Friday, March 01, 2024
Advertisement

अमेरिका के बाद रोमानिया में दिखा चीन का जासूसी गुब्बारा, मिग-21 विमानों ने किया पीछा तो भाग गया जापान

अमेरिका के बाद चीन का जासूसी गुब्बारा अब रोमानिया और जापान तक पहुंच गया है। इसके बाद पूरी दुनिया में खलबली मच गई है। अमेरिका द्वारा गत 4 फरवरी को चीन के संदिग्ध जासूसी गुब्बारे को मार गिराए जाने के बाद से ही चीन की कलई खुल गई है।

Dharmendra Kumar Mishra Written By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: February 15, 2023 6:24 IST
चीन का जासूसी गुब्बारा (प्रतीकात्मक)- India TV Hindi
Image Source : AP चीन का जासूसी गुब्बारा (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली। अमेरिका के बाद चीन का जासूसी गुब्बारा अब रोमानिया और जापान तक पहुंच गया है। इसके बाद पूरी दुनिया में खलबली मच गई है। अमेरिका द्वारा गत 4 फरवरी को चीन के संदिग्ध जासूसी गुब्बारे को मार गिराए जाने के बाद से ही चीन की कलई खुल गई है। कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि चीन 40 से अधिक देशों की गुप्त निगरानी कर रहा है। यह जासूसी गुब्बारा ड्रैगन की इसी जासूसी का हिस्सा है। हालांकि चीन ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था। मगर अब चीनी गुब्बारे ने रोमानिया और जापान में भी हलचल पैदा कर दी है। 

रोमानिया के मंत्रालय का कहना है कि हमारे हवाई क्षेत्र में संदिग्ध मौसम गुब्बारे का पता लगाया है। रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि रोमानियाई वायु सेना की निगरानी प्रणाली ने एक हवाई वस्तु का पता लगाया, जो देश के हवाई क्षेत्र में मौसम के गुब्बारे की तरह उड़ रहा था। मंत्रालय ने कहा कि रोमानिया के दक्षिण-पूर्व संदिग्ध मौसम गुब्बारा देखे जाने के 10 मिनट बाद ही 2 मिग 21 लांसआर जेट ने उसका पीछा किया, लेकिन तब तक वह गायब हो गया। यह गुब्बारा 11,000 मीटर की ऊंचाई पर उड़ रहा था। उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने गत 4 फरवरी को चीन के एक ऐसी ही संदिग्ध जासूसी गुब्बारे को मार गिराया था। इसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बीच राजनयिक विवाद पैदा हो गया था। अब रोमानिया में भी यही गतिविधि देखी गई है। 

30 मिनट तक रोमानिया के विमानों ने किया पीछा

रोमानिया के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि विमान के चालक दलों लक्ष्य के नहीं दिखने और रडार में इसकी पुष्टि नहीं हो पाने के बाद भी करीब 30 मिनट तक संदिग्ध वस्तु का पता लगाने में क्षेत्र में ही डटे रहे। मगर पुष्टि नहीं हो पाने पर वह बेस पर लौट आए। 

रोमानिया के बाद जापान ने भी किया संदिग्ध गुब्बारा होने का दावा
रोमानिया के विमानों के पीछा किए जाने के बाद संदिग्ध गुब्बारा विलुप्त हो गया। इसके बाद जापान के रक्षा मंत्रालय ने भी चीन के संदिग्ध गुब्बारे को अपने आसमान में देखे जाने का दावा किया है। जापान के रक्षा मंत्रालय को 'दृढ़ता से संदेह' है कि चीनी निगरानी गुब्बारे जापानी क्षेत्र में प्रवेश कर चुके हैं। कहा जा रहा है कि सर्फ़साइड बीच में तट से नीचे गिराए जाने के बाद संदिग्ध चीनी जासूसी गुब्बारा समुद्र में चला गया। 

जापान के रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि उसे "दृढ़ता से संदेह" है कि चीनी निगरानी गुब्बारे 2019 के बाद से कम से कम तीन बार जापानी क्षेत्र में प्रवेश कर चुके हैं। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 2019, 2020 और 2021 में ऐसे ही संदिग्ध गुब्बारों का पता चला था, जिसमें कहा गया था कि जापान ने चीन की सरकार से स्थिति के तथ्यों को सत्यापित करने और यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि ऐसा दोबारा न हो। इसके बावजूद चीन की हरकतों में कोई सुधार नहीं आया। 

यह भी पढ़ें...

मोदी ने बाइडन से की फोन पर बात, एयर इंडिया और बोइंग समझौते को मिला नया मुकाम

कभी भारत के खिलाफ आग उगलने वाले नेपाल के पूर्व पीएम केपी शर्मा ओली ने अब बताया प्रगाढ़ मित्र, जानें और क्या कहा?

 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement