1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सितंबर से शुरू हो सकते हैं COVAXIN के दूसरे चरण के ट्रायल, पहले फेज में मिले बेहतर परिणाम

सितंबर से शुरू हो सकते हैं COVAXIN के दूसरे चरण के ट्रायल, पहले फेज में मिले बेहतर परिणाम

कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहे लोगों के लिए अच्छी खबर है। देश में स्वदेशी रूप से विकसित की जा रही कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन के दूसरे चरण के ट्रायल अगले महीने यानि सितंबर से शुरू होने जा रहे हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: August 15, 2020 18:02 IST
Corona Vaccine- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Corona Vaccine

कोरोना वायरस के संकट से जूझ रहे लोगों के लिए अच्छी खबर है। देश में स्वदेशी रूप से विकसित की जा रही कोरोना की वैक्सीन COVAXIN के दूसरे चरण के ट्रायल अगले महीने यानि सितंबर से शुरू होने जा रहे हैं। बता दें कि भारत बायोटेक और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानि आईसीएमआर द्वारा देश में पांच से भी अधिक जगहों पर COVAXIN के लिए पहले चरण के ट्रायल किए गए। प्राप्त सूचना के अनुसार फेज 2 क्लीनिकल टेस्ट के लिए, गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (GMCH) में सितंबर से शुरू हो सकते हैं। 

असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने शुक्रवार को कहा कि जीएमसीएच COVAXIN के फेज 2 ट्रायल के लिए केंद्रों में से एक है। मंत्री ने यह भी कहा कि असम कोरोनावायरस के लिए एक प्रभावी टीका के निर्माण में सक्रिय भूमिका निभा सकता है, जिसने पूरे भारत में 2.5 मिलियन से अधिक लोगों को संक्रमित किया है।

“कोवैक्सिन का फेज 1 क्लीनिकल ट्रायल सफलतापूर्वक पूरा हो गया है। सरमा ने कहा कि मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि भारत बायोटेक और आईसीएमआर ने वैक्सीन के फेज 2 क्लिनिकल परीक्षण के लिए एक केंद्र के रूप में जीएमसीएच बनाने की औपचारिकता शुरू की है।

COVAXIN के लिए फेज 2 के परीक्षण सितंबर के महीने में किए जाने की उम्मीद है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "फिलहाल इस पर काम चल रहा है और इस बात की 99 प्रतिशत संभावना है कि जीएमसीएच फेज 2 के परीक्षण में भाग लेगा और यदि ऐसा होता है, तो टीका के उत्पादन में असम की भी भूमिका होगी।" भाजपा द्वारा शुक्रवार को असम राज्य में विशेष प्लाज्मा दान अभियान का आयोजन किया गया।

वैक्सीन के निर्माण की प्रक्रिया को दुनिया भर में कोशिशें की जा रही हैं, जिसमें कई देश अपने स्वयं के उम्मीदवार के साथ आ रहे हैं। रूस पहला देश है जिसने पहले से ही एक प्रभावी कोरोनावायरस वैक्सीन स्पुतनिक को पंजीकृत किया है।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X