ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. यूरोप
  5. ब्रिटेन में कोरोना के मामलों में गिरावट आई, यूरोप में रोजाना 30 प्रतिशत बढ़ रहे हैं नए केस

ब्रिटेन में कोरोना के मामलों में अचानक गिरावट, यूरोप में रोजाना 30 प्रतिशत बढ़ रहे हैं नए केस

पिछले कुछ महीनों से ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन ओमिक्रॉन कहर बरपा रहा था। ब्रिटेन में नए कोरोना मामलों में करीब 55 प्रतिशत की गिरावट आई है। जबकि यूरोप की स्थिति इससे बिल्कुल उलट है।

Puneet Saini Written by: Puneet Saini
Updated on: January 13, 2022 13:37 IST
ब्रिटेन में कम हो रहे हैं कोरोना के मामले- India TV Hindi
Image Source : PTI ब्रिटेन में कम हो रहे हैं कोरोना के मामले

Highlights

  • ब्रिटेन में भी कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की गई
  • ब्रिटेन में नए कोरोना मामलों में करीब 55 प्रतिशत की गिरावट आई
  • कुछ महीनों से ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन ओमिक्रॉन कहर बरपा रहा था

साउथ अफ्रीका के बाद ब्रिटेन में भी कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की गई है। ब्रिटेन में नए कोरोना मामलों में करीब 55 प्रतिशत की गिरावट आई है। जबकि यूरोप की स्थिति इससे बिल्कुल उलट है। पिछले कुछ महीनों से ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन ओमिक्रॉन कहर बरपा रहा था। यही वजह थी कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने लंदन समेत कई पाबंदियां लगा दी थीं, लेकिन अब मामलों में गिरावट के साथ ब्रिटेन के नागरिकों को थोड़ी राहत मिली है। 

ब्रिटेन में 4 जनवरी को कोरोना के 2 लाख 18 हजार नए मामले सामने आए थे। जबकि करीब 8 दिन बाद 12 जनवरी को सिर्फ 1 लाख 29 हजार ही नए मामलों की पुष्टि हुई है। ब्रिटेन की 315 में से 95 काउंसिल में कोरोना के नए मामलों में गिरावट दर्ज की गई है। लंदन में भी ऐसा ही हो रहा है जब मामले लगातार कम हो रहे हैं। दूसरी तरफ यूरोप में कोरोना का कहर अभी भी जारी है। यूरोप में करीब 30 फीसदी ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। रूस, यूनान समेत पांच देशों को छोड़ दें तो अन्य देशों में कोरोना के केस में बढ़ोतरी जारी है।

इटली में कोरोना के मामले बढ़ने की दर 47 प्रतिशत है। जबकि पुर्तगाल में 48, फ्रांस में 54, जर्मनी में 60, हॉलैंड में 75, बेल्जियम में 91, ऑस्ट्रिया में 161, रोमानिया में 224 और सर्बिया में 258 प्रतिशत की दर से रोज़ाना मामले बढ़ रहे हैं। कोरोना पर काबू पाने के लिए यूरोप के देश लगातार नए कदम भी उठा रहे हैं। ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने इस पर कहा था कि ये बिल्कुल साउथ अफ्रीका की तरह लगता है जहां पहले मामले तेजी से बढ़े थे, लेकिन बाद में अचानक गिरावट भी देखी गई थी। 

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने मई 2020 में देश में कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान अपने डाउनिंग हाउस आवास के गार्डन में पार्टी की खबरों को लेकर बढ़ती नाराजगी के बीच बुधवार को हाउस ऑफ कॉमन्स में माफी मांगी थी। प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट के गार्डन में आयोजित पार्टी के लिए ईमेल से भेजे गए निमंत्रण-पत्र के मीडिया में आने के बाद से जॉनसन पर विपक्षी लेबर पार्टी के साथ ही उनकी अपनी कंजर्वेटिव पार्टी के सदस्यों की ओर से भी अत्यंत दबाव है।

उन्होंने इस मामले में खेद जताते हुए पहली बार माना कि वह पार्टी में शामिल हुए थे। जॉनसन ने कहा कि उन्हें लगता था कि यह आयोजन उनके कामकाज से संबंधित आयोजनों के दायरे में है। प्रधानमंत्री के साप्ताहिक प्रश्न सत्र से पहले संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमन्स में अपने बयान में जॉनसन ने कहा, ‘मैं माफी मांगना चाहता हूं। मुझे पता है कि इस देश में लाखों लोगों ने पिछले 18 महीने में असाधारण कुर्बानियां दी हैं।’ 

elections-2022