be able to play competitive cricket for some time even after completing r- India TV Hindi
Image Source : AP IMAGE Bhuvneshwar Kumar will not be able to play competitive cricket for some time even after completing rehab 

नई दिल्ली। भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार छह महीने तक मैदान से दूर रहेंगे और अब वह आईपीएल 2021 के समय मैदान पर वापसी कर पाएंगे। भुवनेश्वर को दो अक्टूबर को आईपीएल में चेन्नई सुपर के खिलाफ खेले गए मैच में जांघ में चेन्नई की पारी के 19वें ओवर के दौरान चोट लगी थी और वह केवल एक ही गेंद फेंकने के बाद मैदान से बाहर चले गए थे।

ये भी पढ़ें - बीसीसीआई सीनियर राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष बने पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज चेतन शर्मा

30 वर्षीय भुवनेश्वर फिलहाल बेंगलुरु के राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में अपनी चोट से उबर रहे हैं और वह अगले महीने तक अपना रिहेबिलिटेशन पूरा कर लेंगे। भारतीय तेज गेंदबाज अब छह महीने तक क्रिकेट से दूर रहेंगे।

इस मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने आईएएनएस से कहा, "अब वह केवल आईपीएल के समय तक ही फिट हो पाएंगे क्योंकि वह छह महीने तक प्रतिस्पर्धात्मक क्रिकेट से बाहर हो गए हैं।"

ये भी पढ़ें - ​IND vs AUS : क्या बॉक्सिंग डे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हरा पाएगा भारत?

स्पोर्ट्स फिजियोथेरेपिस्ट हीथ मैथ्यूज, जोकि मुंबई इंडियन्स से जुड़े हैं, ने कहा है कि भुवनेश्वर को क्लासिक चोटें लग रही हैं।

मैथ्यूज ने आईएएनएस से कहा, " तेज गेंदबाजों के साथ समस्या यह है कि यह शरीर पर एक बड़ा पतला लगाता है। पिछले कुछ वर्षो से उनकी किस्मत उनका साथ नहीं दे रही हैं और उन्हें काफी चोटें लग रही हैं। कभी पीठ में खिंचाव, साइड स्ट्रेन तो कभी हैमस्ट्रिंग स्ट्रेन। यह सब लोअर बैक एरिया में है, जोकि अक्सर गेंदबाजों के लिए समस्या खड़ी करती है।"

ये भी पढ़ें - VIDEO : बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले भारतीय खिलाड़ियों ने की कुश्ती, जडेजा का हुआ फिटनेस टेस्ट

यह पूछे जाने पर कि क्या भुवनेश्वर जैसे गेंदबाजों की गेंदबाजी की गति या शैली में बदलाव एक तेज गेंदबाज के शरीर पर प्रभाव डाल सकता है, मैथ्यूज ने कहा, " कभी-कभी एक गेंदबाज जो अतिरिक्त गति और अतिरिक्त स्विंग प्राप्त करने की कोशिश करता है तो उसे ऐसा करने के लिए कुछ सीजन लगते हैं। कई बार, नई स्ट्रेस में ढलने में शरीर को थोड़ा समय लगता है। दुर्भाग्य से, यह कुछ क्षेत्रों में यह ओवरलोड हो सकता है। एलीट लेवल पर आप इसके ज्यादा करीब हैं। बदलाव आपके शरीर के लिए बहुत मुश्किल हो जाता है और इसे समायोजित होने में लंबा समय लेता है।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Write a comment

लाइव स्कोरकार्ड

X