Tuesday, June 04, 2024
Advertisement

पाकिस्तान की सरकार ने पहली बार पूर्व पीएम इमरान खान को दिया बड़ा ऑफर, PTI को बातचीत के लिए बुलाया

पाकिस्तान की सत्तारूढ़ सरकार ने विवाद खत्म करने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को बड़ी ऑफर दिया है। सत्तारूढ़ दल ने पहली बार इमरान खान की पार्टी पीटीआई को सार्थक संवाद के लिए आमंत्रित किया है।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: May 27, 2024 16:48 IST
इमरान खान, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री। - India TV Hindi
Image Source : REUTERS इमरान खान, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री।

लाहौरः पाकिस्तान सरकार ने जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को पहली बार बड़ा ऑफर दिया है। सत्तारूढ़ दल मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) और पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) गठबंधन ने इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी का आह्वान किया है कि वह सड़कों पर अपने प्रदर्शन छोड़ दे और सरकार के साथ ‘सार्थक’ संवाद करे। सोमवार को एक खबर में यह जानकारी सामने आई। ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की खबर के अनुसार, सीनेट के सभापति यूसुफ़ रजा गिलानी और नियोजन मंत्री अहसान इकबाल ने बातचीत के लिए तैयार होने के सरकार के रुख पर जोर देते हुए कहा कि इमरान की पार्टी को तय करना चाहिए कि वह किससे बातचीत करना चाहती है।

लाहौर में मीडियाकर्मियों के साथ संवाद में गिलानी ने बातचीत करने की सरकार की इच्छा दोहराई। हालांकि, पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा लगता है कि खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) किसी और से बातचीत का इरादा रखती है। पीपीपी के वरिष्ठ नेता गिलानी (71) ने कहा कि देश इस समय अस्थिरता से जूझ रहा है और इसलिए सभी नेताओं को एक साथ आना होगा। अखबार ने गिलानी के हवाले से कहा कि पीटीआई नीत सरकार के समय में विपक्ष में रहते हुए भी वे बातचीत के इच्छुक थे जबकि पीटीआई ऐसा नहीं चाहती थी।

सरकार ने कहा संवाद के खुले हैं दरवाजे

गिलानी ने एक अन्य प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि पीपीपी मौजूदा सरकार का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, ‘‘पीपीपी ने कभी यह संकेत नहीं दिया कि वह सरकार का हिस्सा नहीं है। हम सभी मामलों में सरकार के साथ हैं।’’ पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र और पंजाब प्रांत में मंत्रिमंडल में लोगों को शामिल करने के लिहाज से पार्टी के अंदर विचार-विमर्श जारी है। इस बीच नियोजन मंत्री इकबाल ने कहा कि सरकार के दरवाजे सार्थक संवाद के लिहाज से सभी के लिए खुले हैं। इकबाल ने कहा कि खैबर-पख्तूनख्वा में पीटीआई सत्तारूढ़ पार्टी थी और उन्हें वहां जनता की सेवा करनी चाहिए। (भाषा)

यह भी पढ़ें

पाकिस्तान के स्कूल में आग लगने से 1400 छात्राओं की मुश्किल में पड़ी जान, कड़ी मशक्कत के बाद हो सकीं रेस्क्यू

ताइवान में चीन के सैन्य अभ्यास के बाद लाई चिंग ते के समर्थन में ताइपे पहुंचा अमेरिकी दल, बीजिंग की बारीक नजर

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement