Tokyo Olympics 2020-2021
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. खेल
  4. अन्य खेल
  5. Tokyo Olympic 2020 : मेडल से एक जीत दूर लवलीना, जर्मन बॉक्सर को हराकर क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

Tokyo Olympic 2020 : मेडल से एक जीत दूर लवलीना, जर्मन बॉक्सर को हराकर क्वार्टर फाइनल में बनाई जगह

दोनों खिलाड़ी ओलंपिक में डेब्यू कर ही थी और लवलीना भारत की नौ सदस्यीय टीम से अंतिम आठ में जगह बनाने वाली पहली खिलाड़ी बनी।

Bhasha Bhasha
Updated on: July 27, 2021 12:15 IST
Tokyo Olympics 2020, Lovlina Borgohain, quarter-finals, India, Sports  - India TV Hindi
Image Source : GETTY Lovlina Borgohain

पहली बार ओलंपिक में हिस्सा ले रही भारतीय मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन ने (69 किग्रा) मंगलवार को जर्मनी की अनुभवी नेदिन एपेट्ज को कड़े मुकाबले में हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। मंगलवार को रिंग में उतरने वाली एकमात्र भारतीय मुक्केबाज लवलीना ने प्री क्वार्टर फाइनल में अपने से 12 साल बड़ी एपेट्ज को 3-2 से हराया। 

दोनों खिलाड़ी ओलंपिक में डेब्यू कर ही थी और लवलीना भारत की नौ सदस्यीय टीम से अंतिम आठ में जगह बनाने वाली पहली खिलाड़ी बनी। तनाव भरे मुकाबले में 23 साल की लवलीना ने शानदार जज्बा दिखाया और बेहद करीबी अंतर से जीत दर्ज करने में सफल रही। 

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympics : रूपिंदर के दो गोल से भारत ने पुरुष हॉकी में स्पेन को 3-0 से हराया

लवलीना ने तीनों दौर में खंडित फैसले से जीत दर्ज की। ओलंपिक की मुक्केबाजी स्पर्धा में क्वालीफाई करने वाली जर्मनी की पहली महिला मुक्केबाज 35 साल की एपेट्ज दो बार विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता और पूर्व यूरोपीय चैंपियन हैं। 

लवलीना विश्व चैंपियनशिप में दो और एशियाई चैंपियनशिप में एक बार की कांस्य पदक विजेता है। असम की लवलीना ने शुरुआती दौर में आक्रामक खेल दिखाया लेकिन इसके बाद रणनीति बदलते हुए इंतजार करने का फैसला किया। 

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympics : रूपिंदर के दो गोल से भारत ने पुरुष हॉकी में स्पेन को 3-0 से हराया

इस रणनीति ने काम किया लेकिन जर्मनी की मुक्केबाज ने अपने सटीक मुक्केबाजों ने कई बार लवलीना को परेशान किया। लवलीना ने बायें हाथ से लगाए दमदार मुक्कों से अपना पलड़ा थोड़ा भारी रखा। एपेट्ज जर्मनी के मुक्केबाजी जगत में बड़ा नाम है। 

वह न्युरोसाइंस में पीएचडी कर रही हैं जिसे ओलंपिक की तैयारी के लिए उन्होंने एक साल के लिए रोक दिया था। उन्होंने पिछले साल यूरोपीय क्वालीफिकेशन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बनाकर ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था। 

लाइव स्कोरकार्ड

Click Mania
Modi Us Visit 2021