Twitter के फाउंडर जैक डॉर्सी ने मांगी माफी, कहा- मैं इन सबके लिए जिम्मेदार हूं

कर्मचारियों की छंटनी पर ट्विटर के फाउंडर जैकी डॉर्सी ने माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का पता है कि बहुत से लोग मुझसे नाराज हैं। उन्होंने कहा कि मेरी वजह से ये स्थिति बनी है, इसे मैं मानता हूं।

Malaika Imam Written By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Updated on: November 06, 2022 7:35 IST
ट्विटर के फाउंडर जैकी डॉर्सी- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO ट्विटर के फाउंडर जैकी डॉर्सी

दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क इन दिनों लगातार सुर्खियों में हैं। ट्विटर के नए बॉस बनने के बाद से वे कंपनी में कई बड़े बदलवा कर चुके हैं। कर्मचारियों की छंटनी के फैसले को लेकर उनकी आलोचना भी हो रही है। इस बीच, अब ट्विटर के फाउंडर जैकी डॉर्सी ने ट्वीट कर लोगों से माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि इस वक्त जो हालात हैं, उसके लिए मैं जिम्मेदार हूं।

उन्होंने ट्वीट किया, "ट्विटर में पहले काम कर चुके या अभी कर रहे कर्मचारी मजबूत और लचीले हैं। वह मुश्किल वक्त में भी कोई ना कोई रास्ता ढूंढ़ लेंगे। मुझे इस बात का अहसास है कि बहुत से लोग मुझसे नाराज हैं। मैं मानता हूं कि हर कोई मेरी वजह से इस स्थिति में है। मैंने कंपनी के आकार को बहुत तेजी से बढ़ाया। इसके लिए सभी से माफी मांगता हूं।"

टॉप कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया

गौरतलब है कि एलन मस्क ने ट्विटर को खरीदने के बाद से ही इसे अपने हिसाब से चलाना शुरू कर दिया है। उन्होंने कंपनी के टॉप कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया। वहीं, उन्होंने कंपनी के आधे से ज्यादा कर्मचारियों को हटा दिया है। ट्विटर के बॉस बनते ही एलन मस्क ने सबसे पहले भारतीय मूल के सीईओ पराग अग्रवाल और उनके टॉप मैनेजमेंट को बाहर का रास्ता दिखा दिया। पराग अग्रवाल और कई शीर्ष अधिकारियों को निकालने के बाद मस्क ने कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भी बाहर का रास्ता दिखाया और खुद ट्विटर के नए सीईओ बन गए।  

मस्क ने कहा- मेरे पास कोई और विकल्प नहीं  

टॉप मैनेजमेंट को हटाने के बाद मस्क ने कंपनी के निचले स्तर के कर्मचारियों की भी छंटनी शुरू कर दी। कंपनी के कर्मचारियों की छंटनी शुरू करने के बाद से एलन मस्क ने ट्विट कर इस पर अपनी प्रतिक्रिया भी दी। उन्होंने अपने इस फैसले का बचाव करते हुए कहा कि उनके पास कोई और विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा, "दुर्भाग्य की बात है कि यह ऐसे वक्त में किया जा रहा है, जब कंपनी को हर दिन 4 मिलियन डॉलर का नुकसान हो रहा है, इसलिए कोई अन्य विकल्प नहीं है। बाहर निकाले गए सभी लोगों को तीन महीने की एक्स्ट्रा सैलरी दी गई है, जो कानूनी रूप से आवश्यक से 50% अधिक है।"

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Around the world News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन