1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. क्राइम
  4. टिकैत गुट के किसान नेता के बेटे को लड्डू खिलाकर की अपहरण की कोशिश, मामला दर्ज

टिकैत गुट के किसान नेता के बेटे को लड्डू खिलाकर की अपहरण की कोशिश, मामला दर्ज

उत्तर प्रदेश के नोएडा में थाना दनकौर क्षेत्र से अज्ञात बदमाशों ने भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के जिलाध्यक्ष के नाबालिग बेटे को कथित रूप से अगवा करने का प्रयास किया। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 17, 2021 23:36 IST
Boy kidnapping attempt, Boy kidnapping attempt Tikait, BKU Tikait leader- India TV Hindi
Image Source : PTI REPRESENTATIONAL एक गांव के पास लोगों ने लड़के को बेहोशी की हालत मे देखा तथा उसे लेकर कसाना के घर पहुंचे।

नोएडा: उत्तर प्रदेश के नोएडा में थाना दनकौर क्षेत्र से अज्ञात बदमाशों ने भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के जिलाध्यक्ष के नाबालिग बेटे को कथित रूप से अगवा करने का प्रयास किया। घटना के बारे में जानकारी देते हुए थाना दनकौर के प्रभारी निरीक्षक अनिल पांडे ने बताया कि भारतीय किसान यूनियन (टिकैत समूह) के जिला अध्यक्ष अनित कसाना का 16 वर्षीय बेटा बुधवार दोपहर को क्रिकेट खेल रहा था। उन्होंने बताया कि जब वह क्रिकेट मैदान से बाहर निकला तो एक व्यक्ति ने उसे प्रसाद के रूप में लड्डू खाने को दिया।

लड्डू खाने के बाद बेहोश हो गया था लड़का

प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि लड्डू खाने के बाद कसाना का बेटा बेहोश हो गया। पांडे ने बताया कि एक गांव के पास लोगों ने लड़के को बेहोशी की हालत मे देखा तथा उसे लेकर कसाना के घर पहुंचे। थाना प्रभारी ने बताया कि अनित कसाना की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस बीच दिल्ली से नोएडा आने जाने वाले यात्रियों की परेशानी फिर से बढ़ सकती है। किसान नेता राकेश टिकैत ने दावा किया है कि दिल्ली के अन्य बॉर्डरों की तरह फिर से दिल्ली-नोएडा बॉर्डर को ब्लॉक किया जाएगा।

दिल्ली-नोएडा बॉर्डर फिर से बंद करेंगे किसान?
भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का कहना है कि किसान संघर्ष समिति ने अभी तक वह तारीख तय नहीं की है जिस तारीख पर दिल्ली-नोएडा बॉर्डर को ब्लॉक किया जाएगा। गौरतलब है कि किसान आंदोलन के समर्थन में भारतीय किसान यूनियन (भानू) के कार्यकर्ताओं ने पहले दिल्ली-नोएडा बॉर्डर को ब्लॉक किया हुआ था। लेकिन 26 जनवरी के दिन लाल किले पर हिंसा के बाद भारतीय किसान यूनियन (भानू) ने किसान आंदोलन से अपना समर्थन वापस ले लिया है और दिल्ली नोएडा बॉर्डर से उठने की घोषणा कर दी थी। तभी से दिल्ली नोएडा बॉर्डर पर यात्री सामान्य आवाजाही कर रहे हैं।

Click Mania